Hindi News »Bihar »Patna» Tejaswi Yadav Statement On Lalu Prasad Yadav Release By AIIMS

लालू को रिम्स भेजने पर तेजस्वी बोले- समझ नहीं आ रहा ऐसा फैसला क्यों लिया गया

एम्स में उनका इलाज बेहतर तरीके से चल रहा था। दिल्ली एम्स रिम्स से बेहतर है।

Bhaskar News | Last Modified - May 01, 2018, 07:36 AM IST

  • लालू को रिम्स भेजने पर तेजस्वी बोले- समझ नहीं आ रहा ऐसा फैसला क्यों लिया गया
    +1और स्लाइड देखें

    पटना. विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने भी इस पर सवाल किया है कि आखिर किसके दबाव में एम्स प्रबंधन ने लालू प्रसाद को स्थानांतरित करने का फैसला लिया है। बिना नाम लिए तेजस्वी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा- आनन-फानन में बोर्ड की बैठक हुई और शाम को ही उन्हें ट्रेन से रांची भेज दिया गया। समझ नहीं आ रहा कि क्यों ऐसा फैसला लिया गया है। एम्स का यह फैसला जल्दबाजी में लिया गया है। एम्स में उनका इलाज बेहतर तरीके से चल रहा था। दिल्ली एम्स रिम्स से बेहतर है। यह निर्णय लालू जी के स्वास्थ्य के प्रति सही नहीं है।


    अावाम वसूल लेगी भारी कीमत

    - राजद के राष्ट्रीय प्रवक्ता डाॅ. मनोज झा ने लालू प्रसाद को रांची भेजने पर प्रतिक्रिया देते हुए दिल्ली सल्तनत की सत्ता प्रतिष्ठान को चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि अगर राजनीतिक विद्वेष के कारण एक लोकप्रिय जननेता के स्वास्थ्य से खिलवाड़ किया जा रहा हैं तो इसकी भारी कीमत अवाम वसूल लेगी। राजनीतिक प्रतिस्पर्धा अपनी जगह है, लेकिन हिंदुस्तान की राजनीति में ऐसा पराभव साहेब के बाद ही हुआ।

    रिम्स में पेरशानी होती है, दिल्ली एम्स में किसी से मिलने पर नहीं थी रोक
    - राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि लालू प्रसाद दिल्ली एम्स में ज्यादा बेहतर महसूस कर रहे थे। वहां उनसे किसी भी व्यक्ति के मिलने पर खास रोक नहीं थी। बीते गुरुवार को उनकी तेजस्वी यादव से मुलाकात हुई थी। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के पहले राजद के प्रदेश अध्यक्ष डाॅ. रामचंद्र पूर्वे, केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा, भाजपा सांसद शत्रुध्न सिन्हा भी उनसे दिल्ली एम्स में मिले थे।

    - जानकारों का कहना है कि रिम्स में लालू प्रसाद को सप्ताह में एक ही दिन आगंतुकों से मिलने दिया जाता है। ऐसे में लालू रांची में अधिक परेशानी महसूस करते हैं। हालांकि, इसके पीछे लालू प्रसाद का तर्क है कि रांची रिम्स में किडनी का कोई समुचित इलाज व देखरेख की सुविधा नहीं है। उपयुक्त सुविधाओं का अभाव है। उच्च स्तर के उपकरण नहीं है, इसलिए जब तक पूर्ण रूप से स्वस्थ नहीं हो जाता तब तक दिल्ली एम्स में रखकर उनका इलाज किया जाए।

    लालू की सेहत को लेकर परिवार कर रहा पॉलिटिकल स्टंट

    - स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद को एम्स से रिम्स भेजने पर हो रही सियासत को पॉलिटिकल स्टंट करार दिया है। उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद को जबरन नहीं, डॉक्टरों के सलाह पर रिम्स भेजा जा रहा है। ऐसे में तेजस्वी यादव का आरोप बेबुनियाद है।


    बीमार कांग्रेस का लालू से इलाज कराने गए थे राहुल

    - उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के एम्स में लालू से मिलने पर तंज कसते हुए कहा कि राहुल गांधी लालू प्रसाद का स्वास्थ्य जानने नहीं गए थे। वे तो बीमार कांग्रेस के उपचार के लिए लालू प्रसाद से इलाज कराने के लिए पहुंचे थे। उन्हें लग रहा है कि बीमार कांग्रेस का इलाज लालू प्रसाद ही कर सकते हैं।

  • लालू को रिम्स भेजने पर तेजस्वी बोले- समझ नहीं आ रहा ऐसा फैसला क्यों लिया गया
    +1और स्लाइड देखें
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×