जयंती विशेष / जहां जन्म लिया वहीं पांच साल से थाने में कैद है लोकनायक जयप्रकाश की मूर्ति

जेपी के घर का अवशेष। जेपी के घर का अवशेष।
X
जेपी के घर का अवशेष।जेपी के घर का अवशेष।

  • जयप्रकाश नारायण का जन्म बक्सर जिले के सिकरौल लख गांव में हुआ था

दैनिक भास्कर

Oct 11, 2019, 02:58 PM IST

बक्सर. जहां संपूर्ण क्रांति के नायक जयप्रकाश नारायण की पैदाइश हुई वहीं के सिकरौल थाने में उनकी प्रतिमा 5 वर्षों से कैद है। जेपी की प्रतिमा यहां धूल फांक रही है। जेपी के नाम पर राजनीति करने वाले और दरमाहा उठाने वाले को भी इसकी फिक्र नहीं है। लोकनायक जयप्रकाश नारायण का जन्म बक्सर जिले के सिकरौल लख गांव में हुआ था। यह गांव आज पूरी तरह से उपेक्षित है। 

 

वैसे सिकरौल लख गांव में जन्मे बाद में पैतृक  गांव सिताब दियारा से चर्चित होने के साथ ही लोकनायक बन गए। पर जहां उनका जन्म हुआ वहां उनकी प्रतिमा आज तक नहीं लग सकी। तत्कालीन मुखिया वैजनाथ सिंह बताते हैं कि लख के पास मूर्ति लगा दी गई है। 

 

वर्ष 2014 में 8 मार्च को पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव द्वारा अनावरण किया जाना था। लेकिन, जिला प्रशासन ने आचार सहिंता का हवाला देते हुए मूर्ति को जब्त कर लिया । साथ ही इस मामले में अज्ञात पर एफआईआर भी किया गया था। तब से अब तक पांच वर्षों से सिकरौल थाने में ही मूर्ति रखी हुई है। इस घटना के बाद अब तक मूर्ति लगाने की दिशा में किसी ने पहल नहीं की। सिकरौल थानाध्यक्ष आलोक रंजन ने बताया कि जय प्रकाश की प्रतिमा थाने में रखी हुई है।

 

कंटेंट-रविशंकर श्रीवास्तव

 

DBApp

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना