मौलवियों ने कहा-मोहम्मद साहब सच्चे व आखिरी पैगंबर थे

Purnia News - पैगबंर मोहम्मद साहब की जयंती पर निकाले गए जुलुस में शामिल लोग। कसबा में पैगंबर मोहम्मद की जयंती पर निकाला जुलूस,...

Nov 11, 2019, 07:56 AM IST
पैगबंर मोहम्मद साहब की जयंती पर निकाले गए जुलुस में शामिल लोग।

कसबा में पैगंबर मोहम्मद की जयंती पर निकाला जुलूस, लोगों तक पहुंचाया उपदेश

भास्कर न्यूज | कसबा

प्रखंड क्षेत्र में पैगंबर मोहम्मद साहब की जयंती पर जुलूस ए मोहम्मदी की शक्ल में दोगच्छी गांव से सैंकड़ों की संख्या में मुस्लिम समुदाय के लोग मदरसा कलीमिया पहुंचे। वहां पहुंचकर इस्लामी परचम लहराया और फिर जुलूस ए मोहम्मदिया कसबा नगर पंचायत के विभिन्न चौक चौराहों से गुजरते हुए पुनः मदरसा कलीमिया पहुंचे। जुलूस ए मोहम्मदिया मदरसा कलीमिया पहुंचकर मुसलमानों के पैगंबर हजरत मोहम्मद सल्लल्लाहो अलैहेवसल्लम की पैदाइश की तारीख की बयान की गई। उनके उपदेशों को लोगों तक पहुंचाया। मदरसा पहुंचकर मदरसा के मौलवियों ने पैगंबर मोहम्मद साहब के बारे में कहा कि मोहम्मद साहब एक आखिरी और सच्चे पैगंबर थे। उन्होंने इस्लाम के धार्मिक कुरान में बताए गए उपदेशों को लोगों तक पहुंचाया और इस्लाम धर्म की वहीं से शुरुआत हुई।

अमन और शांति का प्रतीक है इस्लाम

इस्लाम को अमन और शांति का प्रतीक बताया। मदरसा कलीमिया में जुलूस के अंतिम समय के बाद जुलूस में आए लोगों को मोहम्मद साहब के जन्म दिवस के मौके पर खाना भी खिलाया गया। इस मौके पर कसबा प्रखंड के विभिन्न क्षेत्रों से सैकड़ों की संख्या में अलीम ओलमा सहित कसबा के नौजवान बूढ़े बच्चे इत्यादि शामिल थे। वहीं इस जुलूस में कसबा थाना के तैनात एसआई प्रकाश तांती, रामदेव पासवान अपने पुलिस बल के साथ मौजूद थे। इस मौके पर पूर्व नगर उपाध्यक्ष वर्तमान वार्ड पार्षद मो हसमत रही एवं दोगच्छी और कसबा के सैकड़ों कार्यकर्ता मदरसा कलिमिया के सेक्रेट्री मो आरिफ, मौलाना मसूद रजा, मो फैजी, नूर आलम, मो साबिर, मंजूर आलम, अहमद हुसैन, फईम, महमूद, मुन्ना, मंजर ने जुलूस का नेतृत्व किया।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना