बिहार / 11 साल बाद घर लौटे सतीश, बांग्लादेश के जेल में थे कैद



बांग्लादेश की जेल से आजाद होने के बाद बिहार पहुंचे सतीश चौधरी। बांग्लादेश की जेल से आजाद होने के बाद बिहार पहुंचे सतीश चौधरी।
छोटे भाई मुकेश चौधरी के साथ सतीश चौधरी। छोटे भाई मुकेश चौधरी के साथ सतीश चौधरी।
सतीश चौधरी की मां, पत्नी और बच्चे। सतीश चौधरी की मां, पत्नी और बच्चे।
X
बांग्लादेश की जेल से आजाद होने के बाद बिहार पहुंचे सतीश चौधरी।बांग्लादेश की जेल से आजाद होने के बाद बिहार पहुंचे सतीश चौधरी।
छोटे भाई मुकेश चौधरी के साथ सतीश चौधरी।छोटे भाई मुकेश चौधरी के साथ सतीश चौधरी।
सतीश चौधरी की मां, पत्नी और बच्चे।सतीश चौधरी की मां, पत्नी और बच्चे।

  • बांग्लादेश के बॉर्डर गार्ड्स ने सतीश को बीएसएफ के हवाले किया
  • मानसिक रूप से बीमार सतीश चौधरी 2008 में गायब हो गए थे

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2019, 04:59 PM IST

पटना. बांग्लादेश की जेल में 11 साल तक कैद रहने वाले सतीश गुरुवार को घर लौटे। बिहार के दरभंगा जिले के रहने वाले सतीश भटकते हुए बांग्लादेश चले गए थे और वहां की जेल में बंद थे।

 

बांग्लादेश के बॉर्डर गार्ड्स ने सतीश को किशनगंज स्थित दर्शना गेडे बार्डर पर बीएसएफ के हवाले किया। इसके बाद बीएसएफ ने सतीश का मेडिकल कराया। मेडिकल के बाद सतीश को दरभंगा भेजा गया। सतीश के लौटने पर उसके घर में खुशी का माहौल है।

 

2008 में मानसिक रूप से बीमार सतीश चौधरी इलाज के लिए पटना आए थे और फिर अचानक गायब हो गए थे। बाद में 2012 में जानकारी मिली की वह बांग्लादेश की जेल में बंद हैं। अपने भाई को छुड़ाने के लिए सतीश के छोटे भाई मुकेश चौधरी ने कई साल तक प्रयास किया। उन्होंने प्रधानमंत्री से मदद मांगी। पीएमओ ने विदेश मंत्रालय को निर्देश दिया था। इसके बाद सतीश के वतन वापसी की राह आसान हुई।

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना