विज्ञापन

9 बैंकों के 344 मामलों का निष्पादन जिसमें सबंसे अधिक दाखिल-खारिज

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 05:01 AM IST

Saharsa News - लोक अदालत एक शैली है और समाज के अंतिम छोर के व्यक्ति को न्याय दिलाने का कार्य करती है। यह व्यवस्था हम सबों के जीवन...

Saharsa News - execution of 344 cases of 9 banks in which the maximum filing of nomination
  • comment
लोक अदालत एक शैली है और समाज के अंतिम छोर के व्यक्ति को न्याय दिलाने का कार्य करती है। यह व्यवस्था हम सबों के जीवन को चलाने के लिए आवश्यक है। हम सभी प्रतिबद्ध होकर अपने पदों के अनुरूप संवेदनशील होकर कार्य करें तो जन-जन के बीच अवश्य लाभ पहुंचेगी।

उक्त बातें शनिवार को जिला विधिक सेवा सदन में राष्ट्रीय लोक अदालत के उद‌्घाटन भाषण में जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह विधिक सेवा प्राधिकार के अध्यक्ष अजय नाथ झा ने कही। सभागार मंच पर उपस्थित विकास आयुक्त राजेश कुमार सिंह ने कहा कि अगर हम सभी सार्थक प्रयास करें तो न्यायालय से मुकदमा का बोझ घट जाएगा और लोगों को भी राहत मिलेगी।

इसके साथ ही अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रथम ने कहा कि लोक अदालत की सफलता में अधिवक्ताओं की अहम भूमिका है। इन्होंने स्टॉलों के निरीक्षण के क्रम में बैक व जनता के बीच खाई को पाटने का काम करें। ग्रामीण बैंक सुदूर ग्रामीण क्षेत्र के लोगों के साथ मिल बैठकर उनकी समस्याओं का समाधान करें।

410 दाखिल-खारिज के मामलों का हुआ निष्पादन

वर्ष के अंतिम राष्ट्रीय लोक अदालत का जिला एवं सत्र न्यायाधीश अजयनाथ झा,एडीजेएम प्रथम चन्द्र मोहन झा, डीडीसी राजेश कुमार सिंह, प्राधिकार के सचिव पुष्पम कुमार झा, बीएसएन के महाप्रबंधक राजीव कुमार एवं विधिक संघ के अध्यक्ष मनोज कुमार सिंह ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर उद‌्घाटन किया।

इस राष्ट्रीय लोक अदालत में महाप्रबंधक टेलकम राजीव कुमार ने कहा कि हम 25 लाख उपभोक्ता को जागरूक किया हैं। जिसका लाभ भारतीय संचार निगम को हो रहा है। वहीं विधिक संघ के अध्यक्ष मनोज कुमार सिंह ने कहा कि न्यायालय में बहुत दिनों से लंबित मामले रोग की तरह है। उनका इलाज अधिवक्ता एवं पत्रकारों के सहयोग से ही संभव हो सकता है। शनिवार को आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में 9 बैंकों ने भाग लिया। जिसमें कुल 344 मामले का निष्पादन हुआ। इनमें सबसे अधिक दाखिल-खारिज के 410 मामले का निष्पादन हुआ।

लोक अदालत के आयोजन में विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव पुष्पम कुमार झा की अहम भूमिका रही। सभी मौजूद न्यायिक पदाधिकारियों ने शिविर के सभी स्टॉलों का निरीक्षण किया और पदाधिकारियों को आवश्यक निर्देश भी दिया गया।

राष्ट्रीय लोक अदालत के शिवर में लगे स्टॉलों का निरीक्षण करते न्यायिक पदाधिकारी व डीडीसी।

X
Saharsa News - execution of 344 cases of 9 banks in which the maximum filing of nomination
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन