सीवान और गोपालगंज की चिटि्ठयों की ऑनलाइन होगी मॉनीटरिंग

Patna News - डाकघर की कार्यप्रणाली में हाल के वर्षों में डिजिटल रूपी बदलाव हो रहा है। नई-नई तकनीक व सेवाओं से इसे लैश किया जा रहा...

Jan 16, 2020, 09:30 AM IST
Siwan News - siwan and gopalganj letters will be monitored online
डाकघर की कार्यप्रणाली में हाल के वर्षों में डिजिटल रूपी बदलाव हो रहा है। नई-नई तकनीक व सेवाओं से इसे लैश किया जा रहा है। अब साधारण चिट्ठियाें की भी व्यापक रूप से मॉनीटरिंग होने लगी है। अब पोस्टमैन की लापरवाही नहीं चलेगी। यदि पोस्टमैन लापरवाही करता भी है तो तुरंत अधिकारियों के पास इसकी रिपोर्ट पहुंच जाएगी। यह ऑनलाइन ट्रैकिंग सिस्टम से संभव होगा। इसी कड़ी में सीवान और गोपालगंज के 57 डाकघरों के लेटर बॉक्स को स्मार्ट बनाया गया है। इन सभी लेटर बॉक्स को सॉफ्टवेयर व मोबाइल एप से जोड़ दिया गया है। इस मोबाइल एप का नाम नन्यथा है। नन्यथा लेटर बॉक्स क्लियरेंस सिस्टम से जोड़कर इसकी ऑनलाइन मॉनिटरिंग की जा रही है। इस सिस्टम से जोड़ने के बाद अब इन डाकघरों के लेटर बॉक्स का प्रतिदिन खुलना तय हो गया है। इसमें लेटर बॉक्स खोलने वाले पिउन की मनमानी नहीं चलेगी। कौन सा लेटर बॉक्स कितने बजे खुला और उस बॉक्स से कितना लेटर निकला इसे ऑनलाइन देखा जा सकता है।

सीवान का प्रधान डाकघर।

पहले रजिस्टर्ड डाक, स्पीड पोस्ट सहित अन्य का होता था ट्रैक: साधारण चिटि्ठयों की तरफ डाक विभाग के अधिकारियों का कोई नजर नहीं था। अभी तक केवल रजिस्टर्ड डाक, स्पीट पोस्ट, मनीऑर्डर व पार्सल ही ट्रैक होता था। अब चिट्‌ठी निकालने और इसकी संख्या पर सॉफ्टवेयर के जरिये ऑनलाईन नजर रखी जाएगी। लेटर बॉक्स के ऑनलाइन सिस्टम से जुड़ने के बाद देश भर में कही भी बैठक विभाग के अधिकारी इसकी जानकारी ले सकेंगे।

इस तरह काम करेगा नन्यथा

हर लेटर बाक्स के अंदर 12 अंकों का यूनिक कोड बार लगाया जाता है। इसमें प्रारंभिक 6 अंक पिन कोड को दर्शाते हैं। डाक कर्मी किसी भी लेटर बाक्स से पत्रों की निकासी करेगा तो वह अपने पास स्थित एंड्रायड फोन स्मार्ट मोबाइल फोन में स्थित नन्यथा एप से उस लेटर बाॅक्स के बार कोड को स्कैन करके उसमें निकले कुल पत्रों की संख्या को उसी स्थान पर अपलोड कर देगा। इसमें लेटर बाक्स का लोकेशन सहित पत्रों की संख्या व निकासी की तारीख और समय भी सॉफ्टवेयर के माध्यम से तुरंत अपलोड हो जाएगा।

पत्रों के आंकड़ों का डाटाबेस हो सकेगा उपलब्ध : लेटर बॉक्स निकासी की इस व्यवस्था से आम जनता को यह आसानी से पता लग जाएगा कि जिस लेटर बॉक्स में पत्र डाला गया है उसकी निकासी कितने बजे हुई। इसके अलावा किसी क्षेत्र विशेष में स्थित लेटर बॉक्स की निकासी प्रतिदिन समयानुसार हो रही है या नहीं इसकी सूचना विभाग के साथ जनता को भी उपलब्ध हो सकेगी। इससे कार्य में अधिक पारदर्शिता आएगी। इस व्यवस्था से हर लेटर बॉक्स में पोस्ट किए गए पत्रों के आंकड़ों का डाटाबेस उपलब्ध हो सकेगा।

अब नहीं होगी गडबड़ी

सीवान और गोपालगंज के 57 डाकघरों के लेटर बॉक्स स्मार्ट बनाया गया है। इन सभी लेटर बॉक्स को सॉफ्टवेयर व मोबाइल एप से जोड़ दिया गया है। इस मोबाइल एप का नाम नन्यथा है। रंजन शुक्ला, डाक अधीक्षक ,प्रमंडल सीवान

X
Siwan News - siwan and gopalganj letters will be monitored online
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना