पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

उमंग का पर्व होली, सौहार्दपूर्ण वातावरण में मनाने का संकल्प

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

होली पर्व को लेकर शनिवार को रेनबो रिसॉर्ट में शशि सरोजनी रंगमंच सेवा संस्थान द्वारा आयोजित रंगोत्सव कार्यक्रम में रंगकर्मियों, कलाकारों होली नृत्य और गीत की आकर्षक प्रस्तुति दी। सहायक श्रमायुक्त, कोसी प्रमंडल आदित्य राजहंस ने कार्यक्रम का दीप प्रज्वलित कर उदघाटन करते कहा कि जीवन की अनेक कठिनाइयों से लड़कर आगे बढ़ने में ही होली का महत्व है।

उन्होंने होली को उमंग और भाईचारा का महापर्व बताते हुए इसे सौहार्दपूर्ण तरीके से मनाने का लोगों से अपील की। संस्थान के संरक्षक अधिवक्ता अशोक कुमार वर्मा ने कहा कि भारत की अन्य त्योहारों की तरह होली भी बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है। कवि डॉ. अरविन्द श्रीवास्तव ने कहा कि रंगों का उपयोग केवल खुशी के प्रतीक के रूप में किया जाना चाहिए।

विशिष्ट अतिथि श्रम पदाधिकारी पुनमलता सिन्हा ने कही कि यह त्योहार जाति, सम्प्रदाय, धर्म आदि के भेद को भुलाकर परस्पर प्रेम और सद्भाव का पर्व है। कार्यक्रम का अध्यक्षता संरक्षक रमण कुमार झा ने की। संस्थान सचिव वन्दन वर्मा के संचालन में गायक अजय वाडेकर, पुलिन्दर शर्मा, मुरारी द्वारा प्रस्तुत होली गीत लोगों को होली के रस में डूबो दिया। वही नाट्य निर्देशक कुन्दन वर्मा के नेतृत्व में संस्थान के रंगकर्मियों, कलाकारों, बच्चों में शामिल गगनदीप कुमार, आशीष किंग, अग्रिमा राज, प्रिया कुमारी, शालिनी सिंह, पूजा, सुहानी, तनवी, अदिति, सेजल, कृति, वैभवी, सारिका, सानिका, वाणी, अलिसा प्रिया, अंशू, रिया, लक्ष्य होली गीतों पर खूब झूमे। मौके पर पूनम पाठक, पूजा वर्मा, सिद्धि वर्मा, स्मिता कुमारी, निवेदिता कुमारी, कौशल यादव व अन्य मौजूद थे।

रेनबो रिसोर्ट में आयोजित रंगोत्सव कार्यक्रम में होली नृत्य प्रस्तुत करतीं संस्था से जुड़े कलाकार।
खबरें और भी हैं...