पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Patna News Woman Dies During Treatment At Pmch Commotion With Dead Body In Janipur Beaten Up To Daroga Admitted To Aiims

पीएमसीएच में इलाज के दौरान महिला की मौत, जानीपुर में शव के साथ किया हंगामा, दारोगा को पीटा, एम्स में भर्ती

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सिटी रिपोर्टर | फुलवारीशरीफ

मसौढ़ी की रहने वाली एक महिला की इलाज के दौरान मौत के बाद लोगों ने जानीपुर बाजार में जमकर हंगामा किया। इस दौरान उग्र लोगों ने एक दारोगा की भी पिटाई कर दी जिसके बाद उसे एम्स में भर्ती कराना पड़ा। हालांकि दारोगा कि हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। दरअसल मसौढ़ी के कराय चकिया के रहने वाले पांचों रविदास की 50 वर्षीय प|ी सीता देवी का जानीपुर के एक निजी नर्सिंग होम में एक महीना पहले बच्चेदानी का ऑपरेशन हुआ था। करीब पांच दिन पहले उसे पेट में दर्द की शिकायत के बाद पीएमसीएच में भर्ती कराया गया था। डॉक्टरों ने अल्ट्रासाउंड के बाद पाया कि उसके पेट में कैंची छूट गई हैं जिसके कारण उसे परेशानी हो रही है। इलाज चल ही रहा था कि बुधवार को उसकी मौत हो गई। इससे नाराज परिजनों ने जानीपुर में महिला के शव के साथ जमकर हंगामा शुरू कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस को भी लोगों के आक्रोश का सामना करना पड़ा। लोगों ने दारोगा पंचम कुमार की भी पिटाई कर दी। इस मामले में पुलिस ने कई लोगों को हिरासत में भी लिया था जिन्हें बाद में थाने से छोड़ दिया गया। थानेदार राजीव रंजन ने बताया कि किसी ओर से प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई थी।

एनएमसीएच में नवजात की मौत पर परिजनों का हंगामा

सिटी रिपोर्टर | पटना सिटी

एनएमसीएच के शिशु रोग विभाग के नीकू में भर्ती एक नवजात की मौत पर बुधवार को मरीज के परिजनों ने हंगामा किया। इसको लेकर नीकू के निकट कुछ देर तक अफरातफरी की स्थिति रही। अस्पताल में तैनात कई गार्ड व पुलिस भी पहुंच गई। लाेगों की भीड़ भी जुट गई। बाद में चिकित्सकों ने समझा बुझाकर मामला शांत कराया। बाद में परिजन नवजात के शव को ले गए। नवजात के परिजनों ने उपचार में कोताही बरतने का आरोप लगाया।

एनएमसीएच के शिशु रोग विभाग के विभागाध्यक्ष डाॅ विनोद कुमार सिंह ने कहा कि नवजात का इलाज किया गया। बचाने का हर संभव प्रयास किया गया। बच्चा काफी सीरियस था। इस कारण वह नहीं बच सका। इलाज में कोताही की बात बेबुनियाद है। बाद में शिशु रोग विभागाध्यक्ष डाॅ विनोद कुमार सिंह ने अपने चेंबर में नवजात के परिजनों को समझा बुझाकर मामला शांत कराया।

दो दिन पहले लाए थे प्रसव के लिए, सीजेरियन से हुआ था बच्चे का जन्म

दानापुर के रहने वाले रवि उपाध्याय ने बताया कि वह अपनी प|ी को प्रसव के लिए एनएमसीएच के गायनी में दो दिन पूर्व लाए। उसी दिन सीजेरियन से बच्चे का जन्म हुआ। सांस लेने में तकलीफ होने से डॉक्टर की सलाह पर बच्चे को नीकू में भर्ती कराया गया। मृतक नवजात के पिता रवि उपाध्याय की मानें तो बुधवार काे तड़के 4 बजे तक बच्चे के बारे में पूछे जाने पर चिकित्सक ने कहा कि बच्चा ठीक है। अचानक सुबह 7 बजे बताया गया कि बच्चा डेथ कर गया है। इसके बाद मरीज के परिजन नीकू के गेट पर हंगामा करते हुए इलाज में कोताही बरते जाने का आरोप लगाया।

खबरें और भी हैं...