बिहार / मानसून की बारिश से उफनाई नदियां, खतरे के निशान के करीब पहुंची कोसी



कोसी नदी खतरे के निशान के बेहद करीब पहुंच चुकी है। कोसी नदी खतरे के निशान के बेहद करीब पहुंच चुकी है।
बगहा के सेमरा के तरुआनवा के पास दोन नहर का बांध टूट गया। बगहा के सेमरा के तरुआनवा के पास दोन नहर का बांध टूट गया।
अररिया में नदी का पानी घरों में घुसने लगा है। अररिया में नदी का पानी घरों में घुसने लगा है।
बागमती के जलस्तर में बढ़ोतरी से बेनीपुर में बना काफर बांध टूट गया। बागमती के जलस्तर में बढ़ोतरी से बेनीपुर में बना काफर बांध टूट गया।
बागमती नदी में पानी बढ़ने के चलते मुजफ्फरपुर के कटरा में पीपा पुल बह गया। बागमती नदी में पानी बढ़ने के चलते मुजफ्फरपुर के कटरा में पीपा पुल बह गया।
मुजफ्फरपुर के कटरा में बसघट्टा डायवर्सन ध्वस्त होने के चलते दर्जनों गांव का संपर्क प्रखंड मुख्यालय से कट गया। मुजफ्फरपुर के कटरा में बसघट्टा डायवर्सन ध्वस्त होने के चलते दर्जनों गांव का संपर्क प्रखंड मुख्यालय से कट गया।
X
कोसी नदी खतरे के निशान के बेहद करीब पहुंच चुकी है।कोसी नदी खतरे के निशान के बेहद करीब पहुंच चुकी है।
बगहा के सेमरा के तरुआनवा के पास दोन नहर का बांध टूट गया।बगहा के सेमरा के तरुआनवा के पास दोन नहर का बांध टूट गया।
अररिया में नदी का पानी घरों में घुसने लगा है।अररिया में नदी का पानी घरों में घुसने लगा है।
बागमती के जलस्तर में बढ़ोतरी से बेनीपुर में बना काफर बांध टूट गया।बागमती के जलस्तर में बढ़ोतरी से बेनीपुर में बना काफर बांध टूट गया।
बागमती नदी में पानी बढ़ने के चलते मुजफ्फरपुर के कटरा में पीपा पुल बह गया।बागमती नदी में पानी बढ़ने के चलते मुजफ्फरपुर के कटरा में पीपा पुल बह गया।
मुजफ्फरपुर के कटरा में बसघट्टा डायवर्सन ध्वस्त होने के चलते दर्जनों गांव का संपर्क प्रखंड मुख्यालय से कट गया।मुजफ्फरपुर के कटरा में बसघट्टा डायवर्सन ध्वस्त होने के चलते दर्जनों गांव का संपर्क प्रखंड मुख्यालय से कट गया।

  • नेपाल में भी भारी बारिश हो रही है, जिसके चलते कोसी खतरे के निशान के करीब पहुंची
  • महानंदा और भुतही बलान नदी भी खतरे के निशान के पास

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2019, 02:30 PM IST

पटना. एक सप्ताह से जारी मानसून की बारिश के चलते बिहार की नदियां उफना गईं हैं। नेपाल में भी भारी बारिश हो रही है, जिसके चलते कोसी खतरे के निशान के करीब पहुंच गई है। बागमती, लालबकेया और कमला बलान नदी का जल स्तर खतरे के निशान को पार कर गया है। महानंदा और भुतही बलान नदी भी खतरे के निशान के पास है। मुजफ्फरपुर के बेनीपुर में दक्षिणी उपधारा के पास काफर बांध टूट गया है। 

 

कोसी बराज से छोड़ा गया डेढ़ लाख क्यूसेक पानी
नेपाल के तराई क्षेत्र में लगातार हो रही बारिश से कोसी नदी का डिस्चार्ज बढ़ गया है। गुरुवार की शाम 4 बजे कोसी बराज से 1 लाख 56 हजार 110 क्यूसेक पानी छोड़ा गया। खगड़िया में कोसी खतरे के निशान के बेहद करीब पहुंच चुकी है। कोसी का जलस्तर डेंजर जोन 47.750 मीटर के करीब 46.750 मीटर दर्ज किया गया। 

 

बगहा: दोन नहर का बांध टूटा, कई गांवों पर खतरा
पश्चिमी चंपारण जिले के बगहा में जंगली नदी झिकरी का पानी दोन नहर में गिरने व तेज बहाव से सेमरा के तरुआनवा के पास नहर का बांध टूट गया। नहर के पास पड़ने वाले गांव बरवा खुर्द, बिनवलिया, नौतनवा पर बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है।

 

अररिया: जलस्तर बढ़ने से गांवों में घुसने लगा पानी
अररिया में परमाण, बकरा, नुना, भलुआ और घाघी नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ा है। इन नदियों में जलस्तर बढ़ने से अररिया प्रखंड क्षेत्र के उत्तरी पूरब इलाके के कुछ गांव में पानी प्रवेश कर गया है। कोसी नदी में लगातार पानी बढ़ने के बाद 10 गांवों में पानी फैलने लगा है। छतौनी गांव समेत गोबरगाढ़ा, लौकहा, चांदपीपर, टेढ़ी, परवाहा, दुबियाही, धरहरा, डलवा, लक्ष्मीपुर गांव में कई लोगों के घर में पानी घुस गया है। इतना ही नहीं, खेतों में लगी फसल भी पानी में पूरी तरह डूब गई है।


औसत से कम हुई है मानसून की बारिश
बिहार में अभी तक मानसून की बारिश औसत से कम हुई है। पटना में अभी तक 206 मिमी बारिश हुई है। यह औसत से 16 मिमी कम है। पिछले साल अब तक 196 मिमी बारिश हुई थी। भागलपुर में अभी तक 301.4 मिमी बारिश हुई है। यह औसत से 13 मिमी कम है। इसी तरह मुजफ्फरपुर में अब तक 193.9 मिमी बारिश हुई है। यहां औसत से 79.3 मिमी बारिश अधिक हुई है।

COMMENT