लोकसभा चुनाव / कांग्रेस नेता शकील अहमद ने मधुबनी से निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर भरा पर्चा



निर्दलीय पर्चा दाखिल करते शकील अहमद। निर्दलीय पर्चा दाखिल करते शकील अहमद।
X
निर्दलीय पर्चा दाखिल करते शकील अहमद।निर्दलीय पर्चा दाखिल करते शकील अहमद।

  • नामांकन के वक्त बेनीपट्टी से कांग्रेस विधायक भावना झा भी मौजूद थीं
  • शकील अहमद ने सोमवार को कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता पद से इस्तीफा दे दिया था

Dainik Bhaskar

Apr 16, 2019, 06:59 PM IST

मधुबनी. कांग्रेस नेता शकील अहमद ने मंगलवार को मधुबनी लोकसभा सीट से निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर नामांकन दाखिल किया। उनके साथ बेनीपट्टी से कांग्रेस विधायक भावना जा भी मौजूद थीं। बता दें कि शकील अहमद ने सोमवार को कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता पद से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने कहा था कि कांग्रेस के सिंबल के लिए आलाकमान से कहा है। उनकी तरफ से सकारात्मक संदेश भी मिला है। 18 अप्रैल तक उनके फैसले का इंतजार करूंगा। अगर सिंबल नहीं मिला तो निर्दलीय चुनावी मैदान में उतरेंगे।

 

'मैं नहीं लड़ा तो मुकाबला एकतरफा हो जाएगा'
शकील अहमद ने कहा कि मुझे लगता है कि अगर मैं यहां चुनाव नहीं लड़ा तो कोई संघर्ष नहीं होगा। मुकाबला एकतरफा हो जाएगा। मैंने पार्टी से दो निवेदन किए हैं। पहला, पार्टी मुझे सिंबल दे या फिर बाहरी समर्थन करे। जैसे चतरा सीट पर फ्रेंडली फाइट हो रही है तो मधुबनी में क्यों नहीं हो सकती।

 

शकील अहमद का राजनीतिक करियर
शकील अहमद बिहार से तीन बार विधायक और मधुबनी लोकसभा सीट से दो बार सांसद रह चुके हैं। वे मधुबनी से 1998 और 2004 में चुने गए। वे कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव भी रह चुके हैं। राबड़ी सरकार में स्वास्थ्य मंत्री और केंद्र की मनमोहन सरकार में संचार मंत्री और गृह राज्य मंत्री की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं। 2011 में उन्हें झारखंड और पश्चिम बंगाल का कांग्रेस प्रभारी भी बनाया गया था। शकील दिल्ली, हरियाणा और पंजाब के भी पार्टी प्रभारी रह चुके हैं।

 

दरअसल, महागठबंधन में हुए सीट शेयरिंग के बाद मधुबनी लोकसभा सीट मुकेश सहनी की विकासशील इंसान पार्टी के खाते में आई है। वीआईपी ने यहां से पूर्व राजद नेता बद्रीनाथ पूर्वे को टिकट दिया है। भाजपा की तरफ से अशोक कुमार यादव चुनावी मैदान में हैं। इस सीट पर 6 मई को मतदान होना है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना