मॉब लिंचिंग की बढ़ती घटना के विरोध में राजद का हंगामा, सीबीआई से केस की जांच कराने की मांग

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी बोलीं-सरकार मॉब लिंचिंग जैसी घटनाओं को रोकने में नाकाम
  • उप मुख्यमंत्री के बयान पर कहा-\'घबराहट में है भाजपा, सुशील मोदी भी बेचैन\'

पटना. बिहार विधानमंडल के मानसून सत्र के दौरान राजद विधायकों ने बिहार में मॉब लिंचिंग की बढ़ती घटना के विरोध में सदन के बाहर हंगामा किया। राजद नेताओं ने मॉब लिंचिंग केस की जांच सीबीआई से कराने की मांग की। साथ ही, बिहार में संघ को बैन करने की भी मांग नीतीश सरकार से की।

 

 

पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने कहा कि सरकार ऐसी घटनाओं को रोकने में नाकाम साबित हो रही है। इस तरह का मामला सामने आते ही सरकार को तुरंत एक्शन लेना चाहिए। सरकार मॉब लिंचिंग जैसी घटनाओं को रोकने के लिए कड़ा कानून बनाए। इस तरह की घटना में गरीब और दलित लोगों की ही जान जाती है।

 

बता दें कि बीते शुक्रवार को छपरा में मवेशी चोरी करने आए 3 युवकों की भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। हाजीपुर में भी बैंक लूटने आए दो अपराधियों को भीड़ ने पकड़ लिया था और उसकी जमकर पिटाई कर दी थी।

 

\'घबराहट में है भाजपा, सुशील मोदी भी बेचैन\'
नीतीश के नेतृत्व में बिहार विधानसभा का चुनाव लड़ने को लेकर सुशील मोदी के बयान पर राबड़ी ने कहा कि भाजपा घबराहट में है। नीतीश अब्दुल बारी सिद्दीकी के घर चाय क्या पीने चले गए, सुशील मोदी की तो बेचैनी बढ़ गई। इसी वजह से सुशील मोदी को तुरंत घोषणा करनी पड़ी कि नीतीश के नेतृत्व में चुनाव लड़ेंगे।