• Hindi News
  • Bihar
  • Patna
  • Siwan News the vaineshwari river has been transformed into a drain and houses have been built and the waste can be seen somewhere

नाले के रूप में तब्दील हो गई वाणेश्वरी नदी, कहीं मकान बन गए, तो कहीं दिख रहा कचरे का टिल्हा

Patna News - सीवान शहर के एक लाख से ज्यादा लोगों के लिए जीवनदायिनी का काम करने वाली बाणेश्वरी दाहा नदी का अस्तित्व वार्ड 8 में भी...

Dec 11, 2019, 09:37 AM IST
Siwan News - the vaineshwari river has been transformed into a drain and houses have been built and the waste can be seen somewhere
सीवान शहर के एक लाख से ज्यादा लोगों के लिए जीवनदायिनी का काम करने वाली बाणेश्वरी दाहा नदी का अस्तित्व वार्ड 8 में भी संकट से जूझ रहा है। इस वार्ड के नवलपुर मोहल्ले से होकर गुजरने वाली नदी उपेक्षा का शिकार है। जिस तरह से नदी के अस्तित्व से खिलवाड़ किया जा रहा है। इससे लगता है कि आने वाले दिनों में शहर के लोगों को अपने किए किए गलत कार्यों पर पछतावा होगा। लेकिन, उस समय तक नदी पूरी तरह सूख गई होगी और उसका दायरा सिमट कर नाले की तरह हो गया होगा। यही वजह है कि नदी के तट से यही पुकार आ रही है कि मुझे बचाओ अन्यथा जब सूख जाउंगी तो जलसंकट से त्रासदी झेलनी पड़ेगी। उस समय पानी नहीं मिलेगी और लोग अपनी प्यास बुझाने के लिए भी खरीदी गई पानी पर निर्भर हो जाएंगे। नवलपुर मोहल्ले से गुजरने वाली नदी का जायजा लिया गया। लेकिन, वहां पर नदी को देखने से ही लग गया कि आसपास के लोग भी दुर्दशा के लिए काफी जिम्मेवार हैं। नगर परिषद भी कम दोषी नहीं है।

नगर परिषद अपनी जिम्मेवारी लेने के लिए तैयार नहीं है। अगर नगर परिषद अपनी जिम्मेवारी लेती तो शायद नदी की हालत में सुधार हो पाती और उसका दायरा कम होने से बच जाता। नदी में सालोंभर काफी पानी रहता। इससे लोग अपनी दिनचर्या में उपयोग करते। लेकिन अब ऐसा नहीं हो रहा है। दाहा नदी पुलवा घाट से दक्षिण दिशा की तरफ नदी जाती है। लेकिन कुछ दूरी के बाद ही यह नदी पश्चिम दिशा की तरफ मुड़ जाती है। इसी स्थान पर नवलपुर पड़ता है। इस मोहल्ले के शुरू होने के साथ ही संकीर्णता देखने को मिल जाती है। नवलपुर मोहल्ले के लोगों के घरों से निकलने वाले गंदा पानी का बहाव भी सीधे दाहा नदी में ही होता है। इस वजह से भी नदी का पानी काफी दूषित हो रहा है। माेहेल्ले के पानी निकासी के लिए नाला बनाकर उसे दाहा नदी से जोड़ दिया गया।

नदियों के अिस्तत्व का ख्याल नहीं रखा गया तो आनेवाले समय में पानी के लिए मचेगा हाहाकार

शहर के नवलपुर मोहल्ले की नाली से बहने वाला घरों का गंदा पानी सीधे दाहा नदी में जाकर गिरता है।

नवलपुर गोलवा घाट का भी हालत खराब:

नवलपुर गोलवा घाट के और पश्चिम भी नदी की हालत खराब है। यहां पर तो माेहल्ले े लोग अपने घरों से निकले हुए कचरा भी फेंकते है। इससे नदी का किनारा पूरी तरह से कचरा से पटा हुआ है। इससे वहां काफी गंदगी दिख रही है और वहां पर जाने लायक भी नहीं है। इस स्थान पर भी नदी के तटाे पर पक्का मकान बना हुआ दिख रहा है। इस तरह यहां पर भी लोग नदी को बचाने का प्रयास नहीं कर रहा है। इस वजह से नदी का बहाव ठीक से नहीं होने से गांवों की तरफ पानी कम जा रहा है। वहीं पानी भी इतना गंदा है कि उसे किसी भी रूप में उपयोग करना ठीक नहीं है। जबकि पहले इस नदी में लोग स्नान करते है। लेकिन अब स्नान करता तो दूर हाथ भी धोना लोग पसंद नहीं कर रहे हैं।

शहर के नवलपुर में नदी के तट पर बनाए गए पक्के मकान।

जमीन नहीं होने के कारण छोटा पड़ गया नवलपुर गोलवा घाट

शहर से कुछ ही दूरी पर नवलपुर गोलवा घाट है। यहां पर प्राइमरी स्कूल दलितोद्वार होकर जाने का रास्ता है। यहां पर नदी के तट पर पक्का घाट तो बना दिया गया है। लेकिन, इसका लाभ ज्यादातर लोगों को नहीं मिल पाता। कारण कि यह काफी छोटा है। घाट के पास ही एक मकान बनाया गया है। वहां पर कुछ जमीन की बाउंड्री करा दी गई है। इस वजह से घाट को चौड़ा और लंबा नहीं किया जा सका। वहां पर मौजूद कुछ लोगों ने बताया कि जब घाट का निर्माण कराया जा रहा था तो कई लोगों ने घाट निर्माण का विरोध किया था। बताया कि वे उनकी खुद की जमीन है। इस वजह से घाट बेहतर ढंग से नहीं बन पाया।

अब नदी किनारे नहीं फेंका जाएगा कचरा

शहर में दाहा नदी की सफाई कराई जाती है। इस साल बरसात में भी नदी में जलकुंभी होने पर सफाई कराई गई थी। अब नदी के किनारे कचरा नहीं फेंका जाता है। नदी को गंदा करनेवालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। - सिंधु सिंह, चेयरमैन, नगर परिषद,

नगर परिषद के कर्मचारी भी डालते हैं कचरा

लोागें ने बताया कि इस नदी के तट पर नगर परिषद के सफाई कर्मचारी भी कचरा गिरा देते हैं। इससे कचरा से नदी का तट भर गया है। साथ ही कई स्थानों पर बड़े टिल्हे के समान हो गया है। यहां का पानी भी काफी गंदा है। अभी नदी में तीन से चार फीट गहरा पानी है। पानी के बहाव की रफ्तार कम हो गई है। इससे लग रहा है कि गर्मी के दिनों में पानी का बहाव और कम हो जाएगा और नदी का पानी और सूखने से लोगों की परेशानी बढ़ेगी। नवलपुर घाट के पास भी नदी के किनारे ही कई घर बने हुए हैं। लेकिन इन घरों के निर्माण पर नगर परिषद रोक नहीं लगा रहा है। इससे भी नदी के अस्तित्व पर संकट उत्पन्न हो रहा है। नवलपुर घाट के दूसरे छोर यानि उत्तर साइड वाले मोहल्ले में भी लोगों द्वारा नदी के जलग्रहण क्षेत्र में कई मकान बनाए गए हैं।

Siwan News - the vaineshwari river has been transformed into a drain and houses have been built and the waste can be seen somewhere
X
Siwan News - the vaineshwari river has been transformed into a drain and houses have been built and the waste can be seen somewhere
Siwan News - the vaineshwari river has been transformed into a drain and houses have been built and the waste can be seen somewhere
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना