बिहार / बाढ़ से बचाने को रेल-रोड पुल के पास नदियों की होगी निगरानी



Rivers will be monitored near the rail-road bridge for protection from flood
X
Rivers will be monitored near the rail-road bridge for protection from flood

  • 18 संवेदनशील स्थानों की हुई पहचान, यहां 24 घंटे जलस्तर की होगी मानिटरिंग

Dainik Bhaskar

Aug 03, 2019, 07:05 PM IST

पटना. रेल ब्रिज और सड़क पुलों के नजदीक नदियों पर नजर रखी जाएगी। इस वर्ष सबसे अधिक इन्हीं स्थानों पर नदियों ने तबाही मचायी है। इसके कारण न केवल बड़ी क्षति हुई है बल्कि यातायात की भी बड़ी समस्या उत्पन्न हो गयी है। प्रदेश में बड़ी संख्या में रोड व रेल ब्रिज के पास कटाव हुआ है। यही नहीं स्थानीय लोगों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ा है। इसीलिए जल संसाधन विभाग ने इस साल से महत्वपूर्ण रेल व रोड ब्रिज के पास नदियों के जलस्तर और उसके जलस्राव पर नजर रखने की योजना बनायी है। यहां स्थायी गेज स्थापित होंगे और रोजाना नदियों के जलस्तर की मॉनिटरिंग की जाएगी।

 

बड़ी-छोटी नदियों में 18 संवेदनशील स्थानों की पहचान की गयी है। इनमें सोन-कोसी-कमला-बूढ़ी गंडक से लेकर घोघा-चंदन-काव-पंचाने नदियों पर बने पुल शामिल हैं। निगरानी के अभाव में हर साल बड़ी संख्या में पुलों के पास होती है भारी क्षति होती है। बाढ़ अवधि में इन स्थानों की मानिटरिंग रोजाना होने से नदियों के जलस्तर में अप्रत्याशित बढ़ोतरी की जानकारी तत्काल उपलब्ध हो जाएगी और कटाव होने या रिसाव होने की स्थिति में उसकी समय पर मरम्मत हो सकेगी।


इन स्थानों पर नदियों की निगरानी:

नदी    स्थान

बूढ़ी गंडक-   समस्तीपुर व रोसड़ा रेल ब्रिज

कमला बलान-    झंझारपुर रेल व रसियारी पुल

तीसभंवरा-    तीसभंवरा पुल

फरियानी-    कुसहा पुल

घोघा-   घोघा कहलगांव रोड क्रासिंग

चंदन-    बांका रेल क्रासिंग

सोन-   अरवल-सहार पुल

दुर्गावती-    दुर्गावती रेल क्रासिंग

काव-    विक्रमगंज रेल क्रासिंग

पंचाने-    राजगीर-बिहारशरीफ रोड क्रासिंग


इनमें ये भी जुड़ेंगे-

बागमती- ढेंग रोड ब्रिज

कमला- कोथास रोड ब्रिज

कोसी-घोघेपर रोड ब्रिज

गंडक- डुमरिया रोड ब्रिज

घाघरा- मांझी रोड ब्रिज

बूढ़ी गंडक- समस्तीपुर रोड ब्रिड

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना