अारएमअारअाई में दवाअों के टेस्ट के लिए फेज वन ट्रायल की सुविधा, रिसर्च में अाएगी तेजी

Patna News - अगमकुआं स्थित राजेंद्र स्मारक चिकित्सा विज्ञान अनुसंधान संस्थान का 56वां स्थापना दिवस समारोह एवं देशर| डाॅ....

Dec 04, 2019, 08:40 AM IST
Patna News - phase 1 trial facility for drug testing in armaarai will accelerate research
अगमकुआं स्थित राजेंद्र स्मारक चिकित्सा विज्ञान अनुसंधान संस्थान का 56वां स्थापना दिवस समारोह एवं देशर| डाॅ. राजेंद्र प्रसाद का 135वां जयंती समारोह संस्थान परिसर में मनाया गया। इस माैके पर संस्थान के निदेशक डाॅ. प्रदीप दास ने कहा कि इस संस्थान को दवाअाें के टेस्ट के लिए फेज वन ट्रायल की सुविधा मिली है। इससे शोध में और तेजी आएगी। यह संस्थान के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है। किसी भी ड्रग को मार्केट में लाने से पहले सेफ्टी व डोजेज को लेकर उसका ट्रायल होता है। चार फेज में इसका ट्रायल होता है। इस संस्थान की लैब को एनएबीएल की मान्यता पहले ही मिल चुकी है। साथ ही एथिकल कमेटी को एनएबीएच अर्थात नेशनल एक्रीडेशन बोर्ड फॉर हॉस्पिटल एंड हेल्थ केयर से पहले ही मान्यता मिल चुकी है। इसे बरकरार रखने की जरूरत है। कालाजार पर शोध के क्षेत्र में अारएमअारअाई की अलग पहचान बन चुकी है।

मुख्य अतिथि पूर्व सचिव स्वास्थ्य अनुसंधान एवं पूर्व महानिदेशक आईसीएमआर, नई दिल्ली के डाॅ. वीएम कटोच ने कहा कि इस संस्थान में काफी प्रोजेक्ट हैं। क्लिनिकल सेफ्टी, क्लिनिकल ट्रायल, पैथोलॉजिकल, वाटर बॉर्न डिजीज के अलावे टीबी पर भी संस्थान ने काम किया है। सम्राट अशोक ट्राॅपिकल डिजिज रिसर्च सेंटर वर्ल्ड स्टैंडर्ड से कम नहीं है। उन्होंने कहा कि अब ऐसे ट्रॉपिकल डिजीज पर काम करने की जरूरत है जिस पर काम नहीं हो रहा है। पूर्व डीन, एम्स नई दिल्ली के डाॅ. एनके मेहरा ने संस्थान की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला। विशिष्ट अतिथि डाॅ. गोपाल प्रसाद सिन्हा ने कहा कि डाॅ. राजेंद्र प्रसाद मेधावी थे। उनकी बातों में विनम्रता झलकती थी। उन्होंने कहा कि कालाजार पर रिसर्च के क्षेत्र में अारएमअारअाई ने विशेष उपलब्धियां हासिल की हैं। डाॅ. जेके सिंह ने कहा कि रिसर्च के क्षेत्र में इस संस्थान का बड़ा योगदान रहा है। इससे पहले अतिथियों ने डाॅ. राजेंद्र प्रसाद की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। डाॅ. मेहरा ने डाॅ. राजेंद्र प्रसाद ओरेशन व्याख्यान दिया। उन्होंने डायबिटीज पर प्रकाश डाला। डाॅ. वीएम कटोच ने डाॅ. मेहरा को डाॅ. राजेंद्र प्रसाद ओरेशन अवार्ड देकर सम्मानित किया।

आरएमआरआई में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते डॉ. गोपाल प्रसाद।

राज्यपाल व मुख्यमंत्री ने देशर| डॉ. राजेंद्र प्रसाद को किया नमन

पटना | देशर| डॉ. राजेंद्र प्रसाद की 135वीं जयंती पर राजेंद्र चौक स्थित उनके प्रतिमास्थल पर मंगलवार को राजकीय समारोह हुआ। राज्यपाल फागू चौहान एवं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने डॉ. राजेंद्र प्रसाद के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया। राज्यपाल तथा मुख्यमंत्री ने चरखा काट रही महिला चरखा समिति की महिलाओं को साड़ियां दीं, उनको प्रोत्साहित किया। इसके बाद राज्यपाल व मुख्यमंत्री राजेंद्र घाट पहुंचे, यहां डॉ. प्रसाद के समाधिस्थल पर पुष्पचक्र अर्पित किया। मुख्यमंत्री ने विजिटर बुक में लिखा- ‘देशर| श्रद्धेय राजेंद्र बाबू के चरणों में श्रद्धा सुमन अर्पित करता हूं।’ उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी, शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा, विधायक अरूण कुमार सिन्हा, विधान पार्षद संजय कुमार सिंह आदि मौजूद रहे। सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के कलाकारों ने आरती पूजन एवं गीत प्रस्तुत किया।

राजेंद्र बाबू ने रखी थी अाधुनिक भारत की नींव

पटना |अखिल भारतीय कायस्थ महासभा युवा संभाग ने मंगलवार काे डाॅ. राजेंद्र प्रसाद की जयंती नागेश्वर कॉलोनी में मनाई। अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष अनिमेश आनंद एवं संचालन महासचिव विकेश आर्यन ने किया। जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने स्व. डाॅ. राजेंद्र प्रसाद की तस्वीर पर माल्यार्पण किया। उन्हाेंने कहा कि राजेंद्र बाबू ने स्वाधीनता संग्राम की अगुवाई के साथ आधुनिक भारत के निर्माण की नींव भी रखी। समाराेह में शालिनी कर्ण, अपूर्व श्रीवास्तव, विक्की सिन्हा, अभिषेक शंकर, अमित सिन्हा, गौरव सिन्हा, मधु श्रीवास्तव आदि ने विचार रखे।

उधर, टीके घोष एकेडमी में डॉ. राजेंद्र प्रसाद की जंयती मनाई गई। इस मौके पर पटना हाईकोर्ट के न्यायाधीश संजय कुमार ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की। इस मौके पर प्राचार्य सरोज प्रकाश, परमानंद चौधरी माैजूद थे।

राजेंद्र चौक स्थित प्रतिमा स्थल पर डॉ. राजेंद्र प्रसाद के चित्र पर माल्यार्पण करते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार। साथ में हैं राज्यपाल फागू चौहान।

विद्वता-सादगी के प्रतीक थे डॉ. राजेंद्र प्रसाद

पटना| डॉ. राजेंद्र प्रसाद सादगी और विद्वता के प्रतीक थे। जिन्होंने देश की परतंत्रता को समाप्त करने के लिए वकालत के पेशे और घर परिवार को त्याग दिया था। ऐसी महान विभूति की जयंती को अधिवक्ता दिवस के रूप में मनाना वकालत के पेशे के लिए गौरव की बात है। पटना हाईकोर्ट के पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति मन्धाता सिंह ने ये बातें सिविल कोर्ट में राष्ट्रीय अधिवक्ता सेवा संघ के बैनर तले आयोजित समारोह में बतौर मुख्य अतिथि कही। समारोह को पटना के जिला जज रुद्र प्रकाश मिश्र, प्रधान न्यायाधीश कृष्ण पांडेय ने भी संबोधित किया। सभा का संचालन अनुमंडलीय अभियोजन पदाधिकारी डीके सिन्हा ने किया, जबकि अतिथियों का स्वागत बार काउंसलर जय प्रकाश सिंह ने किया। वक्ताओं में विनोद सिंह, एसके श्रीवास्तव, गजेंद्र प्रसाद, सुधीर कुमार सिन्हा आदि रहे।

Patna News - phase 1 trial facility for drug testing in armaarai will accelerate research
X
Patna News - phase 1 trial facility for drug testing in armaarai will accelerate research
Patna News - phase 1 trial facility for drug testing in armaarai will accelerate research
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना