मिट्टी के स्वास्थ्य को टिकाऊ रखना बड़ी चुनौती

Purnia News - भारत सरकार कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के निर्देश पर भोला पासवान शास्त्री कृषि महाविद्यालय में देश के प्रथम...

Dec 04, 2019, 08:57 AM IST
भारत सरकार कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के निर्देश पर भोला पासवान शास्त्री कृषि महाविद्यालय में देश के प्रथम राष्ट्रपति देशर| डॉ.राजेन्द्र प्रसाद के जन्म दिवस को कृषि शिक्षा दिवस के रुप में मनाया गया। कृषि शिक्षा दिवस पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथि के रूप में अररिया के जिला शिक्षा पदाधिकारी वैद्यनाथ यादव के अलावा बिहार कृषि महाविद्यालय सबौर से अवकाश प्राप्त मुख्य कृषि वैज्ञानिक डॉ. पीके मजूमदार, महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ.पारस नाथ एवं राजा पृथ्वी चंद उच्च विद्यालय के शिक्षक और महाविद्यालय के वैज्ञानिकों ने भारतर| डॉ. राजेन्द्र प्रसाद के तैलचित्र पर पुष्प अर्पित करके उन्हे श्रद्धा सुमन अर्पित किया।

कार्यक्रम के दौरान प्राचार्य डॉ. नाथ ने बताया कि वर्तमान समय में कृषि के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती विश्व की बढ़ती हुई आबादी को सन्तुलित भोजन उपलब्ध कराना है। साथ ही मिट्टी के स्वास्थ्य को टिकाऊ रखना बड़ी चुुनौती है। मुख्य अतिथि के रूप में वैद्यनाथ यादव ने कहा कि देश के प्रथम राष्ट्रपति भारत र| डॉ. राजेन्द्र प्रसाद के जीवन पर चर्चा करते हुए बताया कि डॉ. राजेन्द्र प्रसाद भारत के ऐसे नागरिक एवं पुरोधा जिनकी सादगी, सेवा त्याग, देश भक्ति और स्वतन्त्रता आन्दोलन में उनके विशेष योगदान को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार ने वर्ष 1962 में देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत र| से सम्मानित किया था। डॉ. पीके मजूमदार ने कृषि शिक्षा की महत्ता पर चर्चा करते हुए बताया कि कृषि के क्षेत्र में रोजगार की अपार संभावनाएं हैं।

भाषण में सोनू भारती को पहला स्थान : कृषि शिक्षा दिवस पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इसमें प्रमुख रूप से भाषण प्रतियोगिता का विषय बढ़ता प्रदूषण एवं जैविक खेती था। इसमें कृषि महाविद्यालय के छात्र सोनू भारती को प्रथम स्थान, इंतकाब फिरोज को द्वितीय स्थान एवं शुभम कुमार को तृतीय स्थान हेतु तथा राजा पृथ्वी चंद उच्च विद्यालय से भाग लेने वाले प्रतिभागियों में फारूख सुल्तान को प्रथम स्थान, जाहन्वी जयसवाल को द्वितीय स्थान तथा सुप्र्रिया कुमारी को तृतीय स्थान हेतु निर्णायक मंडल द्वारा चयनित किया गया। चित्रकला प्रतियोगिता का विषय जैविक खेती जिसमें कुल 75 छात्र-छात्राओं ने भाग लिया। निबन्ध प्रतियोगिता का विषय जैविक खेती आधुनिक समय की माँग जिसमें कुल 105 छात्र- छात्राओं ने भाग लिया। कार्यक्रम में डॉ. जेएन श्रीवास्तव, डॉ. जनार्दन प्रसाद, डॉ. पंकज यादव, डॉ. अनिल कुमार, डॉ. जीएल चौधरी, जेपी प्रसाद आदि थे।

जयंती पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान उपस्थित कृषि वैज्ञानिक व अन्य।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना