--Advertisement--

पटना / साइबर क्राइम व सोशल मीडिया यूनिट के लिए खरीदी जा रहीं 6.29 करोड़ रु की गाड़ियां



Rs 6.29 crore vehicles being purchased
X
Rs 6.29 crore vehicles being purchased

  • पहले चरण में 40 जिलों में सीसीएसएमयू गठित, द्वितीय चरण में 34 यूनिटों का हो रहा गठन
  • हर यूनिट में तकनीकी एक्सपर्ट होंगे, 74 प्रोग्रामर के साथ ही 222 डाटा सहायक की बहाली होगी
  • 3.46 करोड़ रुपए कुर्सी, टेबल, लमारी और अन्य संसाधनों की खरीद पर किए जाएंगे खर्च

Dainik Bhaskar

Nov 09, 2018, 03:02 AM IST

पटना. साइबर क्राइम व सोशल मीडिया यूनिट (सीसीएसएमयू) के लिए 6.29 करोड़ की गाड़ियां खरीदी जा रही हैं। इसके लिए आवश्यक धनराशि राज्य सरकार ने पहले ही उपलब्ध करा दिया है। इससे पुलिस को काम करने में अासानी होगी। इस बीच द्वितीय चरण में 34 सीसीएसएमयू के गठन की प्रक्रिया जारी है। राज्य के सभी जिलों में कुल 74 यूनिटों का गठन होना है। इनमें 40 यूनिट का गठन किया जा चुका है।

 

हर यूनिट (सीसीएसएमयू) में तकनीकी एक्सपर्ट की तैनाती रहेगी। इसके लिए 74 प्रोग्रामर के साथ ही 222 डाटा सहायक की बहाली होगी। ईओयू के एडीजी जितेंद्र सिंह गंगवार के मुताबिक आरंभ में कांट्रेक्ट पर प्रोग्रामर या डाटा सहायक को रखा जाएगा। बाद में उन पदों पर स्थायी बहाली की जाएगी। सभी 74 यूनिटों के लिए राज्य सरकार ने 740 पदों से सृजन की स्वीकृति दे दी है।

 

इसके तहत 74 इंस्पेक्टर व 222 एसआई व सिपाही के 148 पद भी शामिल हैं। हर यूनिट का प्रभारी इंस्पेक्टर स्तर के अफसर होंगे। साइबर क्राइम के अनुसंधान में दक्षता बढ़ाने के लिए आर्थिक अपराध इकाई द्वारा पहले से ही राज्य के पुलिस अफसरों को ट्रेनिंग दी जा रही है। इस कड़ी में अब तक 142 थानेदारों को ट्रेंड किया जा चुका है।

 

कार्यालय से जुड़े सामान की खरीद के लिए 95.46 करोड़ : तमाम यूनिटों में आधारभूत संरचनाओं कुर्सी, टेबुल, आलमीरा आदि के लिए आवश्यक प्रबंध किए जा रहे हैं। इसके लिए 3.46 करोड़ रुपए का आवंटन किया जा चुका है। साथ ही सभी सीसीएसएमयू के संचालन में कार्यालय के उपयोग से जुड़े सामान की खरीद के लिए सरकार ने 95.46 लाख रुपए आवंटित किए हैं।
 

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..