--Advertisement--

फ्लैट का होल्डिंग टैक्स जमा करता रहा पीड़ित, जालसाजों ने कराई रजिस्ट्री

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 05:00 AM IST

Patna News - आशियाना रोड स्थित आरटेक अपार्टमेंट के 406 बी नंबर के वन बीएचके फ्लैट का होल्डिंग टैक्स और एनओसी पीड़ित रिटायर बैंक...

Patna News - the victims of the flat tax leakage tax deposited by the fraudsters
आशियाना रोड स्थित आरटेक अपार्टमेंट के 406 बी नंबर के वन बीएचके फ्लैट का होल्डिंग टैक्स और एनओसी पीड़ित रिटायर बैंक मैनेजर अनिल प्रेम प्रकाश मिंज के नाम है। जालसाजों ने फर्जी कागज के आधार पर 2017 में ही फ्लैट का रजिस्ट्रेशन करवा लिया था, लेकिन निगम में होल्डिंग टैक्स और एनओसी लेने के मामले में वे चूक गए। जिसका फायदा पीड़ित को मिला। जालसाजी के शिकार होने के बाद भी पीड़ित अपने फ्लैट का होल्डिंग टैक्स निगम में जमा करता रहा।

25 साल से पीड़ित जमा कर रहा है होल्डिंग टैक्स

अनिल प्रेम प्रकाश मिंज 25 साल से नगर निगम में होल्डिंग टैक्स जमा कर रहे हैं। 1993 में होल्डिंग टैक्स के रूप में उन्हें हर साल लगभग 300 रुपए जमा करने पड़ते थे। 1998 में ये रकम बढ़कर 477 रुपए हो गई। नगर निगम में अनिल प्रेम प्रकाश मिंज का नाम करदाता संख्या 531/5 रूप में दर्ज हैं। 1998 तक हर तिमाही टैक्स जमा होता था। बाद में निगम में बदलाव के बाद करदाता वार्षिक पैसा जमा करने लगे। 2017-18 में अनिल प्रेम प्रकाश मिंज को होल्डिंग टैक्स के रूप में हर माह 462 रुपए जमा करने पड़ते थे। उन्होंने 20 अप्रैल 2018 को होल्डिंग टैक्स के रूप में न्यू कैपिटल सर्किल में 6825 रुपए जमा किए थे।

जानकारी के मुताबिक जालसाजों ने 2017 में दिसंबर में फर्जी कागज के आधार पर फ्लैट की रजिस्ट्री इलाहाबाद बैंक मैनेजर के नाम करवा दिया था। इस दौरान नगर निगम में होल्डिंग टैक्स के कागज में कोई फर्जीवाड़ा नहीं हो सका, जिसका फायदा अनिल प्रेम प्रकाश मिंज को मिला।

नगर निगम ने पीड़ित को दिया था फ्लैट का एनओसी

अनिल मिंज 1992 पीएनबी से 1.50 लाख रुपए लोन लेकर आरटेक अपार्टमेंट में वन बीएचके फ्लैट लिया था। लोन लेने के कारण फ्लैट के इकरारनामा में भी उसका उल्लेख हुआ था। 2015 में बैंक से वीआरएस लेने के बाद रिटायरमेंट में मिले पैसे से उन्होंने लोन चुका दिया। इसके बाद अपार्टमेंट के डायरेक्टर से फ्रेश कागज की मांग की। डायरेक्टर ने बैंक के कागज के साथ ही नगर निगम से भी एनओसी लाने को कहा। अनिल मिंज ने नगर निगम में 2015 दिसंबर में एनओसी के लिए अप्लाई किया। अनिल मिंज के लगातार प्रयास के बाद नगर निगम ने उन्हें 2017 में फ्लैट का एनओसी दिया।

X
Patna News - the victims of the flat tax leakage tax deposited by the fraudsters
Astrology

Recommended

Click to listen..