• Hindi News
  • Bihar
  • Patna
  • Muzaffarpur shelter home case: SC directs Bihar govt to take steps to unite 8 out of 44 girls with their family

मुजफ्फरपुर बालिका गृहकांड / सुप्रीम कोर्ट का बिहार सरकार को आदेश- पीड़ित बच्चियों को उनके घर भेजें



सुप्रीम कोर्ट। सुप्रीम कोर्ट।
X
सुप्रीम कोर्ट।सुप्रीम कोर्ट।

  • तीन सदस्यीय पीठ पीड़ित बच्चियों को उनके माता-पिता को सौंपने का सुनाया आदेश
  • बालिका गृह में बच्चियों का किया जाता था शोषण, खुलासे के बाद से संचालक ब्रजेश ठाकुर जेल में

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2019, 01:54 PM IST

नई दिल्ली/मुजफ्फरपुर. मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले में पीड़ित बच्चियों को उनके घर भेजने को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को फैसला सुनाया। सुप्रीम कोर्ट ने बिहार सरकार से कहा कि आठ पीड़ित बच्चियों को उनके परिवार को सौंपने के लिए कदम उठाएं। न्यायमूर्ति एनवी रमन की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय पीठ ने पीड़ित बच्चियों को उनके माता-पिता को सौंपने का आदेश सुनाया।

 

बता दें कि टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज (टिस) की ओर से सीलबंद लिफाफे में स्थिति रिपोर्ट दाखिल की गई। टिस की ओर से न्यायालय को बताया गया कि कुछ बच्चियों के घर का पता चल गया है और उनके मां-पिता उन्हें वापस लेने को तैयार हैं। एक मामले में बच्ची ने अपने घर का पता बताया है, लेकिन उस पते पर घरवाले नहीं मिले हैं। बच्ची ने घर की लोकेशन बताई है।

 

टिस की रिपोर्ट से ही हुआ था शोषण का पर्दाफाश
कोर्ट ने 18 जुलाई को टिस को पीड़ित बच्चियों से बातचीत करने की अनुमति दी थी ताकि उनका पुनर्वास किया जा सके। मुजफ्फरपुर बालिका गृह में यौन शोषण का खुलासा टिस ने ही अपनी पड़ताल में किया था। टिस की रिपोर्ट के आधार पर ही मुजफ्फरपुर के नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। इसके बाद किंगपिन ब्रजेश ठाकुर समेत अन्य आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना