Hindi News »Bihar »Patna» Woman Committed Suiside

बादल गरजने के डर से नींद से उठी मासूम, कमरे के पास जाकर देखा तो फंदे पर झूल रही थी मां

परिजनों का आरोप सीडीपीओ की प्रताड़ना से तंग आकर की आत्महत्या

Bhaskar News | Last Modified - Apr 12, 2018, 08:01 AM IST

  • बादल गरजने के डर से नींद से उठी मासूम, कमरे के पास जाकर देखा तो फंदे पर झूल रही थी मां
    +2और स्लाइड देखें
    शव के पास बैठी मासूम बेटी व बिलखती मां।

    किशनगंज(पटना).बिजली की चमक और बादल के गरजने की आवाज सुनकर सहमते हुए नींद से जगी छह वर्षीय मासूम प्राची सिंह पास के कमरे में रोती हुई अपनी मां के पास गई। वहां जाकर देखा कि उसकी मम्मी पंखे से लटकी है। वो भागकर नानी के कमरे में गई और उसे जगाया। वृद्ध नानी भागकर अपनी बेटी के कमरे में पहुंची तो देखा उसकी बेटी महिला पर्यवेक्षिका पल्लवी कुमारी (35) का शव पंखे से लटक रहा है। माजरा देखकर वो चीखते हुए वहीं बेहोश होकर गिर गई। तब तक घर के अन्य सदस्य जग गए। मृतका ने आत्महत्या के पूर्व सुसाइड नोट लिख छोड़ा है जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया है। ये था मामला...

    एलएस पल्लवी कुमारी की मौत के कारणों का खुलासा तो जांच के बाद होगा लेकिन फिलहाल मृतका के मौत के बाद मिले सुसाइड नोट और पूर्व में अपने ही ठाकुरगंज सीडीपीओ शशिकला सिंह को परिजन इसका कारण मान रहे हैं। मृतक महिला के कमरे से मिला सुसाइड नोट में उल्लेख किया गया कि सीडीपीओ के प्रताड़ना से वो तंग आ चुकी थी। परिजनों ने कहा कि पल्लवी बताती थी कि वो जब जब कुछ अच्छा करने की कोशिश करती थी तो प्रेशर डाला जाता था।

    ‘सीडीपीओ के कारण पूरे जिले में चर्चा का विषय बन गई’

    पल्लवी कुमारी के पास से पुलिस को तीन अलग-अलग सुसाइड नोट मिले हैं। जिनमें से दैनिक भास्कर के पास एक सुसाइड नोट की कॉपी है। सुसाइड नोट में पल्लवी ने लिखा है कि सीडीपीओ शशिकला के कारण मैं पूरे जिले में चर्चा का विषय बन गई थी। हर कोई मेरे चरित्र पर छींटाकशी कर रहा था। श्रीमान (एसपी) से निवेदन है कि जांच के नाम पर परेशान न किया जाए। मेरे परिवार के लोगों के साथ, जो भी मेरा सहयोग दे रहे थे, उन्हें काफी परेशान किया जा चुका है।

    दो घंटे तक की सड़क जाम

    लोगों ने आक्रोश में शव को सड़क पर रखकर रोड जाम कर दिया। लगभग दो घंटे तक रुईधासा कलटैक्स चौक रोड जाम रहा। मौके पर मौजूद एसडीएम मो. शफीक, एसडीपीओ कामिनी बाला, बीडीओ ओम प्रकाश, सीओ रमण कुमार सिंह, सर्किल इंस्पेक्टर पी के राय, थानाध्यक्ष आफताब अहमद परिजनों व आक्रोशित लोगों को समझाने का प्रयास करते रहे। वहां पहुंचे जदयू विधायक मुजाहिद आलम ने इसे जिला प्रशासन की लापरवाही के कारण हुई मौत बताया। अंतत: दोषी पर विधिसम्मत कार्रवाई के आश्वासन के बाद लोग माने।

    पल्लवी को हटाने की हुई थी एक तरफा कार्रवाई

    19 मार्च 2018 को जिलाधिकारी की अध्यक्षता में बैठक हुई। जिलांतर्गत पदस्थापित एवं कार्यरत महिला पर्यवेक्षिकाओं को पुन: अनुबंध बढाने पर मंथन किया गया था। इसी बैठक में महिला पर्यवेक्षिका पल्लवी के अतिरिक्त पूजा कुमारी, प्रतिभा कुमारी पर भी चर्चा हुई। प्रतिभा कुमारी पर आरोप था कि मातृत्व अवकाश के बाद भी योगदान नहीं किया। वहीं पूजा कुमारी पर दो महीने तक योगदान नहीं करने का आरोप था। इतने के बावजूद इन पर कार्रवाई नहीं हुई और इन्हें बहाल कर दिया गया। लेकिन दिघलबैंक की सीडीपीओ शशिकला द्वारा किए गए अनुशंसा पर पल्लवी के खिलाफ कार्रवाई कर दी गई।

    प्रताड़ना से बचने के लिए ट्रांसफर लिया तो उसी जगह सीडीपीओ का तबादला भी हो गया

    सीडीपीओ शशिकला से पल्लवी क्यों मुक्त होना चाहती थी? प्रशासन ने इसकी जांच करने की जहमत नहीं उठाई। ठाकुरगंज में पदस्थापित पल्लवी अन्य कई महिला पर्यवेक्षिका ने डीएम को आवेदन देकर अन्यत्र तबादले की गुहार लगाई थी। डीएम ने भी पल्लवी का तबादला दिघलबैंक कर दिया। संयोग ऐसा कि दिघलबैंक के सीडीपीओ का तबादला हुआ और वहां का प्रभार भी ठाकुरगंज सीडीपीओ शशिकला को मिल गया। फिर पल्लवी पर प्रताड़ना का दौड़ शुरू हो गया। पल्लवी ने शिकायत की तो उसके ऊपर थाने में एससी/एसटी एक्ट का मामला दर्ज करवा दिया गया।

    सीडीपीओ शशिकला सिंह का मिला मोबाइल बंद

    पूरे मामले में सीडीपीओ शशिकला सिंह से प्रतिक्रिया लेने की कोशिश की गई। बार-बार उनके मोबाइल नंबर पर संपर्क करने का प्रयास किया गया, लेकिन हर बार उनका मोबाइल स्विच ऑफ मिला।

    सीडीपीओ की करतूत सरकार तक पहुंचाएंगे : विधायक

    जदयू विधायक मुजाहिद आलम ने कहा कि सुसाइड नोट से सब साफ है। सीडीपीओ की करतूत की जानकारी सरकार को देंगे। अगर कार्रवाई होती तो महिला की जान नहीं जाती। इस घटना का जिम्मेवार जिला प्रशासन के अधिकारी हैं।

    सीडीपीओ पर लगे आरोप की जांच की जा रही है
    डीएम पंकज दीक्षित ने कहा कि सारे प्रकरण की जांच का आदेश दे दिया गया है। पल्लवी की सीडीपीओ को लेकर की गई शिकायत की जांच जारी है। शशिकला के ऊपर लगे आरोप से संबंधित कागजात अाईसीडीएस विभाग को भेज दिया गया है।

    एसपी राजीव मिश्रा बोले-हर बिंदु पर की जा रही है जांच

    पुलिस अधीक्षक राजीव मिश्रा ने कहा कि मामला दर्ज कर लिया गया है। सुसाइड नोट में दो तरह की बातें सामने आ रही है। जिसका खुलासा किन्हीं कारणों से हम अभी नहीं कर सकते। हम हर बिंदु पर जांच कर रहे हैं। एसएचओ को सभी बिंदुओं पर जांच कर विधिसम्मत कार्रवाई का निर्देश दिया गया है।

  • बादल गरजने के डर से नींद से उठी मासूम, कमरे के पास जाकर देखा तो फंदे पर झूल रही थी मां
    +2और स्लाइड देखें
    मौके से मिला सुसाइड नोट
  • बादल गरजने के डर से नींद से उठी मासूम, कमरे के पास जाकर देखा तो फंदे पर झूल रही थी मां
    +2और स्लाइड देखें
    पुलिस को जानकारी देती फैमिली।
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×