मैट्रिक परीक्षा / वीक्षण में योगदान नहीं देनेवाले शिक्षक होंगे निलंबित, दर्ज की जाएगी प्राथमिकी

Teachers who do not contribute to observation will be suspended, FIR will be lodged
X
Teachers who do not contribute to observation will be suspended, FIR will be lodged

  • शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव और बोर्ड अध्यक्ष ने की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग 
  • राज्य में 17 फरवरी से 24 फरवरी तक मैट्रिक परीक्षा चलेगी

दैनिक भास्कर

Feb 14, 2020, 10:07 AM IST

पटना. 17 फरवरी से शुरू हो रही मैट्रिक परीक्षा के दौरान शिक्षकों की हड़ताल की घोषणा के बीच गुरुवार को शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव आरके महाजन और बिहार बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर ने संयुक्त रूप से अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक की।

बैठक में कहा गया कि राज्य में 17 फरवरी से 24 फरवरी तक मैट्रिक परीक्षा चलेगी। इसके अलावा इंटर परीक्षा की उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन भी 26 फरवरी से शुरू होगा। अधिकारियों ने जिलावार तैयारियों की समीक्षा की। जिलाधिकारियों ने बताया कि आवश्यक तैयारियां की जा रही हैं तथा परीक्षा केंद्रों के लिए पर्याप्त वीक्षकों की प्रतिनियुक्ति की जा रही है। निर्देश दिया गया है कि मैट्रिक परीक्षा के लिए वीक्षण कार्य में प्रतिनियुक्त किए जाने वाले सभी शिक्षक आवंटित परीक्षा केन्द्र पर योगदान देंगे। वीक्षण में जो शिक्षक अपना योगदान नहीं देते हैं, उन पर कार्रवाई की जाएगी। इसमें प्राथमिकी दर्ज करने के साथ-साथ निलंबन भी किया जा सकता है। साथ ही, सभी परीक्षा केंद्रों पर योगदान देने वाले शिक्षकों को सुरक्षा भी उपलब्ध कराई जाएगी।

बैठक में यह भी निर्देश दिया गया कि मैट्रिक परीक्षा के संचालन तथा मूल्यांकन कार्यों के लिए जिला स्तर पर जिलाधिकारी, जिला शिक्षा पदाधिकारी के कार्यालय तथा प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय में शीघ्र ही एक-एक सेल का गठन किया जाए, जो हड़ताली शिक्षकों द्वारा उत्पन्न की गई बाधा के संबंध में मॉनिटरिंग करेगी। यह सेल शिक्षा विभाग मुख्यालय एवं समिति मुख्यालय में भी खुलेगी। यह भी निर्देश दिया गया कि जिला स्तर पर शिक्षक संघ के नेताओं से वार्ता कर ली जाए तथा उन्हें समझा दिया जाए कि परीक्षा के आयोजन एवं मूल्यांकन कार्यों में बाधा पहुंचाने को सख्ती से निपटा जाएगा।

वीक्षण और मूल्यांकन कार्य में शामिल होंगे वित्तरहित शिक्षक
वित्तरहित शिक्षक मैट्रिक परीक्षा में वीक्षण कार्य में शामिल होंगे। साथ ही इंटर में कॉपी मूल्यांकन कार्य भी करेंगे। अनुदान नहीं वेतनमान फोरम के प्रांतीय संयोजक प्रो. रौशन कुमार ने कहा कि लगभग 50 हजार शिक्षक कर्मी परीक्षा संचालन व मूल्यांकन में सहयोग करेंगे। इधर, परिवर्तनकारी माध्यमिक उच्चतर माध्यमिक शिक्षक संघ मैट्रिक परीक्षा के बाद 26 फरवरी से हड़ताल पर जाएगा। प्रदेश अध्यक्ष अरुण क्रांति ने कहा कि 17 से 25 फरवरी तक काली पट्टी लगाकर सरकार का ध्यान आकृष्ट कराएंगे।

मूल्यांकन नहीं करेंगे शिक्षक
शिक्षकों ने इंटर की कॉपियों का मूल्यांकन नहीं करने का निर्णय लिया है। बिहार के 12000 प्लस 2 इंटरमीडिएट शिक्षक 17 फरवरी से हड़ताल पर जाएंगे। शिक्षक विद्यालय में तालाबंदी भी करेंगे। राज्यस्तरीय स्नातकोत्तर प्लस टू शिक्षक संगठन ने यह घोषणा की है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना