विज्ञापन

अनियंत्रित मधुमेह व उच्च रक्तचाप किडनी की बीमारी का मुख्य कारण

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 04:46 AM IST

Patna News - पटना| अनियंत्रित मधुमेह और उच्च रक्तचाप किडनी की बीमारी का मुख्य कारण है। इसके अलावा दर्द की दवाएं किडनी पर असर...

Patna News - uncontrolled diabetes and hypertension are the main cause of kidney disease
  • comment
पटना| अनियंत्रित मधुमेह और उच्च रक्तचाप किडनी की बीमारी का मुख्य कारण है। इसके अलावा दर्द की दवाएं किडनी पर असर डालती हैं। इसलिए मधुमेह और बीपी के मरीज को इन दोनों को हर हाल में नियंत्रित रखना चाहिए। दर्द की दवा डॉक्टर की सलाह के बिना नहीं लेनी चाहिए।

यह कहना है पहल के चिकित्सा निदेशक डॉ. दिवाकर तेजस्वी का। वे पहल की ओर से आयोजित किडनी जांच शिविर में लोगों को संबोधित कर रहे थे। शिविर में किडनी की जांच मुफ्त की गई। डॉ. तेजस्वी ने कहा कि शुगर और बीपी की नियमित जांच कराते रहना चाहिए। शुगर को साइलेंट किलर कहा जाता है। बीपी हर हाल में 130 बाई 80 से अधिक नहीं होना चाहिए। यदि इससे अधिक बीपी रहता है तो इसका प्रतिकूल असर किडनी पर पड़ता है। उन्होंने कहा कि बुजुर्ग लोगों में प्रोस्टेट ग्रंथि बढ़ने की आशंका अधिक होती है और इससे पेशाब करने में रुकावट आने लगती है। समय पर इलाज नहीं कराने पर किडनी की बीमारी होने की आशंका बढ़ जाती है। उन्होंने कहा कि सामान्य से कम पेशाब आना, पैर, चेहरा व आंखों के चारों तरफ सूजन, अधिक नींद आना, भूख कम लगना, मितली व उल्टी आना, कमजोरी लगना, थकान होना, शरीर में खून की कमी, कम उम्र में उच्च रक्तचाप, ब्लड प्रेशर का घटते-बढ़ते रहना, भूख नहीं लगना, वजन कम होना आदि किडनी की बीमारी के मुख्य लक्षण हैं। किडनी की बीमारी से पीड़ित लोगों को नमक व प्रोटीन का सेवन कम करना चाहिए। इसके अलावा धूम्रपान से परहेज करना चाहिए।

X
Patna News - uncontrolled diabetes and hypertension are the main cause of kidney disease
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन