• Hindi News
  • Bihar
  • Patna
  • Patna - रिलेशनशिप व रिजल्ट खराब होने पर यूथ कर रहे सुसाइड
--Advertisement--

रिलेशनशिप व रिजल्ट खराब होने पर यूथ कर रहे सुसाइड

लोगों में धैर्य खत्म हो रहा है। छोटी-छोटी बातों का तनाव इतना बढ़ जाता है कि लोग अत्यधिक डिप्रेशन के शिकार होते चले...

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2018, 04:55 AM IST
Patna - रिलेशनशिप व रिजल्ट खराब होने पर यूथ कर रहे सुसाइड
लोगों में धैर्य खत्म हो रहा है। छोटी-छोटी बातों का तनाव इतना बढ़ जाता है कि लोग अत्यधिक डिप्रेशन के शिकार होते चले जाते हैं। सुसाइड करने की मुख्य वजहों मे से एक है डिप्रेशन। यह चर्चा मंगलवार को मगध महिला कॉलेज में हो रही थी। मनोविज्ञान विभाग की ओर से आयोजित इस टॉक और इंट्रेक्टिव सेशन का विषय ‘सुसाइड प्रिवेंशन एंड मेंटल हेल्थ अवेयरनेस’ था। कार्यक्रम की शुरुआत कॉलेज की प्राचार्या डॉ. शशि शर्मा ने की। उन्होंने छात्राओं को विषय के बारे में जागरूकता फैलाने को कहा। इस इंट्रेक्टिव सेशन के मुख्य वक्ता आईजीआईएमएस के सायकायट्रिस्ट डॉ. राजेश कुमार विषय पर छात्राओं से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने सुसाइड के कारणों में डिप्रेशन में जाना, उम्मीद खत्म हो जाना और अपने प्रति प्रेम खत्म हो जाने को बड़ा कारण बताया। राजेश ने बताया कि सुसाइड का कारण उम्र पर निर्भर करता है। जैसे युवा अक्सर रिलेशनशिप से जुड़ी दिक्कतों से सुसाइड करते हैं या रिजल्ट खराब होने पर। वहीं 40 पार के लोग पारिवारिक मतभेद या अन्य कारणों से ऐसे प्रयास करते हैं। आंकड़ों पर जोर देते हुए डॉ राजेश ने बताया कि हर साल लगभग आठ लाख लोग सुसाइड कर रहे हैं। इनको रोकना बहुत जरूरी है। राजेश ने आगे सुसाइड को रोकने, पहचान और रिस्क असेसमेंट के बारे में भी विस्तार से छात्राओं को बताया। साथ ही ऐसे लोगों को डॉक्टर, क्लीनिकल साइकोलॉजिस्ट और मेडिकल थेरेपी लेने की सलाह दी। उन्होंने बताया कि सुसाइड जैसी परिस्थिति में उस समाज और परिवार की भूमिका अहम हो जाती है। मौके पर छात्राओं ने अपने-अपने सवाल भी डॉ राजेश से पूछे। कार्यक्रम में विभागाध्यक्ष डॉ अर्चना कटियार, डॉ निधि सिंह, नम्रता, डॉ पुष्पलता, डॉ जनार्दन प्रसाद, डॉ पुष्पा सिन्हा और अन्य मौजूद रहीं।

X
Patna - रिलेशनशिप व रिजल्ट खराब होने पर यूथ कर रहे सुसाइड
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..