--Advertisement--

जीवन की शुरुआत अग्नि की साक्षी से और अंत भी

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 05:02 AM IST

Patna News - श्री दादीजी सेवा समिति पटना के तत्वावधान में आठ दिवसीय अष्टोत्तरशत श्रीमद्भागवत परायण कथात्मक महायज्ञ के...

Patna News - the beginning of life and the end of the fire
श्री दादीजी सेवा समिति पटना के तत्वावधान में आठ दिवसीय अष्टोत्तरशत श्रीमद्भागवत परायण कथात्मक महायज्ञ के विश्राम दिवस पर पूर्णाहुति हवन यज्ञ और भंडारा में बड़ी संख्या में श्रद्धालु उमड़े। हवन के लिए बने विशाल हवन कुंड में मुख्य यजमान अमर अग्रवाल, ओम पोद्दार सहित एक 108 यजमानों ने एक साथ हवन किया। हवन के बाद आरती हुई और गाजे-बाजे के साथ सभी 108 यजमानों ने अपने अपने सिर पर भागवत रखकर जुलूस के रूप में भागवत धाम से दादी मंदिर वापस आए। हवन के साथ पूर्णाहुति पर शास्त्रोपासक आचार्य डॉ. चंद्रभूषण जी मिश्र ने अग्नि के महत्व को बताया। कहा कि भारतीय परंपरा में अग्नि का विशेष महात्म है। जीवन की शुरुआत अग्नि की साक्षी से है और अंत्येष्टि भी अग्नि से है। स्वाहा और स्वधा के द्वारा हम देवता और पितर तक पहुंच जाते हैं। अग्नि में स्वाहा कहकर जो डाला जाता है, वह परमात्मा को प्राप्त होता है। इसीलिए, सनातन परंपरा में किसी भी अनुष्ठान के बाद हवन का विधान है। हवन करने में जिस मात्रा में तिल डाला जाता है, उसका आधा चावल और चावल के आधा जौ डालने का शास्त्र में विधान है। इन तीनों अनाज से संतान मजबूत एवं संस्कारी होते हैं। इस मौके पर आयोजन समिति के अमर अग्रवाल, ओम पोद्दार, पीके अग्रवाल, राजकुमार अग्रवाल, पवन भगत, प्रदीप पंसारी, निर्मल अग्रवाल, सूर्य नारायण, लक्ष्मण टेकरीवाल, रमेश अग्रवाल, मुकेश हिसारिया, अशोक झुनझुनवाला, संतोष केडिया, नीरज सिंघानिया, श्रवण अग्रवाल, एमपी जैन अादि सक्रिय रहे।

X
Patna News - the beginning of life and the end of the fire
Astrology

Recommended

Click to listen..