नदियां उफान पर, वीरपुर में 41 फाटक खोले गए

Purnia News - भास्कर न्यूज| मधुबनी/सुपौल/अररिया/कटिहार नेपाल के तराई क्षेत्राें अाैर उत्तर बिहार में जारी बारिश से कमला,...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:50 AM IST
Purnia News - 41 ferries were opened in river birbhum on rivers
भास्कर न्यूज| मधुबनी/सुपौल/अररिया/कटिहार

नेपाल के तराई क्षेत्राें अाैर उत्तर बिहार में जारी बारिश से कमला, बागमती, गंडक, बूढ़ी गंडक अाैर काेसी नदियां उफान पर हैं। कमला के जलस्तर में भारी वृद्धि से मधुबनी के जयनगर में स्थिति भयावह हाे गई है। यहां कमला का तटबंध टूट गया। इसके कारण जयनगर बाजार की 90 प्रतिशत दुकानों में बाढ़ का पानी भर गया है। उधर, कोसी नदी का जलस्तर इस साल के सर्वाधिक स्तर पर है। नेपाल में भारी बारिश के कारण कोसी का डिस्चार्ज शनिवार को 3.71 लाख क्यूसेक को पार कर गया है। वीरपुर में कोसी बराज के 56 में से 41 फाटक खोल दिए गए हैं। तटबंध के भीतर के कई गांवों में बाढ़ का पानी पहुंच चुका है। निर्मली अनुमंडल में पांच हजार परिवारों के घरों में पानी घुस गया है। करीब 40 हजार लोग प्रभावित हैं। अररिया में परमान, बकरा, नूना, भलुआ आदि नदियों का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर है। बाढ़ के कारण जिला मुख्यालय से सिकटी और कुर्साकांटा का संपर्क टूट गया है। दो दिनों में डूबने से पांच की मौत हो गई है। कटिहार में गंगा के जलस्तर में लगातार वृद्वि हो रही है। मनिहारी के गांधी टोला से लेकर बाघमारा तक कटाव का खतरा बढ़ गया है। कटाव के कारण अबतक सैकडों एकड़ जमीन गंगा में विलीन हो चुकी है। उधर, पूर्णिया में परमान, कनकई, महानंदा में बाढ़ की स्थिति है। अमौर और बायसी प्रखंड के 20 हजार लोग इससे प्रभावित होते हैं। लोग घर छोड़कर ऊंचे स्थानों पर शरण ले रहे हैं।

कमला ब्रिज के ऊपर से 3 फीट पानी बह रहा है। यह पुल 1957 में बना था। 1987 के बाद इस पर पहली बार पानी चढ़ा है। पुल से आवागमन बंद है। पानी के दबाव से कभी भी ढह सकता है। फोटो : सुनील कुमार

कोसी बराज से 3.71 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा

मुरलीगंज में बरसाती नदी में डूबने से एक ही परिवार के तीन बच्चों की मौत

भास्कर न्यूज | मुरलीगंज

बरसाती नदी में डूबने से शनिवार शाम को एक ही परिवार के तीन बच्चों की मौत हो गई। यह हादसा मुरलीगंज थाना क्षेत्र के रजनी वार्ड नंबर 13 स्थित मंदिर टोला में हुआ। किसान बबलू यादव के तीन बच्चे एक अन्य बच्चे के साथ खेल रहा था। खेलते-खेलते सभी घर से करीब 300 मीटर दूर बरसाती नदी के समीप पहुंच गए। वहां बबलू के तीनों बच्चे प्रियांशु कुमारी (7 वर्ष) लव (4 वर्ष) व कुश (4 वर्ष) नदी में स्नान करने लगे। चौथा बच्चा वहां खड़ा रहा। देखते ही देखते तीनों बच्चे डूबने लगे। इसके बाद चौथा बच्चा वहां से भाग गया। गूंगा होने के के कारण वह किसी को कुछ भी बता नहीं पाया। जब कुछ देर तक बच्चे घर नहीं लौटे तो खोजबीन शुरू हुई। कुछ ग्रामीणों ने परिजनों को बरसाती नदी की ओर जाने की बात कही। इसके बाद परजिन वहां पहुंचे और तीनों की लाश बरामद हुई। मुरलीगंज सीओ शशिभूषण प्रसाद ने कहा कि पीड़ित परिवार को मुआवजा दिया जाएगा।

X
Purnia News - 41 ferries were opened in river birbhum on rivers
COMMENT