पटना / स्कूलों ने 5 बार टोकने पर भी मैट्रिक व इंटर के 65776 छात्रों की नहीं जमा कराई फीस



students of Matric and Inter did not deposit fees even after schools interrupted 5 times
X
students of Matric and Inter did not deposit fees even after schools interrupted 5 times

  • बोर्ड का आखिरी मौका-20 सितंबर तक फीस नहीं भरी तो परीक्षा से चूकेंगे छात्र

Dainik Bhaskar

Sep 16, 2019, 07:05 AM IST

पटना . मैट्रिक अाैर इंटर की 2020 की वार्षिक परीक्षा में शामिल होने वाले छात्र-छात्राओं में 65776 ऐसे हैं, जिन्होंने ऑनलाइन फॉर्म तो भर दिया है लेकिन उनका परीक्षा शुल्क अबतक जमा ही नहीं हुआ। इनकी फीस अगर 20 सितंबर तक जमा नहीं होती है तो वे अगले साल परीक्षा में नहीं बैठ पाएंगे।

 
बिहार बाेर्ड ने सभी डीईओ, डीपीओ, स्कूल-कॉलेजों के प्रधानों को पत्र लिखकर यह जानकारी दे दीहै। साथ ही ऐसे छात्र-छात्राओं काे फीस जमा करने का आखिरी मौका दिया है। लिखे गए पत्र में बिहार बोर्ड ने कहा है कि 20 तक अगर परीक्षा शुल्क जमा नहीं किया जाता है तो वैसी स्थिति में छात्रों का डमी प्रवेशपत्र जारी नहीं किया जाएगा और उन्हें परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं हाेगी। इसकी सारी जिम्मेदारी संस्थानों के प्रधानों की होगी। साथ ही उनके खिलाफ अनुशासनिक कार्रवाई भी की जाएगी। राज्य के 1136 मैट्रिक अाैर 1576 प्लस-टू स्कूलों के छात्र-छात्राओं की फीस बकाया है। फॉर्म भरने में शामिल शिक्षकों ने बताया कि स्कूल प्रबंधन ने फॉर्म भरने के वक्त ही छात्रों से परीक्षा शुल्क ले लिया पर जमा नहीं किया। उसे बोर्ड में जमा करने की जिम्मेदारी स्कूलों की है।

 

शिक्षक बोले-फॉर्म भरते समय ही स्कूलों ने छात्रों से ले लिए थे पैसे : स्कूलों ने मैट्रिक-इंटर का परीक्षा फॉर्म भरने में काफी लापरवाही बरती है। बिहार बोर्ड ने जुलाई से लेकर अबतक 5 बार पत्र लिखकर कहा कि छात्रों की फीस जमा करें ताकि उनका परीक्षा फॉर्म पूरी तरह भरा हुआ माना जा सके। लेकिन स्कूल-कॉलेज ने इसपर ध्यान नहीं दिया। बोर्ड ने कहा है कि संस्थानों की घोर लापरवाही और उदासीनता उजागर हुई है। आखिरी बार 11 सितंबर तक स्कूल व कॉलेज के प्रधानों को मौका दिया गया था लेकिन स्कूलों ने फीस जमा नहीं किया।

 

छात्र के नाम व रजिस्ट्रेशन नंबर वेबसाइट पर : मैट्रिक-इंटर की परीक्षा दे रहे परीक्षार्थियों की सुविधा के लिए बिहार बोर्ड ने ऐसे सभी छात्र-छात्राओं का नाम अपनी वेबसाइट पर स्कूल वाइज डाल दिया है, जिनकी फीस बकाया है। इसमें छात्र का नाम, उनके माता या पिता का नाम, पंजीयन संख्या, शिक्षण संस्थान का नाम व बकाया राशि की जानकारी उपलब्ध है। वेबसाइट www.biharboardonline.bihar.gov.in पर लिस्ट उपलब्ध करा दी गई है। छात्र व अभिभावक खुद लिस्ट देख सकते हैं और संस्थानों को फीस जमा करने के लिए कह सकते हैं। 
 

किस जिले में कितने छात्रों की फीस बकाया
 

 

जिला        इंटर            मैट्रिक
पटना        2002    413
नालंदा        326      837
भोजपुर        2652    79
बक्सर        381        593
रोहतास        1538    532
कैमूर        664    142
गया-        2953    1939
जहानाबाद        25            31
नवादा        1766    443
औरंगाबाद        325        317
अरवल        183        23
मुजफ्फरपुर        1917    1420
सीतामढ़ी         893    129
वैशाली         819        133
पू. चंपारण        1945    843
प.. चंपारण        1630    876
शिवहर        52            10
सारण        1552    399
सीवान        897    2578
गोपालगंज        17693332
जिला        इंटर            मैट्रिक
दरभंगा        1210    3267
मधुबनी        1083    494
समस्तीपुर        2770    941
सहरसा        672        127
सुपौल        273        81
मधेपुरा        1323    979
भागलपुर        1890    592
बांका        97            929
मुंगेर        1723    135
जमुई        528    32
खगड़िया        103        124
बेगूसराय        1713    464
लखीसराय        148        30
शेखपुरा        926    12
पूर्णिया        1852    94
अररिया        209      47
किशनगंज        294      16
कटिहार        785     455
कुल        41888 23888

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना