ये मत कहो आपको देश ने क्या दिया, सोचें अापने क्या दिया

Purnia News - ग्रामीण शिक्षा एवं लोक कलामंच तथा पर्यवेक्षण गृह पूर्णिया के संयुक्त तत्वावधान में गांधी सत्य अहिंसा के पुजारी...

Nov 21, 2019, 09:00 AM IST
Purnia News - do not say what the country gave you think what you gave
ग्रामीण शिक्षा एवं लोक कलामंच तथा पर्यवेक्षण गृह पूर्णिया के संयुक्त तत्वावधान में गांधी सत्य अहिंसा के पुजारी विषय पर परिचर्चा तथा बाल सुरक्षा अधिकार संरक्षण सप्ताह के तहत पुरस्कर वितरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम दो चरणों में संचालित हुआ। प्रधान दंडाधिकारी किशोर न्याय परिषद के श्री दिव्य प्रकाश, पर्यवेक्षण गृह के अधीक्षक गोपाल कुमार चौधरी, सीपीओ निराला, ग्रामीण शिक्षा लोक कलामंच के ई शशि रंजन कुमार, गोप गुट के अध्यक्ष अरविंद सिंह, शिक्षक विभाकर मिश्रा, सदस्य किशोर न्याय परिषद किरण देवी, लेखक डॉ अखिलेश जायसवाल ने संयुक्त रूप से गांधी जी के तैल चित्र पर दीप प्रज्ज्वलित कर दोनों सत्र की शुरूआत की।

बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए और परिवर्तन लाने के लिए 15 दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया जाएगा

प्रथम सत्र में बाल अधिकार संरक्षण सप्ताह मनाया :

प्रथम सत्र में बाल अधिकार संरक्षण सप्ताह प्रधान दंडाधिकारी किशोर न्याय परिषद की अध्यक्षता में आवासित किशोरों के बीच मनाया गया। जिसमें खेल के कई विधाओं मसलन कैरम, वॉलीबॉल, लूडो चित्रकला का आयोजन किया गया। प्रथम, द्वतीय, तृतीय आने वाले किशोरों को कार्यक्रम के अध्यक्ष के हाथों पुरस्कृत किया गया। पुरस्कार वितरण के बाद द्वितीय चरण में किशोरों के बीच गांधी सत्य अहिंसा के पुजारी विषय पर परिचर्चा की गई। जिसमें प्रधान दंडाधिकारी ने कहा कि जिस प्रकार गांधी जी अहिंसा के बल पर भारत को आजादी दिलाई वो तरीका अहिंसा की ताकत को मानस पटल पर रखने का तथा विश्व के समक्ष मार्ग को प्रशस्त किया। आप बच्चे भी अपने में एक परिवर्तन लाएं। इस तरह के कार्यक्रम के प्रयास के लिए ई शशि रंजन की सराहना की।

पर्यवेक्षण गृह में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते अतिथि

विश्व शांति दूत ने दिया संदेश

विश्व शांति का संदेश देने भारत भ्रमण पर निकले बेगूसराय जिले के शशिकांत ने शांति गीत प्रस्तुत कर किशोरों को सत्य अहिंसा के मार्ग पर चलने की बात कही। टोटल जीएस एक्सटेंसशन के निदेशक शिक्षक विभाकर मिश्रा ने बच्चों को बाल अधिकार से संबंधित जानकारी देते हुए पढ़ाई के महत्व को बताया और गांधी जी के सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चलने को कहा। गोप गुट के अध्यक्ष अरविंद कुमार सिंह ने कहा कि मैं एक शिक्षक रह चुका हूं बच्चे शिक्षकों के र| होते हैं। हम सबों की जिम्मेदारी है कि बच्चों को सकारात्मक दिशा की तरफ बढ़ने में सहयोग करें।

गांधी जी ने राजा सत्य हरिश्चंद्र नाटक देखकर अहिंसा का मार्ग चुना

वरिष्ठ रंगकर्मी तथा लेखक डॉ अखिलेश कुमार जायसवाल ने कहा कि पर्यवेक्षण गृह है आप बच्चे यहां इस परिचर्चा में गांधी के सत्य और अहिंसा का अवलोकन कर रहे हैं। गांधी ने बचपन में राजा सत्य हरिश्चंद्र नाटक देख कर सत्य को अपनाया और भारतीय दर्शन में गौतम बुद्ध और महावीर को देखकर अहिंसा को अपनाया और भारतीय जनता को सत्य अहिंसा का पाठ पढ़ाया। ये मत कहो कि आपको देश ने क्या दिया, अापने देश को क्या दिया ये ज्यादा जरूरी है...। छत्रपति शिवाजी महाराज फाउंडेशन के शिवाजी ने बच्चों से गांधी जी के संबंध में जानकरी ली और गीत संगीत सुना। कार्यक्रम के अंत में संस्थान के संस्थापक शशि रंजन कुमार ने सबों का धन्यवाद करते हुए कहा कि पर्यवेक्षण गृह में बच्चों के मानसिक और सकारात्मक विकास की दिशा में पहला प्रयास है जो सफल रहा। आगे बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए और परिवर्तन लाने के लिए 15 दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम के कोऑर्डिनेटर दीपक कुमार को सभी ने धन्यवाद दिया।

X
Purnia News - do not say what the country gave you think what you gave
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना