बेहतर रोजी-रोटी के लिए अंग्रेजी सीखें युवा

Purnia News - आज के रोजगार बाजार में अभ्यर्थियों के लिए स्पोकन इंग्लिश स्किल एक मापदंड बन गया है, भले ही आप की शैक्षणिक योग्यता...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:45 AM IST
Purnia News - learn english for better roses youth
आज के रोजगार बाजार में अभ्यर्थियों के लिए स्पोकन इंग्लिश स्किल एक मापदंड बन गया है, भले ही आप की शैक्षणिक योग्यता कितनी ही मजबूत क्यों न हो। इसके लिए छात्रों को चाहिए कि इस वंचित स्किल से लैस हों।

अब बहुराष्ट्रीय कंपनिया अच्छे कम्युनिकेशन स्किल वाले अभ्यर्थी को ही प्राथमिकता देती हैं। उक्त बातें देश के जाने-माने शिक्षाबिद एवं अंग्रेजी लेखक डॉक्टर बीरबल झा ने सेमिनार में कही। गुरूवार को वीवीआईटी में दिल्ली से आए डॉ झा सब हिमालयन रिसर्च इंस्टिट्यूट द्वारा आयोजित इंग्लिश फार युथ विषय पर ओपन सेमिनार को गुरुवार को सम्बोधित कर रहे थे। डॉ झा ने आगे कहा कि पहले अंग्रेजी को एक औपनिवेशिक भाषा के रूप में देखा जाता था और इसी आधार पर लोहिया विचारधारा के अंतर्गत इसका विरोध होता रहा। लेकिन आज की परिस्तिथि में बेहतर रोजी-रोटी के लिए बोलचाल की अंग्रेजी का ज्ञान होना अनिवार्य सा हो गया है। युवा पीढ़ी को चाहिए कि अर्थशात्र के मांग एवं पूर्ति सिद्धांत के अनरूप अपने आप को ढ़ालें एवं वक्त के तकाजा को समझें। ताकि अंतर्राष्ट्रीय बाजार की कसौटी पर खड़े उतरें। कॉन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्रीज की एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए भारत के पागमैन के रूप में ख्याति प्राप्त डॉ.बीरबल झा ने कहा कि दस साल में 50 प्रतिशत नौकरियां अपना बजूद खो दंेगी।

सेमिनार में बच्चों को संबोधित करते डॉ. बीरबाल झा।

X
Purnia News - learn english for better roses youth
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना