Hindi News »Bihar »Patna» Student Story Written A Examination Copy

छात्र ने कॉपी में लिखी कहानी, टीचर ने दिखाई दरियादिली और दे दिए फर्स्ट डिवीजन के अंक

रिजल्ट पेंडिंग नहीं होता तो छात्रों की कॉपियों पर शिक्षकों द्वारा दिखाई गई दरियादिली सामने नहीं आती।

bhaskar news | Last Modified - Apr 12, 2018, 11:09 AM IST

छात्र ने कॉपी में लिखी कहानी, टीचर ने दिखाई दरियादिली और दे दिए फर्स्ट डिवीजन के अंक

भागलपुर. (बिहार)टीएमबीयू में ग्रेजुएशन पार्ट टू का रिजल्ट पेंडिंग नहीं होता तो छात्रों की कॉपियों पर शिक्षकों द्वारा दिखाई गई दरियादिली सामने नहीं आती। यहां सिंडिकेट हॉल में चल रहे पेंडिंग सुधार के काम के दौरान समाजशास्त्र के एक ऐसे छात्र की कॉपी मिली, जिसने एक सवाल के जवाब में कहानी लिखी थी। हैरानी तो इस बात की है कि मूल्यांकन करने वाले शिक्षक ने उसे फर्स्ट डिवीजन के मार्क्स तक दे दिए। बता दें पेंडिंग रिजल्ट को लेकर छात्र और विवि दोनों ही परेशान हैं। लेकिन इस दौरान कुछ ऐसी चीजें भी सामने अा रही हैं जो छात्रों के ज्ञान की खस्ता हालत तो बयां करती ही है, साथ ही शिक्षकों की ईमानदारी और विषय की जानकारी पर सवाल खड़े करते हैं।

पहले भी हो चुकी है ऐसी गड़बड़ी
- यह पहला माैका नहीं है जब टीएमबीयू में इस तरह की धांधली पकड़ी गई है। इससे पहले पीजी समाजशास्त्र के रिजल्ट में एक छात्र को फिल्म बाहुबली टू की कहानी लिखने पर फर्स्ट क्लास के अंक दे दिए गए थे। यह खुलासा खुद छात्र ने किया था।

- अब स्नातक पार्ट टू का पेंडिंग दूर करने के लिए जब संबंधित छात्रों की कापियां मंगाई गईं तो उसी तरह के मामले सामने आ रहे हैं। यही नहीं, इन कापियों के मूल्यांकन के बाद जो टेबुलेशन किया गया है, उसमें भी ओवर राइटिंग की गई है।

- सूत्राें ने बताया कि ऐसे मामले ज्यादातर समाजशास्त्र और दर्शनशास्त्र की कापियों में मिले हैं। हालांकि रिजल्ट सुधारने के काम में जुटे लोगों ने छात्रों का नाम नहीं बताया।

- वहीं, प्रतिकुलपति प्रो. रामयतन प्रसाद ने कहा है कि शिकायत मिली है। पहले पेंडिंग के मामले दूर करना जरूरी है, क्योंकि छात्रों को पार्ट थ्री का परीक्षा फॉर्म भरना है। इसके बाद इन मामलाें को देखा जाएगा।

उधर, फुल मार्क्स से दे दिए ज्यादा नंबर
- वहीं, टीएनबी कॉलेज के बीसीए के तीसरे सेमेस्टर के जारी रिजल्ट में छात्र सौरभ कुमार छोटू को फुल मार्क्स 80 के बावजूद 83 अंक देने के मामले में संबंधित शिक्षक ने इस गड़बड़ी को चूक बताते हुए हास्यास्पद दलील दी है।
- शिक्षक ने कहा है कि वह 5 को ऐसे लिखते हैं जो 8 की तरह दिखता है। टेबुलेशन में छात्र का अंक बैठाते समय यही हुआ और 53 अंक 83 बन गया।
- शिक्षक की यह दलील खुद उनके काम पर सवाल खड़ी करती है कि अगर सच में वह 5 ऐसे लिखते हैं जो 8 की तरह दिखता है तो अब तक उन्होंने जितने टेबुलेशन किए होंगे, क्या उनमें जहां-जहां उन्होंने 5 लिखा होगा वह 8 की तरह दिखता था?
- अगर ऐसा हुआ होगा तो और अन्य छात्रों के रिजल्ट में भी 5 की जगह 8 होगा और नहीं तो सिर्फ सौरभ कुमार छोटू के रिजल्ट में यह गड़बड़ी क्यों हुई?
- हालांकि प्रतिकुलपति प्रो. रामयतन प्रसाद ने बताया कि उन्होंने छात्र का रिजल्ट ठीक करवा दिया है और शिक्षक को ढंग से टेबुलेशन करने की हिदायत दी है।

Get the latest IPL 2018 News, check IPL 2018 Schedule, IPL Live Score & IPL Points Table. Like us on Facebook or follow us on Twitter for more IPL updates.
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Patna News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: chhaatr ne copy mein likhi kahani, teacher ne dikhaaee driyaadili aur de die frst divijn ke ank
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0
    ×