मां भगवती उग्रतारा के दरबार में लगाए गए 56 प्रकार के भोग

Saharsa News - मकर संक्रांति के अवसर पर बुधवार की शाम भगवती उग्रतारा को लगने वाली 56 प्रकार के भोग को देखने श्रृद्धालुओं की भीड़ उमड़...

Jan 16, 2020, 08:15 AM IST
Mahishi News - 56 types of enjoyment offered in the court of maa bhagwati ugratara
मकर संक्रांति के अवसर पर बुधवार की शाम भगवती उग्रतारा को लगने वाली 56 प्रकार के भोग को देखने श्रृद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी। पुजारियों द्वारा तैयार व्यंजन को मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए रखा गया।

प्राचीन काल से चली आ रही परम्परा के अनुसार भगवती उग्रतारा मंदिर में लगने वाले भोग कहने को तो छप्पन प्रकार के व्यंजन का जिक्र किया गया है, लेकिन इस बार इसकी संख्या 250 के आसपास पहुंच गयी। सिद्धपीठ भगवती उग्रतारा के संबंध में जानकारों का कहना है कि मकर संक्रांति को लगने वाला भोग भगवती को अन्नपूर्णा देवी के रुप में लगाया जाता है।

वेद में वर्णित 56 प्रकार के भोग को सर्वश्रेष्ठ उपाधि से उपस्थापित किया गया है, जबकि भगवान कृष्ण ने जब धौलागृह पर्वत को एक सप्ताह तक उठाए रखा था तब मथुरा के लोगों ने उनके 56 प्रकार के व्यंजनों का भोग लगाया था। छप्पन प्रकार के भोग को देखने एवं महाप्रसाद ग्रहण करने के लिए भक्तों की भीड़ मंदिर परिसर में शाम ढलते ही जुटने लगी। ग्रामीणों के सहयोग से पूजारियों द्वारा तैयार खिचड़ी सहित सामिष निरामिष व्यंजन का भोग चीनाचार पद्धति से चढ़ाया जाता है।

मकर संक्रांति के अवसर पर भगवती की महाप्रसाद ग्रहण करने के लिए सहरसा, सुपौल, मधेपुरा, खगड़िया, दरभंगा, मधुबनी, सीतामढी, समस्तीपुर आदि ग्रामीण क्षेत्र से लोग आते हैं।

देर रात तक अाराधना में जुटे रहे श्रद्धालु

भगवती मां उग्रतारा।

X
Mahishi News - 56 types of enjoyment offered in the court of maa bhagwati ugratara
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना