• Hindi News
  • Bihar
  • Patna
  • Mairwa News the assurances of ministers were met many times but the renovation of the hariram brahmaasthal

मंत्रियों के आश्वासन तो कई बार मिले पर नहीं हो सका हरिराम ब्रह्मस्थल का जीर्णोद्धार

Patna News - बिहार और उत्तर प्रदेश की सीमा पर स्थित मैरवा धाम विख्यात है। यह स्थल बाबा हरिराम ब्रह्म के मंदिर के नाम से जाना...

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 04:12 AM IST
Mairwa News - the assurances of ministers were met many times but the renovation of the hariram brahmaasthal
बिहार और उत्तर प्रदेश की सीमा पर स्थित मैरवा धाम विख्यात है। यह स्थल बाबा हरिराम ब्रह्म के मंदिर के नाम से जाना जाता है। कहा जाता है कि यह मंदिर 17वीं शताब्दी का है। यहां देश की विभिन्न जगहों से बाबा के अनुयायी पहुंचते हैं। प्रतिदिन हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं का आना-जाना लगा रहता है। भक्त दर्शन करने के लिए आते हैं। विशेष धार्मिक दिनों इस क्षेत्र से गुजरने वाले हर नेता तथा अधिकारी बाबा के दरबार में अपनी हाजिरी अवश्य लगाते हैं। कई नेताओं ने तो यहां आने के बाद इस स्थल को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने तथा सरकारी अनुदान से जीर्णोद्धार कराने की बात कर चुके हैं, लेकिन आज तक इसका वास्तविक विकास नहीं हो पाया है। आज भी यह स्थल देेेश के मानचित्र पर पर्यटन स्थल के रूप में अपना स्थान हासिल करने के लिए संघर्ष कर रहा है। सरकार द्वारा तमाम पर्यटन उद्योगों को बढ़़ावा दिया जा रहा है लेकिन यह स्थल सरकार की उदासीनता का शिकार है।

जबकि मंदिर को पर्यटन स्थल बनाने के लिए राज्य सरकार के कई मंत्री तथा सांसदों ने यहां आकर इसके विकास तथा जीर्णोद्धार का आश्वासन दिया। इनमें मंत्री अश्विनी चौबे, सांसद ओमप्रकाश यादव आदि शामिल हैं।

कार्यक्रम
बच्चों की वैज्ञानिक सोच पर अमल करें तो पानी की नहीं होगी बर्बादी, हरी रहेगी धरती

सिटी रिपोर्टर|सीवान

शहर के सुरापुर स्थित इकरा पब्लिक स्कूल में रविवार को विज्ञान प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। इस मौके पर छात्र-छात्राओं ने मॉडल प्रस्तुत किया। इसमें चौथी से लेकर 11वीं तक के बच्चे शामिल हुए। अलग- अलग विषय पर मॉडल प्रस्तुत की गई। इसमें पर्यावरण संरक्षण के साथ ही पानी संरक्षण पर भी मॉडल पेश किया गया। छात्र-छात्राओं ने जिस तरह से मॉडल को पेश किया। इससे लगा कि सचमुच में इस तरह के मॉडल को अगर लागू कर दिया जाए और इस पर हर लाेग जागरूक होकर अमल करना शुरू कर दें तो कई तरह की समस्याएं खत्म हो जाएंगी और इससे कई तरह की बीमारियों से भी बचाव होगा। नौवीं क्लास की छात्रा जेबा, मनीषा, सिद्रा, अलमास, फाजिल, सुल्तान ने खराब पानी को फिल्टर कर उसे उपयोगी बनाने के लिए मॉडल बनाया। इसमें यह दिखाया गया था कि इन दिनों तेजी से पानी का लेयर नीचे जा रहा है। घरों में लगाए गए चापाकल से पानी कम निकलता है। रातभर में चापाकल सूख जाता है। यह सब पानी की बर्बादी से हो रही है। मॉडल के माध्यम से यह दिखाया गया कि किस तरह बेकार पानी को फिल्टर किया जा सकता है और उससे बागवानी, सिंचाई समेत अन्य कई तरह के कार्यों में उपयोग किया जा सकता है। इससे पानी संकट से निजात मिलेगी। छात्रा नगमा, राजिया, नेहा, शमीमा, तमन्ना ने एटीएम पर मॉडल पेश किया। इसमें दिखाया गया कि किस तरह बच्चे भी अगर अपनी सोच को विकसित करेंगे तो टेक्नोलॉजी तैयार कर सकते हैं।

इकरा पब्लिक स्कूल वाटर मैनेजमेंट पर मॉडल प्रस्तुत करती छात्राएं।

स्वच्छता पर दिखाया गया मॉडल

छात्रा नूर फातिमा, जिक्र अजाज, जिक्रा परवीन, खुश्बू फैजा, जैनब आफताब, फातिमा, जारा हैदर ने स्वच्छता पर अपना मॉडल दिखाया। इसमें अपने स्कूल का मॉडल दिखाकर बताया कि स्वच्छता आवश्यक है। इसके लिए सफाई का होना जरुरी है। पौधारोपण भी होना चाहिए। साथ ही कचरा को फेंकने के लिए डस्टबीन भी रखना चाहिए। छात्रा सफक नाज व सना खान ने पर्यावरण में खराब वस्तुओं से भी उपयोगी कर उर्जा बनाने का मॉडल दिखाया। वहीं कई छात्राओं ने प्लास्टिक के उपयोग नहीं करने व उससे होने वाले नुकसान के बारे में मॉडल के माध्यम से बताया। इसमें बताया कि प्लास्टिक के उपयोग से कई तरह की बीमारियां होती है। इससे परहेज करना चाहिए।

पेड़ों की कटाई से पर्यावरण हो रहा प्रदूषित

छात्रा सना, साजिदा, सानिया, तबस्सुम, सानिया परवीन, नेहा परवीन, शबाना ने पर्यावरण पर अपना मॉडल बनाया। इसमें दिखाया गया कि किस तरह तेजी से पर्यावरण प्रदूषित हो रहा है। पेड़ों की कटाई व उद्योग लगने से पर्यावरण प्रदूषित हो रहा है। इसे बचाने के लिए हरियाली आवश्यक है। इससे ग्रीन सिटी की सोच को विकसित करना होगा। स्कूल के नौंवी की छात्रा शमीना आजम, राजिया परवीन, नेहा, तमन्ना व नगमा ने ई कॉमर्स का मॉडल पेश किया। इसमें छात्राओं ने यह दिखाया कि अब ई कॉमर्स के तहत व्यवसाय किया जा सकता है। अब खरीदारी के लिए रुपए की जरूरत नहीं है। इसी के तहत रुपए का भुगतान किया जा सकता है। इसलिए इसे अपनाने से विकास की गति तेज होगी।

मंदिर में स्थापित लिंग। मैरवा का हरेराम ब्रह्मस्थल

1734 में हुई थी स्थापना | बताया जाता है कि 1734 में बाबा को स्थान देते हुए मंदिर की स्थापना की गई। वहां एक पिंड बनाया गया है। ऐसी मान्यता है कि बाबा हरिराम ब्रह्म की पूजा करने से मनोकामनाएं पूरी होती हैं। लोगों का कहना है कि बाबा के पूजन से लक्ष्मी तथा पुत्र दोनों प्राप्त होते हैं। इसी मान्यता के अनुसार रोज बाबा के यहां भक्तों का जमावड़ा लगा रहता है। हर माह की पूर्णिमा के दिन तो बाबा हरिराम बाबा के यहां दुग्धाभिषेक करने वालों की लाइनें रहती हैं। शारदीय तथा चैत्र नवरात्र में बाबा के मंदिर में काफी भीड़ रहती है।

स्वच्छता पर मॉडल दिखाती छात्राएं।

जीएसटी से कालाबाजारी पर लग रही रोक

छात्रा फाजिमा व सानिया ने जीएसटी पर अपना मॉडल दिखाया। इसमें बताया कि जीएसटी से पहले अर्थ व्यवस्था पर किस तरह खराब असर पड़ रहा था। लेकिन, जीएसटी से अर्थव्यवस्था मजबूत हो रही है। इससे कालाबाजारी पर रोक लग रही है। इससे टैक्स की चोरी करना मुश्किल हो गया है। छात्रा फरहाना व शाहीन ने ग्रीन सिटी दिखाया। इसमें बताया कि सोलर से किस तरह ऊर्जा का उपयोग किया जाएगा। इससे वायु प्रदूषण भी नहीं होगा। छात्रा सपना कुमारी, गुलफान नूरी, नाजिया हबीब ने पेयजल संकट पर अपना मॉडल दिखाया। साथ ही दूषित पानी को फिल्टर कर उसे उपयोगी बनाने पर मॉडल पेश किया। बच्चों ने यह बताने की काेशिश की कि आनेवाली पीढ़ी को बेहतर जीवन कैसे दिया जाए।

बेहतर मॉडल बनानेवाली छात्राएं हुईं पुरस्कृत

इकरा पब्लिक स्कूल में लगे विज्ञान प्रदर्शनी में कई अफसरों ने मॉडल का जायजा लिया। इसके बाद छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन आयकर अधिकारी कौशल कुमार ने किया। एडीएम रामानुज, प्रो. अली असगर खान, प्रो. नूर आलम, प्रो. इदरीश, नवनीता घोष, डॉ. एसबी मिश्रा ने मॉडलों की सराहना की। आनंद मेले में व्यंजन का लुत्फ उठाया। मौके पर स्कूल के सचिव एनुल हक, प्राचार्य सगीर आलम, राकेश श्रीवास्तव आदि थे।

मंदिर का इतिहास

किंवदंती है कि बाबा हरिराम ब्रह्म एक भैंस पाले हुए थे। उसी के दूध से ही अपना भरण पोषण करते थे। भैंस की सुंदरता तथा लोकप्रियता को देख कर एक शाही परिवार के राजा ने बाबा से भैंस की मांग की। लेकिन बाबा हरिराम ने भैंस को अपना प्रिय तथा अपने जीवन का आधार मानकर देने से इंकार कर दिया। इस बात से नाराज होकर उस राजा ने भैंस को जबरदस्ती खुलवाकर अपने यहां मंगा लिया। भैंस के वियोग में बाबा ने अपना अन्न जल सब कुछ त्याग दिया। बाबा के प्राण निकलने ही वाले थे कि शाही परिवार की एक महिला ने बाबा के मुख में दूध लाकर पिला दिया। इससे बाबा का क्रोध बढ गया तथा उन्होंने श्राप दिया कि पूरे शाही परिवार का सर्वनाश हो जाएगा। उस लड़की से कहा कि तुमने मुझे बचाने का प्रयास किया है इसलिए पूरे इलाकों में शाही के वंश में बेटियों की ही संतानें चलेंगी। आज भी मैरवा सहित आसपास में कोई भी व्यक्ति स्थानीय निवासी नहीं है।

मकर संक्रांति पर राजद का सामूहिक भोज कल

सीवान| राजद सीवान इकाई की बैठक में मकर संक्रांति के मौके पर भोज कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया गया। भोज 15 जनवरी को जिला कार्यालय व्हाइट हाउस में 11 बजे दिन में होगी। इस दौरान सामूहिक भोज का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम में पूरे परंपरागत व्यंजन दही-चूड़ा आदि परोसे जाएंगे। भोज में महागठबंधन में शामिल सभी दलों के जिले से लेकर पंचायतस्तर तक के कार्यकर्ता व अन्य अतिथि शामिल होंगे। यह जानकारी जिला प्रवक्ता उमेश कुमार ने दी।

रघुनाथपुर से वारंटी को गिरफ्तार कर भेजा जेल

रघुनाथपुर : थाना क्षेत्र से बालपार रकौली गांव से शनिवार की रात्रि एक वारंटी गिरफ्तार को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार वारंटी सुरेंद्र यादव बताया जा रहा है। रघुनाथपुर पुलिस द्वारा वारंटी को उसके घर से गिरफ्तार कर रविवार को न्यायालय के लिए भेज दिया गया।

आपसी विवाद में मारपीट में एक व्यक्ति घायल

सिसवन|
सिसवन थाना क्षेत्र के गंगपुर सिसवन में आपसी विवाद में हुई मारपीट में एक व्यक्ति घायल हो गया। घायल स्थानीय निवासी रामप्रसाद बीन है। घायल का सिसवन रेफरल अस्पताल में इलाज कराया गया। डॉक्टरों का कहना है कि इलाज किया जा रहा है। उसकी स्थिति ठीक है।

समइया का टीजर रिलीज, आज से देखें फिल्म

गोरेयाकोठी। रोहित पांडेय के निर्देशन में बनी शार्ट फिल्म ‘समइया’ का टीजर शनिवार को रिलीज की गई। यह एक ऐसी फिल्म है जो समय के महत्त्व को दर्शाती है। इस छोटी फिल्म में यह दिखाई गई है कि समय रहते न संभले तो, समय साथ नहीं देता, बाकी चीजों से उम्मीद करनी बेमानी है। फिल्म समइया 14 को रिलीज होगी। फिल्म निर्देशक रोहित पांडेय सीवान जिले के रघुनाथपुर प्रखंड के लोहबरा गांव के जयप्रकाश पांडेय के पुत्र हैं। ये आईटी एवं जर्नलिस्ट के क्षेत्र में काम कर चुके हैं। आईटी क्षेत्र के साथियों के साथ मिलकर अच्छे और साफ-सुथरे शार्ट फिल्म बना रहे हैं। अभी तक जितनी भी फिल्में बनी हैं, सभी हिट रहीं। समइया फिल्म समय की महत्ता बतलाती है, आप इसको समय कह लीजिए या वक्त का पहलू ये किसी को न आगे आने देता है न आप इसके आगे आ सकते हैं।

सिर के आंतरिक हिस्से में चोट लगने पर कराएं जांच

सिटी रिपोर्टर|सीवान

शहर के गोशाला रोड़ स्थित मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल श्री साईं हॉस्पिटल में आठवां फर्स्ट एड ट्रेनिंग का आयोजन रविवार को किया गया। इसमें 57 ग्रामीण चिकित्सकों ने भाग लिया।

ट्रेनिंग का विषय था हेड इंज्युरी मरीज का कैसे फर्स्ट एड इलाज करना चाहिए। श्री साई मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल की सर्जन डॉ इंद्रा साहू ने बताया कोई भी हेड इंज्युरी मरीज आपके पास आते हैं तो प्रथम उपचार में किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर रक्त प्रवाह हो रहा हो तो उसे कैसे रोका जाए। ट्रेनिंग के बाद हॉस्पिटल सुपरिंटेंडेंट डॉक्टर के.पी.सिंह द्वारा सभी ग्रामीण चिकित्सकों को फर्स्ट एड सर्टिफिकेट का वितरण किया गया । डॉ. केपी सिंह ने कहा कि सिर मे लगी चोट काफी खतरनाक होती है। सिर में चोट लगने पर कुछ खास बातों पर ध्यान देना आवश्यक है। सिर में लगी चोट दो तरीके की हो सकती है। इसमें सर के बाहरी हिस्से में या सर के आंतरिक हिस्से शामिल है। बचपन में लगी किसी भी प्रकार की चोट सिर्फ हमारे सिर के बाहरी हिस्से को प्रभावित करती है और यह उतनी हानिकारक नहीं होती है। सिर के आंतरिक हिस्से में लगी चोट, इस चोट की तुलना में कहीं ज्यादा हानिकारक होती है । सिर के बाहरी हिस्से में रक्त वाहिनियां फैली होती हैं और इस कारण से िसर में लगी हल्की चोट से भी तुरंत रक्तस्राव होने लगता है।

हेड इंज्युरी पर 57 ग्रामीण डॉक्टरों को मिली ट्रेनिंग

ग्रामीण डॉक्टरों के साथ अस्पताल अधीक्षक व अन्य।

अतिक्रमण तथा उपेक्षा का शिकार

हरिराम ब्रह्म की वजह से पूरे क्षेत्र में मैरवा मशहूर है। यहां प्रतिदिन हजारों श्रद्धालु बाबा के दर्शन तथा पूजन को आते हैं। लेकिन मंदिर क्षेत्र अतिक्रमण तथा उपेक्षा का शिकार है। यहां मंदिर के आस-पास अतिक्रमण होने की वजह से मुख्य मार्ग पतला हो गया है जिससे श्रद्धालुओं को काफी तकलीफों का सामना करना पड़ता है। यह मंदिर प्रशासनिक उपेक्षा का शिकार है। यहां का प्राचीन तालाब गंदगी से भरा हुआ है जहां साफ सफाई की कोई व्यवस्था नहीं है। वहीं दूर से आने वाले यात्रियों के लिए ना तो विश्राम कक्ष की व्यवस्था है ना ही शौचालय और स्नानागार की। वर्तमान में तो मैरवा के एमएलसी वीरेन्द्र नारायण यादव, विधायक रमेश सिंह कुशवाहा से स्थानीय लोगों की उम्मीदें बढ़ी हैं। धाम क्षेत्र से चुनी गईं नगर पंचायत उपाध्यक्ष सुभावती देवी से भी लोगों को हरिराम ब्रह्म के पास विशेष विकास की उम्मीद है।

Mairwa News - the assurances of ministers were met many times but the renovation of the hariram brahmaasthal
Mairwa News - the assurances of ministers were met many times but the renovation of the hariram brahmaasthal
Mairwa News - the assurances of ministers were met many times but the renovation of the hariram brahmaasthal
Mairwa News - the assurances of ministers were met many times but the renovation of the hariram brahmaasthal
X
Mairwa News - the assurances of ministers were met many times but the renovation of the hariram brahmaasthal
Mairwa News - the assurances of ministers were met many times but the renovation of the hariram brahmaasthal
Mairwa News - the assurances of ministers were met many times but the renovation of the hariram brahmaasthal
Mairwa News - the assurances of ministers were met many times but the renovation of the hariram brahmaasthal
Mairwa News - the assurances of ministers were met many times but the renovation of the hariram brahmaasthal
COMMENT