--Advertisement--

नेपाल में बारिश से बढ़ा कोसी में उफान, बिहार के एक दर्जन गांवों में घुसा पानी

संकट में लोग: बराज से 1.40 लाख क्यूसेक पानी डिस्चार्ज, बराह क्षेत्र में घटा डिस्चार्ज

Dainik Bhaskar

Jul 11, 2018, 12:54 AM IST
बाराज से काफी तेज गति से निकलत बाराज से काफी तेज गति से निकलत

वीरपुर (बिहार). लगातार तीन दिन से नेपाल प्रभाग के पहाड़ी हिस्सों तथा मैदानी क्षेत्रों में हुई बारिश के कारण एक बार फिर कोसी का जलस्तर बढ़ गया है। मंगलवार को कोसी नदी के जलस्तर दोपहर 04 बजे एक लाख 41 हजार 305 क्यूसेक बढ़ते क्रम में दर्ज किया गया। जलस्तर में बढ़ोतरी मंगलवार की सुबह से ही जारी है। हालांकि राहत की बात यह है कि बीते आठ घंटे से पहाड़ी क्षेत्र में बारिस रुकी हुई है और बराहक्षेत्र में डिस्चार्ज अब घटने लगा है।

कोसी बराज के 23 फाटक खोले गए: इस कारण मरौना, निर्मली, सरायगढ़, किसनपुर और सुपौल के एक दर्जन गांव में पानी घुस गया है। लोग ऊंचे स्थानों की तलाश में लगे हैं। मवेशी के चारे का संकट होने लगा है। मंगलवार की सुबह 06 बजे कोसी नदी के कोसी बराज कंट्रोल पर जलस्तर 01 लाख 40 हजार 310 क्यूसेक बढ़ते क्रम में दर्ज किया गया। वही इसी समय बराहक्षेत्र में डिस्चार्ज 01 लाख 01 हजार 750 क्यूसेक बढ़ते क्रम में दर्ज किया गया है। पूर्वी मुख्य नहर में तीन हजार और पश्चिमी मुख्य नहर में दो हजार क्यूसेक पानी सिंचाई के लिए छोड़ा जा रहा था। दोपहर 12 बजे जलस्तर 01 लाख 39 हजार 365 क्यूसेक बढ़ते क्रम में दर्ज किया गया।

इन गांवों में घुसा पानी: इससे आठ दिन पूर्व भी कोसी बराज के जलस्तर में काफी बढ़ोतरी हुई थी और जलस्तर एक लाख 55 हजार क्यूसेक को पार कर गया था।तटबंध के भीतरी भाग में बढ़े जलस्तर से निर्मली, मरौना, बसंतपुर, वीरपुर, सुपौल, किसनपुर अंचल क्षेत्र के दर्जनो गांव यथा एकडारा, सोनबरसा, बेंगाटोल, अरराहा, पिरगंज, मोमिनटोला, ठाढ़ि धत्ता, मुरकुचिया, झकराहि, ढोली, परसाही, सिमराहा, सिसवा, डगमारा, कुनोली, कमलपुर, हरीयाही, घोघररीया, सिसोनी, पंचगछिया, सुकमारपुर, खूखनाहा, परसामाधो, मौजहा, जोबहा, घूरन, बलवा, मुंगरर, बेरीया, सितुहर, समेंत दर्जनों गांव में कोसी का पानी आ गया है।

स्पर अभी सुरक्षित: इस बाबत जल संसाधन बाढ़ एवं निस्सरण के मुख्य अभियंता प्रकाश दास मुख्य अभियंता इस बात की जानकारी दी है कि कोसी नदी के पूर्वी तटबंध पर सभी स्पर सुरक्षित हैं, कहीं भी किसी प्रकार का दबाव नहीं है। कोसी बराज कंट्रोल रूम के सहायक अभियंता लाला प्रसाद ने बताया कि इस साल का यह डिस्चार्ज सबसे अधिक डिस्चार्ज है। बरसात के दौरान कोसी बराज के जलस्तर का उतार चढ़ाव लगातार जारी रहेगा। पिछले दो तीन दिनों से नेपाल में लगातार हो रही बारिश की वजह से कोसी बराज का जलस्तर में वृद्धि होना एक स्वाभाविक सी बात है।

करेह नदी का पानी बढ़ा, सड़कों पर बहने लगा बाढ़ का पानी

हसनपुर (बिहार). मंगलवार की दोपहर एक घंटे तक हुए मूसलाधार बारिश से करेह नदी के जलस्तर में उफान आ गया है। इससे जलस्तर में बढ़ोतरी हुआ है। जलस्तर में बढ़ोतरी होने से सूखी हुई सड़कों पर भी नदी का एक फीट पानी बहने लगा है। ऐसे तो बिथान प्रखंड के सलहा से नरपा तक मुख्य सड़क के अलावे सलहा से चिरोटना, सलहा से लाद कपस्या तथा सलहा बुजुर्ग से सलहा चंदन तक जाने वाली सड़क पर करेह नदी का पानी पिछले तीन दिनों से बह रहा है। मंगलवार को हुई बारिश के बाद सलहा से चिरोटना तक जाने वाली मुख्य सड़क पर भी नदी का पानी बहने लगा है। पिछले दो दिनों नदी के जलस्तर में आंशिक रुप से कमी आई थी।

X
बाराज से काफी तेज गति से निकलतबाराज से काफी तेज गति से निकलत
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..