--Advertisement--

शिकंजा / जुर्म से अर्जित 500 करोड़ की संपत्ति की जाएगी जब्त, चिह्नित किए जा रहे ‘धनवान’ बने अपराधी



'wealthy' culprit being tagged
X
'wealthy' culprit being tagged
  • काले धन पर कानूनी प्रहार तेज करने को ईओयू व ईडी ने बनाई रणनीति
  • अवैध संपत्ति से जुड़े 125 मामलों में हो रही जांच
  • अर्जित संपत्ति में जमीन, मकान, बिजनेस, होटल से लेकर गाड़ी व बैंक एकाउंट में जमा राशि तक शामिल
  • सबूतों के आधार पर प्रिवेंशन ऑफ मनी लाउंड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत संपत्ति की जाएगी जब्त

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2018, 05:17 AM IST

पटना. पुलिस व अन्य एजेंसियों के स्तर पर ‘धनवान’ अपराधी या नक्सली को चिन्हित किया जा रहा है। मकसद है उनकी आर्थिक रीढ़ भी तोड़ना। इसी कड़ी में राज्य के गैंगस्टर से लेकर नक्सलियों तक की 500 करोड़ से अधिक की संपत्ति जब्त करने की तैयारी है। इसके लिए ईओयू व ईडी ने मिल कर काले धन पर कानूनी प्रहार तेज करने को खास रणनीति बनाई है।

 

दरअसल, अपराधी, नक्सली, सफेदपोश घोटालेबाज आदि की अवैध संपत्ति को लेकर ईओयू (आर्थिक अपराध इकाई) द्वारा करीब 125 प्रस्ताव ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) को भेजे जा चुके हैं। संबंधित संपत्ति की मार्केट वैल्यू अभी 500 करोड़ से अधिक है। इनमें जमीन, मकान, बिजनेस, होटल से लेकर गाड़ी व बैंक एकाउंट में जमा राशि तक शामिल हैं। इन मामलों की जांच ईडी के स्तर पर चल रही है।

 

आने वाले दिनों में सबूतों के आधार पर प्रिवेंशन ऑफ मनी लाउंड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत अवैध संपत्ति को जब्त किया जाएगा। इसी कड़ी में पिछले सप्ताह ईडी ने समस्तीपुर खासकर रोसड़ा का आतंक रहे अशोक यादव (पूर्व मुखिया) की 10 करोड़ से अधिक की संपत्ति जब्त की थी। फिलहाल अशोक यादव की पत्नी विभा देवी बिथान प्रखंड की प्रमुख है।

 

अपराधियों की अवैध संपत्ति की सूचना दें, ईओयू इनाम देगी : रंगदारी-लेवी या जुर्म के जरिए संपत्ति हासिल करने वालों की खैर नहीं। ईओयू मुख्यालय ने लोगों से अनुरोध किया है कि अपराध के जरिए संपत्ति बनाने वालों की सूचना दें। ईओयू के एडीजी जेएस गंगवार के मुताबिक सूचना-मामला सही होने पर ईओयू की ओर से ईनाम भी दी जाएगी आैर संबंधित लोगों के नाम गुप्त रखे जाएंगे।

 

यहां दे सकते हैं जानकारी 

 

एडीजी (ईओयू)  : डॉ. श्रीकृष्ण सिंह पथ, बेली रोड (आईपीएस मेस के पास), पटना

टेलीफोन नंबर : 06122217829

फैक्स नंबर : 2215553

ईमेल आइडी :  igecooffence-bih@nic.in

 

अपराध से अर्जित काले धन पर नजर है। उन अपराधियों को चिन्हित किया जा रहा है, जिन्होंने अपराध के जरिए लाखों-करोड़ों की संपत्ति अर्जित की है। अवैध संपत्ति का पता चलने पर आगे की कार्रवाई के लिए ईडी को प्रस्ताव भेजा जाएगा।- जेएस गंगवार, एडीजी (ईओयू)

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..