स्टूडेंट्स को समय के सदुपयोग के लिए यूजीसी ने सुझाए ऑनलाइन प्लेटफॉर्म, मिलेगा ई-कंटेंट

Patna News - कोरोना वायरस की महामारी के दौरान 14 अप्रैल तक देश में लॉकडाउन है। अगर वायरस का खतरा न होता तो, देश के...

Mar 27, 2020, 07:56 AM IST

कोरोना वायरस की महामारी के दौरान 14 अप्रैल तक देश में लॉकडाउन है। अगर वायरस का खतरा न होता तो, देश के विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में पढ़ाई और परीक्षाओं का वक्त था। ऐसे में यूजीसी ने शैक्षणिक कार्यों में लगे शिक्षकों, रिसर्च स्कॉलर्स और विद्यार्थियों को इस लॉकडाउन में भी समय के सदुपयोग के मॉड्यूल सुझाया है। ऑनलाइन प्लेटफॉर्म बताए हैं। केंद्रीय मानव संसाधन विकास विभाग द्वारा कई ऐसे प्लेटफॉर्म पहले से ही संचालित हो रहे हैं जहां विद्यार्थी ई-कंटेंट एक्सेस कर सकते हैं, उनका इस्तेमाल कर सकते हैं। लेकिन जानकारी के अभाव और जरूरत की कमी के कारण यह अब तक देशव्यापी स्तर पर प्रभावी नहीं हो सका था। अब यूजीसी ने लॉकडाउन में इन प्रयोगों को पूरे देश के विद्यार्थियों तक पहुंचाने का प्रयास शुरू किया है। यूजीसी ने डिजिटल प्लेटफॉर्म पर मौजूद कोर्सों के उपयोग की सलाह दी है।

उपलब्ध डिजिटल प्लेटफॉर्म


1. स्वयम ऑनलाइन कोर्सेज : इस प्लेटफॉर्म पर इंजीनियरिंग, नॉन इंजीनियरिंग, सेकेंडरी, सीनियर सेकेंडरी, एनसीईआरटी टेक्स्ट बुक्स के साथ प्रोग्रामिंग, रोबोटिक्स, वर्चुअल साइंटिफिक एक्सपेरिमेंट्स, एजुकेशनल सॉफ्टवेयर्स के बारे में जानकारी मिलती है। इसके लिए http://storage.googleapis.com/uniquecourses/online.html पर लॉगिन करना है।

2. यूजी-पीजी मूक कोर्सेज : ऑनलाइन मोड में पोस्ट ग्रेजुएट स्तर के 86 और अंडर ग्रेजुएट स्तर के 222 मूक कोर्सेज उपलब्ध हैं। इन्हें एक्सेस करने के लिए http://ugcmoocs.inflibnet.ac.in/ugcmoocs/moocs_courses.php पर लॉगिन करना है।

3. ई-पीजी पाठशाला : सोशल साइंस, आर्ट्स, फाइन आर्ट्स, ह्यूमैनिटीज, नेचुरल एंड मैथेमेटिकल साइंस के लगभग 70 पोस्ट ग्रेजुएट पाठ्यक्रमों के 23 हजार मॉड्यूल इस प्लेटफॉर्म पर मौजूद हैं। इसे https://epgp.inflibnet.ac.in/ पर एक्सेस कर सकते हैं।

4. ई-कंटेंट कोर्सवेयर इन यूजी सब्जेक्टस : 87 अंडर ग्रेजुएट के 24110 मॉड्यूल का ई-कंटेंट http://cec.nic.in/ पर मौजूद है।

5. स्वयमप्रभा : https://swayamprabha.gov.in/ 32 डीटीएच चैनलों का ऐसा ग्रुप है जहां आर्ट्स, साइंस, सोशल साइंस, ह्यूमैनिटीज, परफॉर्मिंग आर्ट्स आदि सभी फैकल्टीज के ऑनलाइन वीडियोज अवेलेबल हैं।

6. यूट्यूब : यहां भी एजुकेशनल लेक्चर्स अपलोड हैं, जिसे https://www.youtube.com/user/cecedusat पर एक्सेस किया जा सकता है।

7. नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी : स्कूल एजुकेशन से लेकर इंजीनियरिंग, अंडर ग्रेजुएट नॉन इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट, लॉ सभी प्रकार के कोर्सेज की किताबें नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी में है, जिसे https://ndl.iitkgp.ac.in/ पर एक्सेस कर सकते हैं।

8. शोधगंगा : रिसर्च स्कॉलर्स के लिए यह एक उपयुक्त माध्यम है, अलग अलग शोध को स्टडी करने का। https://shodhganga.inflibnet.ac.in/ पर 2.60 लाख इलेक्ट्रॉनिक थीसिस उपलब्ध हैं।

9. ई-शोध सिंधु : ऑनलाइन जर्नल्स का सबसे बड़ा विश्वसनीय प्लेटफॉर्म बन चुका है ई-शोध सिंधु। इसमें https://ess.inflibnet.ac.in/ पर 15 हजार करोड़ से अधिक जर्नल्स मिल सकते हैं।

10. विद्वान : ई-लर्निंग में एक बड़ी बाधा एक्सपर्ट्स के व्यू की है जो https://vidwan.inflibnet.ac.in/ पर दूर होती है। यह एक्सपर्ट्स का डाटाबेस है, जिससे स्टूडेंट्स अपने एक्सपर्ट्स से सीधे कांटेक्ट के माध्यम ढूंढ सकते हैं।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना