• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Siwan News students speak on porn sites destroying civilization and culture life will be saved only by its closure

सभ्यता और संस्कृति को नष्ट कर रहे पोर्न साइट्स पर बोले विद्यार्थी-इसके बंद होने से ही संवरेगा जीवन

Patna News - पोर्न साइट्स के खिलाफ दैनिक भास्कर के अभियान में मंगलवार को महादेवा रोड स्थित इंग्लिश वर्ल्ड कोचिंग संस्थान के...

Feb 12, 2020, 09:40 AM IST

पोर्न साइट्स के खिलाफ दैनिक भास्कर के अभियान में मंगलवार को महादेवा रोड स्थित इंग्लिश वर्ल्ड कोचिंग संस्थान के छात्रों ने भी हिस्सा लिया। इसमें शिक्षक आनन्द सिंह के साथ ही छात्र छात्राओं ने भी इस साइट्स से होने वाले नुकसान के विषय में विस्तार से चर्चा की। छात्रों ने एक स्वर में इस साइटस को बंद कराने के लिए सरकार से अपील की। छात्रों ने परिचर्चा में बेबाकी से अपनी बात कही। परिचर्चा में कहा गया कि पोर्न साइट्स परमाणु बम से भी ज्यादा खतरनाक है। इसके दुष्परिणाम भयावह होते जा रहे हैं। यौन अपराधों के आंकड़ें लगातार बढ़ रहे हैं। समाज में इससे बुरा संदेश जा रहा है। सरकार कोई ठोस निर्णय नहीं ले पा रही है। वहीं शिक्षक प्रो. आंनन्द सिंह ने कहा कि मोबाइल पर ऐसे साइट्स के कारण छात्र अपनी पढ़ाई से भटक जाते हैं। उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि छात्र हो या फिर छात्रा इन पर अभिभावकों को पूरी निगरानी रखनी चाहये। अगर छात्र मोबाइल का इस्तेमाल करता है वो शिक्षा के लिए करें इससे उनका भविष्य सुधरेगा। मां-बाप खुलकर इस पर बात नहीं कर पा रहे है। जिसका परिणाम हो रहा है कि बच्चों को गलत लत लग जा रही है। यह प्रत्येक वर्ग के लोगों पर इसका घातक प्रभाव देखने को मिल रहा है। पोर्न साइट्स को रोकने की जरूरत है।

छात्रों को ज्यादा प्रभावित कर रहा है पोर्न साइट्स

पोर्न साइट्स छात्रों को ज्यादा प्रभावित कर रहा है। हालाकि सभी वर्ग के लोग इस साइटस को देखने के बाद तबाही की ओर जा रहे है। इस पर समाज को आगे आने की जरूरत है। कार्टून में पोर्न को जोड़कर बच्चों के बीच जहर घोलने का कार्य भी किया जा रहा है। जो पूरी तरह से अनुचित है। रौशन अली, छात्र

पारिवारिक स्थिति पर पड़ रहा बुरा प्रभाव

मर्यादाएं दरक रहीं है। यह सभ्यता व संस्कृति काे नष्ट कर रहा है। सामाजिक परिवेश एवं पारिवारिक ताने-बाने पर बुरा असर पड़ा है। सबसे अधिक कम उम्र के बच्चें प्रभावित हैं, पर इसकी लत युवाओं व बुजुर्गों तक को लग चुकी है। जिसकी निगरानी करने वाला कोई नही है।
प्रो. आनन्द सिंह, इंग्लिश वर्ल्ड कोचिंग संस्थान, सीवान

बढ़ रही हैं दुष्कर्म की घटनाएं

पोर्न साइटों को बंद कर देना चाहिए। इसके कारण एक दूसरे के बीच अश्लीलता बढ़ती है। जिससे दुष्कर्म की घटनाएं भी बढ़ रही हैं। समाज में आए दिन हो रहे दुष्कर्म की घटनाओं का जिम्मेदार भी पोर्न साइटस ही हैं। छात्रों के पढ़ाई पर भी इसका कुप्रभाव पड़ता है और उनका भविष्य बर्बाद हो जाता है। पोर्न साइट्स पर पूर्ण प्रतिबंध की मांग को लेकर छात्र- छात्राओं ने भी अपनी अपनी राय रखी।

संजीत कुमार, छात्र

समाज पर पड़ता है गलत असर

आज के युग में मोबाइल की काफी जरूरत है। इससे हमें पढ़ाई में काफी सहयोग मिलता है। कभी कभी होता है कि हम छात्र किसी सबजेक्ट पर जानकारी हासिल करने के लिए सर्च करते ळैं तो पहले ही कुछ अश्लील सीन आ जाता है। जिससे समय बर्बाद होता है। इससे युवा वर्ग भटक कर शिक्षा से दूर होते जा रहे हैं। यही वजह है कि समाज में बुरी घटनाएं भी बढ़ रही है। ऐसे साइटों पर सरकार को रोक लगानी चाहिए।

कैश, छात्र

प्रतिबंध लगाना हुआ अनिवार्य

आज के समय में सुलभ ही पोर्न साइटस उपलब्ध हो जा रहा है। इसपर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने की जरूरत है। बढते डिजिटल युग में युवा वर्ग इसका ज्यादा शिकार हो रहा है। इससे समाजिक स्तर नीचे जा रहा है। समाज में जागरूकता लाने की जरूरत है। ताकि कम उम्र की युवा पीढ़ी इस तरह के किसी भी सइटस को न देखे। इससे युवाओं का भविष्य अंधकारमय हो जाता है। जिससे समाज में गलत संदेश चला जाता है। ये सब ऐसे अश्लील साइटों के कारण हो रहा है। शुभम सिंह, छात्र

साइट्स देखकर पढ़ाई से भटकते हैं छात्र, अभिभावकों को भी रखनी होगी नजर

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना