कवायद / गंगा का पानी पटना से गया, राजगीर और नवादा तक पहुंचाने के लिए जल्द बिछेगी 190 किमी पाइपलाइन



Water Resources Department gave a presentation
X
Water Resources Department gave a presentation

  • जल संसाधन विभाग ने दिया प्रेजेंटेशन
  • मुख्यमंत्री ने कहा- लोगों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराना ही हमारा लक्ष्य

Dainik Bhaskar

Oct 16, 2019, 07:12 AM IST

पटना. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि हमारा लक्ष्य लोगों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराना है। गया और राजगीर में भूजल स्तर में गिरावट आई है। वहां गंगा के पानी की पेयजल के रूप में जल्द से जल्द आपूर्ति शुरू की जानी चाहिए, ताकि लोगों को पीने के पानी के संकट का सामना नहीं करना पड़े। मंगलवार को मुख्यमंत्री के समक्ष 1, अणे मार्ग स्थित संकल्प में जल संसाधन विभाग ने अपनी योजना का प्रेजेंटेशन दिया।  

 

इस वाटर प्रोजेक्ट के लिए सड़क के किनारे-किनारे पानी ले जाया जाएगा। इसके लिए 190.90 किलोमीटर लंबी पाइप लाइन बिछाई जाएगी। हाथीदह से सरमेरा, बरबीघा और गिरियक तक पाइप जाएगी। एक पाइप लाइन गिरियक से राजगीर, जबकि दूसरी पाइप लाइन नवादा जाएगी। पाइप लाइन गिरियक से वाणगंगा होते हुए तपोवन, जेठियन और दशरथ मांझी होते हुए मानपुर पहुंचेगा। बैठक में कृषि मंत्री प्रेम कुमार, जल संसाधन मंत्री संजय झा, मुख्य सचिव दीपक कुमार, विकास आयुक्त अरुण कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, प्रधान सचिव वित्त डॉ.एस. सिद्धार्थ, जल संसाधन सचिव संजीव कुमार हंस, मुख्यमंत्री के सचिव मनीष कुमार वर्मा और अनुपम कुमार सहित अन्य अधिकारी और जल संसाधन विभाग के इंजीनियर मौजूद थे।
 

तेलंगाना, अाेडिशा व यूपी में ड्रिंकिंग वाटर प्रोजेक्ट का अध्ययन 
जल संसाधन सचिव संजीव कुमार हंस ने गंगा के पानी को पेयजल के रूप में राजगीर, नवादा और गया तक पाइप लाइन के संबंध में बताया कि ड्रिंकिंग वाटर के लिए 90 एमसीएम तक स्टोरेज की व्यवस्था की जाएगी। टाउन वाइज सेलेक्टेड स्टोरेज टैंक भी बनाया जाएगा। इस प्रोजेक्ट को तीन फेज में पूरा किया जाएगा। अधिकारियों के एक दल ने तेलंगाना, अाेडिशा और यूपी जाकर ड्रिंकिंग वाटर प्रोजेक्ट का भी सर्वेक्षण किया। मुख्यमंत्री के समक्ष एक फिल्म के माध्यम से पाइपलाइन और स्टोरेज प्वाइंट को दिखाया गया।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना