• Home
  • Bihar
  • Patna
  • Patna - गुरुद्वारा एक्ट पर नहीं बनी सहमति, जोरदार हंगामे के बीच बैठक स्थगित
--Advertisement--

गुरुद्वारा एक्ट पर नहीं बनी सहमति, जोरदार हंगामे के बीच बैठक स्थगित

राज्य सरकार की ओर से प्रस्तावित बिहार गुरुद्वारा एक्ट-2017 को लेकर रविवार की सुबह तख्तश्री हरिमंदिर साहिब परिसर में...

Danik Bhaskar | Sep 10, 2018, 05:10 AM IST
राज्य सरकार की ओर से प्रस्तावित बिहार गुरुद्वारा एक्ट-2017 को लेकर रविवार की सुबह तख्तश्री हरिमंदिर साहिब परिसर में होने वाली बैठक विरोध और हंगामे की भेंट चढ़ गई। हंगामा कर रहे लोगों का कहना था कि वर्तमान कमेटी को किसी बैठक व निर्णय लेने का अधिकार नहीं है, क्योंकि पूर्व की बैठक में यह तय हो चुका था कि नई कमेटी की देखरेख में इस मुद्दे पर निर्णय लिया जाएगा।

सुबह 11 बजे पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत राज्य सरकार के पूर्व मुख्य सचिव जीएस कंग व महासचिव सरजिंदर सिंह एवं अन्य सदस्य सभागार में पहुंचे। इसके थोड़ी के बाद ही हंगामे की स्थिति बन गई। आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी शुरू हो गया। इसे देख बैठक स्थगित करने की घोषणा कर दी गई।

नकारा जाना सही नहीं

निर्वाचित सदस्य सरदार राजा सिंह, इंद्रजीत सिंह, कमीकर सिंह, महेंद्र पाल ठिल्लो, हरवंश सिंह, त्रिलोचन सिंह, मनोहर सिंह बग्गा, सतनाम सिंह लांबा सहित बड़ी संख्या में संगत ने विरोध जताया कि वर्तमान सदस्यों को संगत ने नकार दिया है। उन्हें किसी प्रकार का नैतिक व मौलिक अधिकार नहीं है।

नए सदस्यों ने की नारेबाजी

29 जुलाई को बिहार गुरुद्वारा एक्ट-2017 व संविधान में संशोधन के लिए बैठक हो चुकी है। जिसमें साफ तौर पर यह निर्णय लिया गया है, कि इस मुद्दे पर निर्णय का अधिकार नई समिति के दायित्व में है। विरोध करते हुए नवनिर्वाचित सदस्य तख्त साहिब के मुख्य द्वार पर पहुंच कर नारेबाजी करने लगे।

मीटिंग का औचित्य नहीं

हलका नंबर एक से निर्वाचित सरदार राजा सिंह ने बताया कि प्रबंधक समिति के पूर्व महासचिव को संविधान का हवाला देते हुए रविवार को होनेवाली बैठक को स्थगित करने के लिए आवेदन दिया गया था, जिसमें कई निर्वाचित सदस्यों के अलावा संगत ने हस्ताक्षर किया है। लेकिन इसके बाद भी बैठक की कार्यवाही अनुचित है। समिति की ओर से 11 सितंबर को बैठक बुलाई गई है।

नहीं बंटी कॉपी

महासचिव सरजिंदर सिंह का कहना है कि यह बैठक एक्ट के संबंध में सुझाव के लिए बुलाई गई थी, ताकि प्रस्तावित एक्ट की हिंदी की कॉपी संगत के बीच वितरित की जा सके। हंगामा होने बैठक स्थगित हुई है। सदस्य जगजोत सिंह सोही, संगत अमरजीत सिंह शम्मी, दीपेंद्र सिंह ने कहा कि एक्ट पर चर्चा होनी थी।