विज्ञापन

भाषणों में दिखाना होगा टॉलरेंस

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 04:41 AM IST

Patna News - लोकसभा चुनाव की घोषणा हो चुकी है। राजनीतिक दलों के दिग्गज नेता भी मैदान में हैं। लेकिन चुनाव की घोषणा के पहले नेता...

Patna News - tolerance to be displayed in speeches
  • comment
लोकसभा चुनाव की घोषणा हो चुकी है। राजनीतिक दलों के दिग्गज नेता भी मैदान में हैं। लेकिन चुनाव की घोषणा के पहले नेता जिस रफ्तार से विरोधियों पर हमले का स्तर गिराए जा रहे थे। अब नहीं चलने वाला। अब उन्हें हर शब्द फूंक-फूंक कर ही बोलने होंगे। माना जा रहा है कि इस बार के चुनाव में दलों के नेताओं के बीच भाषण के दौरान आरोप-प्रत्यारोप की तल्खी और बढ़ेगी। पिछले चुनाव की तरह चुनाव आयोग ने इस बार के लोकसभा चुनाव में भी चुनावी भाषणों की मॉनिटरिंग शुरू कर दी है। हाल के दिनों में राजनीतिक दलों के बीच भाषणों के दौरान जिस तरह की तल्खी बढ़ी है उससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि चुनावी सभाओं में तापमान चरम पर होगा। आरोपों की झड़ी लगेगी। वर्ष 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान चुनाव आयोग ने चुनावी भाषणों के गिरते स्तर पर गंभीर चिंता व्यक्त की थी। आयोग ने इसे आपसी घृणा और विद्वेष फैलाने वाला मानते हुए राजनीतिक दलों के लिए पालन किए जाने वाले आदर्श आचार संहिता के प्रतिकूल माना था। आयोग ने राजनीतिक दलों और सभी जिलों के जिला निर्वाचन पदाधिकारी को नए सिरे से एडवायजरी(सलाह) जारी की थी। आयोग ने तल्ख टिप्पणी करते हुए कहा था कि भारत के संविधान की धारा 19(1) (ए) के तहत दिए गए भाषा और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का मौलिक अधिकार एब्सैल्यूट नहीं है।

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता कोई निरपेक्ष चीज नहीं है। 2015 के चुनाव के दौरान चुनाव आयोग ने चुनावी भाषणों के गिरते स्तर पर गंभीर चिंता व्यक्त की थी। इस बार भी उसकी नजर रहेगी।

पिछली बार भी आयोग ने दी थी एडवायजरी

गौरतलब है कि आयोग ने इसके पहले भी सभी राजनीतिक दलों को एडवायजरी जारी की थी। बावजूद इसके राजनेताओं के विवादित बयान आ रहे थे। आयोग के सूत्रों की मानें तो इस बार के लोकसभा चुनाव में भाषणों में मर्यादा बनी रहे इसको ध्यान में रखकर राजनीतिक दलों के नेताओं के भाषणों पर विशेष नजर है।

X
Patna News - tolerance to be displayed in speeches
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन