सदर अस्पताल में एसएनसीयू सेवा शुरू, अब कुपोषित बच्चों का हो सकेगा बेहतर इलाज

Patna News - सदर अस्पताल में नवनिर्मित 14 बेड के एसएनसीयू भवन का उद्घाटन स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने किया। मंत्री ने कहा...

Feb 21, 2020, 09:26 AM IST
Siwan News - sncu service started in sadar hospital now malnourished children will be better treated

सदर अस्पताल में नवनिर्मित 14 बेड के एसएनसीयू भवन का उद्घाटन स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने किया। मंत्री ने कहा कि इस वार्ड के बनने से हर तबके के लोगों को लाभ मिलेगा। नवजातों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराई जाएगी। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों व यूनिट के कर्मियों को इसकी सही देखभाल व मेंटेंनेंस का खास ख्याल रखने को कहा। यहां मिलने वाली सारी सुविधाएं मुफ्त होंगी। एसएनसीयू भवन के अभाव में गरीब तबके के लोगों को इलाज के लिए दर-दर भटकना पड़ता था। निजी अस्पताल में इलाज के लिए उन्हें भारी रकम चुकानी पड़ती थी। अब उन्हें इन सब से राहत मिलेगी। एसएनसीयू में कुपोषण के शिकार बच्चे या अन्य बीमारियों से ग्रसित बच्चों का सरकारी सुविधा के तहत इलाज किया जाएगा।

आयुष्मान योजना के तहत गरीबों को पांच लाख रुपए तक का होता है फ्री इलाज

24 घंटे एएनएम की
रहेगी तैनाती


स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि यहां 24 घंटे शिशु चिकित्सक एएनएम की तैनाती रहेगी। यह केंद्र गरीब बच्चों के लिए वरदान साबित होगा। यहां उन बच्चों का इलाज किया जाएगा जो जन्म से ही विभिन्न प्रकार की बीमारियों से ग्रसित होते हैं। इस भवन में बच्चों के साथ उसके मां की देख-रेख की अच्छी व्यवस्था की गई है। मां अपने बच्चों को समय-समय पर स्तनपान आदि करा सकेंगी। इस भवन में जच्चा और बच्चा दोनों का खास ख्याल रखा जाएगा।

हर दिन 300 लोगों का हो रहा है इलाज, 102 रुपए हो चुके हैं खर्च

बिहार में 22 लाख परिवारों के 46.50 लाख लोगों को गोल्डन कार्ड दिए जा चुके हैं। जिसमें योजना के तहत लोगों के इलाज पर लगभग 102 करोड़ रुपये खर्च भी किए गए हैं। सदर अस्पताल में अलग आयुष्यमान वार्ड भी बनाया जाएगा। सरकारी अस्पतालों में रोज 200 से 300 लोगों का इलाज हो रहा है। अब पैसा के अभाव में आभूषण गिरबी नहीं रखना पड़ेगा। इस योजना के तहत साल में 5 लाख रुपये तक का इलाज निःशुल्क किया जाएगा। यह सुविधा पंजीकृत निजी अस्पतालों में भी निःशुल्क मिलेगा। पूरे बिहार 5 करोड़ 85 लाख लोगों को कार्ड बनाया जाएगा।

570 सरकारी और 208 निजी अस्पतालों का दिया जा रहा लाभ

सीवान में 1 लाख 97 हजार 294 की जनसंख्या है। 570 सरकारी 208 निजी अस्पताल को इस योजना से जोड़ा गया है। पंचायत स्तर कैम्प लगाकर कार्ड बनाया जा रहा है। ऐसे लोग जिनका आयुष्मान योजना नाम नहीं है उनके लिए मुख्यमंत्री चिकित्सा सहायता योजना तहत मदद किया जाएगा। मौके सिवान के सांसद कविता सिंह, पूर्व सांसद ओमप्रकाश यादव, एमएलसी टुन्ना पांडेय, विधायक कर्णजीत सिंह, विधायक श्याम बहादुर सिंह, पूर्व डॉ. देवरंजन सिंह, अजय सिंह, सिविल सर्जन डॉ. अशेष कुमार, डीपीएम ठाकुर विश्वमोहन सिंह, डीपीसी इमामुल होदा, आयुष्यमान भारत के प्रमंडलीय समन्यवक संजय कुमार यादव समेत अन्य चिकित्सा कर्मी मौजूद थे।

पचरुखी में 250 लोगों के बीच गोल्डन कार्ड का वितरण

पचरुखी पीएचसी में प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत जन आरोग्य योजना के तहत बने गोल्डन कार्ड का वितरण किया गया। इसका उद्घाटन स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने किया। यहां 250 लोगों का कार्ड दिया गया। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार और उसे बेहतर बनाने के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्ध है। मुख्यमंत्री के नेतृत्व में जन-जन तक स्वास्थ्य सुविधाओं को पहुंचाने की कोशिशें लगातार जारी हैं। आयुष्मान भारत योजना के तहत अब तक सीवान में 68343 लोगों का कार्ड बनाया जा चुका है। 292 लोगों में करीब 18 लाख रुपये का भुगतान किया गया है।

पचरुखी में गोल्डन कार्ड का वितरण करते स्वास्थ्य मंत्री व अन्य।

X
Siwan News - sncu service started in sadar hospital now malnourished children will be better treated

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना