• Hindi News
  • Bihar
  • Patna
  • Samp capacity will be increased, additional drains will be constructed water logging patna

समीक्षा / बढ़ाई जाएगी संप की क्षमता, अतिरिक्त नालों का होगा निर्माण, मौजूदा नालों की होगी उड़ाही



जलजमाव पर समीक्षा के लिए पार्षदों और नगर निगम के अधिकारियों के साथ बैठक करते प्रधान सचिव। जलजमाव पर समीक्षा के लिए पार्षदों और नगर निगम के अधिकारियों के साथ बैठक करते प्रधान सचिव।
X
जलजमाव पर समीक्षा के लिए पार्षदों और नगर निगम के अधिकारियों के साथ बैठक करते प्रधान सचिव।जलजमाव पर समीक्षा के लिए पार्षदों और नगर निगम के अधिकारियों के साथ बैठक करते प्रधान सचिव।

  • पार्षदों ने जलजमाव के लिए सरकारी तंत्र को बताया जिम्मेदार, गिनाएं पांच मुख्य कारण
  • भविष्य में नगर में स्थित संपो की क्षमता में व्यापक बढ़ोतरी की जाएगी

Dainik Bhaskar

Oct 10, 2019, 11:14 AM IST

पटना. पटना में जलजमाव का ठीकरा सरकारी सिस्टम पर फोड़ते हुए पटना नगर निगम के वार्ड पार्षदों ने नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव को स्पष्ट बता दिया कि राजेंद्रनगर, कंकड़बाग, राजीव नगर और शास्त्री नगर समेत अन्य मुहल्लों में जलजमाव का मुख्य कारण संप का पूरी क्षमता के साथ न चलना, नालों की उड़ाई में बरती गई लापरवाही और नालों की कमी होना है। 

 

प्रधान सचिव ने सभी पार्षदों की समस्या सुनी और बैठक में उपस्थित बुडको एवं नगर निगम के अधिकारियों से पूछा कि विगत दिनों में किस-किस संप पर कितने मोटर कार्य कर रहे थे, बताएं। उन्होंने बुडको अधिकारियों निर्देश दिया कि वे नगर निगम एवं वार्ड पार्षदों के साथ मिलकर मौका मुआयना करें एवं तत्काल खराब मोटर को ठीक कराएं। 

 

उन्होंने कहा कि भविष्य में नगर में स्थित संपो की क्षमता में व्यापक बढ़ोतरी की जाएगी। अतिरिक्त नालों का निर्माण तथा मौजूदा नालों की उड़ाही करायी जाएगी। प्रधान सचिव की अध्यक्षता में पटना नगर निगम के सभी 75 वार्ड पार्षदों की बुधवार को हुई समीक्षा बैठक में मेयर सीता साहू, डिप्टी मेयर, नगर आयुक्त, पटना नगर निगम और नगर विकास एवं आवास विभाग एवं बुडको के शीर्ष अधिकारी उपस्थित थे।

 

वार्ड पार्षदों ने जलजमाव के लिए इन्हें बताया जिम्मेदार

  • संदलपुर संप में 90 एचपी के दो तथा 60 एचपी के दो मोटर हैं, पर इनमें से सिर्फ एक ही काम कर रहा था।
  • पानी घुसने के कारण रामपुर संप ने काम ही नहीं किया।
  • पाइप कई जगह से टूटी होने के कारण आउटलेट पाइप के द्वारा निकाले जाने वाला पानी फिर से वापस आने लगा।
  • मुख्य नाले-नालियों पर कब्जा होने के कारण उड़ाही ठीक से नहीं हो पाई, जिसके कारण संप हाउस तक पानी नहीं पहुंच पाया।
  • भारी बारिश के बाद नगर निगम द्वारा संप का मरम्मत कार्य तब शुरू कराया गया, जब जलजमाव के कारण शहर की स्थिति भयावह हो गई।

 

भविष्य के लिए सुझाव

  • मौजूदा संपो की क्षमता में वृद्धि हो, नए संप बनेे, मौजूदा नालों की वर्षभर उड़ाही हो, नए नालों का निर्माण हो, मौजूदा नालों का पक्कीकरण हो।
  • संप आदि का रखरखाव बुडको से लेकर फिर पटना नगर निगम को मिले।
  • सरकार मशीन व नालें तथा संप के मेंटेनेंस के लिए प्रतिनियुक्त इंजीनियरों के ट्रांस्फर का अधिकार पीएमसी को दे।

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना