जुलूस-ए-मोहम्मदी में अमन की दुआ, तिरंगे से देशभक्ति का संदेश

Purnia News - ईद-उल-मिलादुन्नवी पर रविवार को निकले जुलूस ए मोहम्मदी में तिरंगे को लहराता युवक। भास्कर न्यूज | पूर्णिया शहर...

Nov 11, 2019, 09:55 AM IST
ईद-उल-मिलादुन्नवी पर रविवार को निकले जुलूस ए मोहम्मदी में तिरंगे को लहराता युवक।

भास्कर न्यूज | पूर्णिया

शहर के विभिन्न क्षेत्रों से रविवार को इस्लाम धर्म के संस्थापक पैगंबर मोहम्मद साहब के जन्मदिन पर जश्न-ए-मिलादुन्नबी का भव्य जुलूस निकाला गया। इस मौके पर लोगों ने पैगंबर मोहम्मद की सीख को याद किया और उनकी राह पर चलने का संकल्प लिया।

जुलूस के माध्यम से लोगों ने पैगंबर मोहम्मद सल्लल्लाह अलेहे वसल्लम की जीवनी, उनके संदेशों का पालन करने का संदेश दिया। साथ ही साथ भाईचारा, प्यार, मोहम्मद को अपनाने, बुराइयों के खिलाफ आवाज उठाने, महिलाओं पर हो रहे जुल्म को रोकने, समाज में इज्जत दिलाने, लोगों को इंसानियत का पाठ पठाने का संदेश दिया। शहर में सिरत उन नबी कमेटी के द्वारा निकाले गए जुलूस का नेतृत्व काजी ए सीमांचल मुफ्ती जुबैर आलम सिद्धीकी ने किया। इस मौके पर अल्लाह के नबी के संदेश को लोगों के बीच बताया गया और उनके बताए मार्ग पर चलने की गुजारिश की गई। इस्लामिक कैलेंडर के तीसरे महीने रबी-उल-अव्वल के 12वें दिन ईद-ए-मिलाद-उन-नबी मनाया जाता है।

जुलूस रंगभूमि मैदान से निकलकर लाइन बाजार, गिरजा चौक, भट्‌ठा बाजार, झंडा चौक, लखन चौक, रजनी चौक से लाइन बाजार से गुजरते हुए रंगभूमि मैदान पहुंचा। रंगभूमि मैदान में सलात व सलाम के बाद इजतमायी दुआ की गई। रंगभूमि मैदान में जुलूस के समापन के बाद शांति के लिए देश और दुनिया में अमन और शांति की दुआ मांगी। जुलूस में माधो पाड़ा, लाइन बाजार, रानीपतरा, आगा टोल, कनेला, बरसौनी, लालगंज, मिल्की, विक्रम पट्‌टी, रहिकपुर कदगांवा, मनकोल, गुलाबबाग, खुश्कीबाग, सिटी चिमनी बाजार, मधुबनी मौलवी टोला, सिपाही टोला, सिरदरौली, रहमत नगर, मोहम्मद नगर, काझा, परोरा, कसबा, महबूब खां टोला,आजाद नगर, झुन्नी इस्ताम्बर, सबूतर, बनभाग सहित अन्य क्षेत्रों के लोग शामिल हुए थे।

रंगभूमि मैदान में काजी-ए-सीमांचल मुफ्ती जुबैर आलम ने दिया नबी का संदेश

रंगभूमि मैदान में अल्लाह के नबी का संदेश देते मौलाना।

ईद-उल-मिलाद पर निकले जुलूस-ए-मोहम्मदी में भारी संख्या में लोग शामिल हुए। इसमें काफी संख्या में बाइक सवार भी शामिल थे।

मांगी अमन और शांति की दुआ

रंगभूमि मैदान में जुलूस के नेतृत्वकर्ता मुफ्ती जुबैर आलम सिद्धीकी ने अपनी तकरीर में हजरत मोहम्मद साहब की सिरत व हदीस बयान किए। उन्होंने कहा कि पैगम्बर साहब ने शान्ति का पैगाम दिया है। इस्लाम मजहब दहशतगर्द नहीं हो सकता। भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है और सभी का मान-सम्मान संविधान में बराबर है। इसमें सिरत-उन नबी कमिटी सहित सुन्नी यूथ विंग के सदस्यों ने हिस्सा लिया। इस अवसर पर रंगभूमि मैदान का नजारा किसी मेले सा नजर आ रहा था।

जुलूस-ए-मोहम्मदी में शामिल बच्चे।

उमड़ा लोगों का जनसैलाब

ईद-उल-मिलाद पर निकले भव्य जुलूसे मोहम्मदी के दौरान शहर के सभी सड़कों पर मानो लग रहा था कि जनसैलाब उमड़ आया हो। क्या बच्चे क्या बूढ़े हर कोई आज इस पाक मौके पर जुलूस में शामिल होकर लोग अपनी खुशी का इजहार कर रहे थे।जुलूस में हाथ में तिरंगा लिए युवाओं का उत्साह देखने को बन रहा था। जुलूस में शामिल लोग तिरंगा लहराने के साथ-साथ भारत माता के जयकारा लगाते नजर आए। शहर के जिन-जिन रास्तों से यह जुलूस निकला। हर रास्ते में लोगों ने इसका भव्य स्वागत किया।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना