कैनवास पर उकेरी गई चिड़िया, डाेली अाैर काेहबर ने रचा समाज का चेहरा

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बिहार की विभिन्न जगहों के 143 पार्टिसिपेंट्स की बनाई डिफरेंट पेंटिंग्स, पेपरमेशी आर्ट और कलाकृतियां दर्शकों को अपनी ओर आकर्षित कर रहीं थीं। दरभंगा, सीतामढ़ी, मधुबनी, सीवान, भागलपुर, आरा, छपरा जैसे जिलों से आए पार्टिसिपेंट्स में किसी ने ऑयल पेंट से पहाड़ बनाया तो किसी ने एक्रेलिक कलर से नदी तो किसी ने गांव का सीन और रविंद्रनाथ टैगोर की तस्वीर। इवेंट था बोरिंग रोड स्थित किताब लेन में परम ट्रिक्स ऑफ आर्टस की ओर से तीन दिवसीय राज्यस्तरीय चित्रकला प्रदर्शनी के दूसरे दिन का। दर्शकों और कलाकारों ने काफी रुचि दिखाई। वे पेंटिंग्स को बहुत ही करीब से निहारते दिखे। इस एग्जीबिशन में 12 तरह के पेंटिंग्स को यूज किया गया था, जिसमें एक्रेलिक, ऑयल, पेंसिल, चारकोल, वैक्स, पेपर, वॉटर कलर जैसे शामिल रहा। खास कर बच्चों की बनाई हुई पेंटिग्स पर लोगों ने आह भरी और कहा कि इनकी बनाई पेंटिंग्स अद्भुत है।

राधे-कृष्ण, कोहबर, डोली, चिड़ियां को मधुबनी पेंटिंग के जरिए दिखाया गया। ये काफी खूबसूरत के साथ ही बिहार की कला को दर्शाया रहा था। चिनमय ने अपनी पेंटिंग में शकुंतला को कैनवास पर ऑयल पेंटिंग के जरिए दिखाया। पटना आर्ट कॉलेज के स्टूडेंट्स ने सैंड एंड ऑयल कलर को मिक्स कर विराट कोहली, अमिताभ बच्चन जैसे सेलिब्रिटी के पोट्रेट को बखूबी दिखाया। अराधना ने पेपरमेशी में रविंद्रनाथ टैगोर को पेपर पल्प से बनाकर दर्शकों की वाहवाही बटोर रहीं थी। संस्था के संस्थापक और डायरेक्टर परम शाह ने बताया कि बच्चों के बनाए गए आर्ट को बढ़ावा देने और बिहार की कला को जीवित रखने के लिए इस तरह की एग्जीबिशन लगाई गई है। आगे इससे बड़े लेवल पर एग्जीबिशन लगाने की तैयारी चल रही है। इस एग्जीबिशन में संस्था की मोना मेहता, कार्तिक सुंदरम, आकाश राज का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

Art Exhibition

खबरें और भी हैं...