ट्वेंटीज की उम्र में मिलिनेयर्स से सीखें ये महत्वपूर्ण लेसंस

Purnia News - धिकांश लोगों की जिंदगी पर एक बात लागू होती है - उनकी जिंदगी के तीसरे दशक, यानी ट्वेंटीज की उम्र में लिए गए फैसले...

Jan 16, 2020, 09:40 AM IST
Vaisa News - learn these important lessons from millionaires at the age of twenty
धिकांश लोगों की जिंदगी पर एक बात लागू होती है - उनकी जिंदगी के तीसरे दशक, यानी ट्वेंटीज की उम्र में लिए गए फैसले उनके अागे के जीवन पर सबसे अधिक प्रभाव डालते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि जैसे-जैसे वे थर्टीज व फोर्टीज की ओर कदम बढ़ाते हैं, उनके लिए खुद को री-इनवेंट करना उतना ही मुश्किल होता जाता है। हालांकि दूसरी ओर यह भी सच है कि ट्वेंटीज में अधिकांश युवाओं को यह भी नहीं पता होता कि उन्हें लाइफ में कौनसे गोल्स सेट करने हैं और उन्हें पाने की प्लानिंग कैसे करनी है। रियल लाइफ से जुड़े ऐसे कई लेसंस हैं जो स्कूल या कॉलेज में नहीं, बल्कि अपने अनुभव से ही सीखने काे मिलते हैं। समस्या यह है कि जब तक ये अनुभव उन्हें मिलते हैं, वे खुद ट्वेंटीज को पार कर चुके होते हैं। विश्व के लीडिंग आंत्रप्रेन्योर ग्रुप, द ऑरेकल्स के कुछ मिलिनेयर मेंबर्स भी मानते हैं कि ऐसे कुछ लेसंस हैं जो उन्हें उनकी ट्वेंटीज में मालूम होने चाहिए थे। नेशनल यूथ डे के अवसर पर ये लेसंस अपनाकर आप इनके एक्सपीरिएंस का लाभ उठा सकते हैं-

बनें तो केवल अपने जैसा

द कैटरीना रूथ शो की फाउंडर व सीईओ, कैटरीना रूथ के अनुसार, “हम जैसे हैं, हमें वैसा ही हाेना चाहिए। जैसे हम हैं - न कि हमारा कोई फिल्टर्ड, एडिटेड, प्रोफेशनल वर्जन। क्योंकि अंत में होता यही है कि हम केवल खुद जैसा ही बनना चाहते हैं। हम चाहें तो इस बात को स्वीकार करने में समय लगा सकते हैं, लेकिन हमारे अंदर अपने और अपनी जिंदगी के मकसद के प्रति जो भावना है, वह वहीं रहने वाली है। समय गुजरने के साथ आपकी उम्र तो बढ़ती जाएगी, लेकिन यह भावना वहीं की वहीं रहेगी। अतः जितना जल्दी हो सके, इस दिशा में कदम उठाएं।”

पछतावा न हो कोई भी

बेस्टसेलिंग बुक लाइफ! बाय डिजाइन के ऑथर, टॉम फैरी मानते हैं कि हमें कभी भी अपनी चॉइसेज पर पछताना नहीं चाहिए। “मेरे लिए यह कहना बहुत ही आसान हो सकता है कि काश मैंने अपनी कंपनी जल्दी शुरू कर दी होती या अमेजन के शेयर्स के बारे में पहली बार सुनने पर ही उन्हें खरीद लिया होता या यूट्यूब पर स्विच करने की बजाए अपनी पॉडकास्ट ही जारी रखता, लेकिन आज मैं जो कुछ भी हूं, वह अपनी इन्हीं चाॅइसेज की वजह से हूं। मुझे उन पर गर्व है। न ही मैं अब पछतावा करता हूं और न ही भूतकाल से चिपका रहता हूं। अब मैं हमेशा अागे आने वाली चीजों पर ध्यान केंद्रित करता हूं।”

12 जनवरी को नेशनल यूथ डे के मौके पर...

न छोटा सोचें अौर न शिकायत करें

सीरियल आंत्रप्रेन्योर मैट मीड को लगता है कि ये दो बातें उन्हें बीस वर्ष की उम्र में पता होनी चाहिए थीं -



“हमें छोटा सोचना बंद कर देना चाहिए। हम जितना बड़ा सोच सकते हैं, उससे बीस गुना अधिक बड़ा हम अपने प्रोजेक्ट या कंपनी को बना सकते हैं। हमें यह नहीं सोचना चाहिए कि हमारे पास क्या चीज नहीं है, बल्कि हमें अपने गोल्स को पाने के लिए प्लानिंग करनी चाहिए।”

“हमें बहुत अधिक शिकायतें नहीं करनी चाहिए। कोई भी हमारी शिकायतें नहीं सुनना चाहता। कोई भी हमारे नुकसान, बुरी पार्टनरशिप्स आदि की परवाह नहीं करना चाहता। इसलिए बिना कोई शिकायत किए हमें अपने गोल्स की तरफ बढ़ते रहना चाहिए।”

फोकस करें लॉन्ग टर्म पर

क्लोजर्स डॉट काॅम के फाउंडर व सीईओ, डैन लॉक की सलाह है - आपको कमजोरियों की बजाए उन चीजों पर फोकस करना चाहिए जिनमें हम बेहतर हैं और जिन्हें हम एंजॉय करते हैं। “मैं अपनी अर्ली ट्वेंटीज में अपने मेंटर के लिए लगभग मुफ्त में काम करता था, लेकिन आज मैं उस समय को अपना मिलियन-डॉलर ईयर बुलाता हूं, क्योंकि मेरे सीखे गए लेसंस की वैल्यू उस समय इतनी ही थी। सक्सेस मेहनत व समय मांगती है। युवाओं के पास समय है। सवाल यह है कि क्या वे मेहनत करने के लिए तैयार हैं।”

अपने चैंपियन खुद बनें

लॉन्गेविटी एक्सपर्ट ड्वेन क्लार्क कहते हैं कि आपके पास एक यूनीक स्किल है जिससे दुनिया में कोई भी प्रतिस्पर्धा नहीं कर सकता। इसे आइडेंटिफाई कर इसमें मास्टरी हासिल करें। “हमें उन लोगों से नहीं डरना चाहिए जिन्होंने हमसे अच्छी एजुकेशन हासिल की है या जो हमसे कहीं अधिक सफल हैं। हम अपने चैंपियन खुद बनें और खुद को अच्छा महसूस करवाना न भूलें। जरूरी नहीं कि हमेशा फास्टेस्ट, स्मार्टटेस्ट व रिचेस्ट लोग ही रेस जीतें। कभी-कभी सहनशक्ति रखने वाला व्यक्ति भी विजेता बनता है।”

X
Vaisa News - learn these important lessons from millionaires at the age of twenty
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना