राजनीति / सवर्णों के आरक्षण का विरोध राजद को महंगा पड़ेगा: पासवान



Ram vilas paswan say RJD reservation resistance be costly to RJD
X
Ram vilas paswan say RJD reservation resistance be costly to RJD

  • लालू के जमाने से राजद कहता आया है कि भूरा बाल साफ करो

Dainik Bhaskar

Jan 11, 2019, 04:34 PM IST

पटना। लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि सवर्णों के आरक्षण का विरोध राजद को महंगा पड़ेगा। शुक्रवार को पटना में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में पासवान ने कहा कि सवर्ण आरक्षण को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने ऐतिहासिक फैसला लिया है। इसका विरोध लालू प्रसाद की पार्टी राजद का जड़ से सफाया कर देगा। लालू के जमाने से राजद कहता आया है कि भूरा बाल साफ करो। इस मानसिकता से राजद अब तक अलग नहीं हुआ है।

 

पासवान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों के हित में एक और बड़ा कदम उठाया। इससे सवर्ण समाज का विकास होगा। लोजपा वर्ष 2003 से ही सवर्ण समाज के लिए आरक्षण की मांग करती आई है। हमारी वह मांग अब पूरी हुई। राजद आगामी लोकसभा चुनाव में एक भी सीट नहीं जीत पाएगी। 

आरक्षण विधेयक का लगातार विरोध करने से बिहार में महागठबंधन विभाजित हो सकता है। भाजपा की अगुवाई वाली एनडीए को इसका फायदा पहुंचेगा। समाज में सद्भाव की भावना मजबूत होगी। केंद्र सरकार ने सभी कानूनी पहलुओं को ध्यान में रख कर निर्णय लिया है। इससे किसी भी वर्ग का हिस्सा नहीं छीना जा रहा है। और जब किसी का हक नहीं छीना जा रहा है तो विरोध क्यों किया जा रहा है?

 

पासवान ने कहा कि इस बड़े राजनीतिक कदम के मामले में विपक्षी दल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से ईर्ष्या कर रहे हैं। उन्हें पता नहीं है कि कैसे प्रतिक्रिया दें? यह ठीक ऐसा ही मामला है जैसे किसी मछुआरे की जाल में एक बड़ी मछली आ गई जिसकी वजह से अन्य मछुआरों में ईर्ष्या का भाव पैदा हो गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जो बोलते हैं, उसे जरूर पूरा करते हैं। राजद के नेता रघुवंश प्रसाद सिंह और जगदानंद सिंह सवर्ण समुदाय से आते हैं और उनके लिए वोट मांगना भी कठिन होगा। संवैधानिक संशोधन विधेयक संसद में पारित हो चुका है और लगभग सभी राजनीतिक दलों ने उसका समर्थन किया है। जिन लोगों ने सवर्ण आरक्षण विधेयक का विरोध किया है, उन्हें चुनाव में जीरो पर आउट होना होगा।

COMMENT