• Home
  • Bihar
  • Patna
  • Patna - पटना कॉलेज के हॉस्टलों केे आवंटन की तिथि तय नहीं
--Advertisement--

पटना कॉलेज के हॉस्टलों केे आवंटन की तिथि तय नहीं

पटना कॉलेज के दो हॉस्टलों, मिंटो और जैक्सन पिछले पांच साल से बंद हैं। यहां बिहार की बड़ी विभूतियों ने अपना कॉलेज...

Danik Bhaskar | Sep 11, 2018, 04:41 AM IST
पटना कॉलेज के दो हॉस्टलों, मिंटो और जैक्सन पिछले पांच साल से बंद हैं। यहां बिहार की बड़ी विभूतियों ने अपना कॉलेज जीवन बिताया है। मिंटो हॉस्टल में राज्य के पहले मुख्यमंत्री श्रीकृष्ण सिंह रह चुके हैं तो कई दूसरे राजनेताओं, अधिकारियों और दूसरे उच्च पदों पर बैठे लोगों के कॉलेज जीवन के गवाह इन हॉस्टलों के कमरे रहे हैं। यहां रेनोवेशन का काम होने के कारण पिछले कुछ वर्षों में इसे छात्रों से दूर रखा गया था। लगभग 4.80 करोड़ रुपए खर्च के बाद अब इस हॉस्टल को दोबारा छात्रों के लिए खोलने की कवायद शुरू हुई। लेकिन आवंटन कब से हो पाएगा, यह अब तक तय नहीं है। रेनोवेशन के बाद अबतक इन दोनों हॉस्टलों का असेसमेंट नहीं हुआ है। हालांकि कॉलेज प्रशासन ने अपनी ओर से आवंटन प्रक्रिया को आगे बढ़ाया है। छात्रों से आवेदन लिए जा रहे हैं। साथ ही कॉलेज प्रशासन ने बिहार एजुकेशन इंफ्रास्ट्रक्चर कॉरपोरेशन लिमिटेड हॉस्टल को हैंडओवर करने के लिए पत्र लिखा गया है।

रेनोवेशन के कारण कुछ वर्षों से बंद थे हॉस्टल

हैंडओवर के बाद होगा असेसमेंट

हॉस्टल आवंटन की प्रक्रिया शुरू होने से पहले कॉलेज प्रशासन पूरे हॉस्टल का असेसमेंट करेगा। मिंटो और जैक्सन में रेनोवेशन के समय तय हुआ था कि 108 प्वाइंट पर दो हेरिटेज हॉस्टलों की मरम्मत होगी। अब इन सभी प्वाइंट पर काम हुआ है या नहीं, यह बताने के लिए कोई तैयार नहीं है। इस संबंध में हॉस्टल के वार्डन प्रो. रणधीर कुमार सिंह ने बताया कि हॉस्टलों के आवंटन से पहले हम पूरी सतर्कता रखना चाहते हैं, क्योंकि यहां पूर्व में कई घटनाएं हो चुकी हैं। इसलिए हॉस्टलों का आवंटन तभी होगा जब ये रहने लायक होंगे, तैयार होंगे।