--Advertisement--

शहर में हंगामे के लिए एसडीपीओ जिम्मेदार, हो कार्रवाई : प्रो. चंद्रशेखर

Saharsa News - बीते 21 नवंबर को सीएम नीतीश कुमार का काफिला गुजरने के बाद हुए बवाल मामले की जांच के लिए राजद के प्रदेश कमेटी द्वारा...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 04:56 AM IST
Saharsa News - sdpo responsible for the disorder in the city be action pro chandrasekhar
बीते 21 नवंबर को सीएम नीतीश कुमार का काफिला गुजरने के बाद हुए बवाल मामले की जांच के लिए राजद के प्रदेश कमेटी द्वारा गठित जांच दल शुक्रवार को सुपौल पहुंची। जांच दल ने शहर के लाेहियानगर चौक पर कई दुकानदारों तथा चश्मदीदों से घटना की जानकारी ली। जिसके बाद जांच दल के संयोजक पूर्व मंत्री सह विधायक प्रो. चंद्रशेखर ने जिला अतिथि गृह में प्रेस वार्ता को संबोधित किया। इस क्रम में उन्होंने पूरी घटना के लिए सदर एसडीपीओ को जिम्मेदार ठहराया। विधायक ने कहा कि इस पूरे प्रकरण को राजद ने गंभीरता से लिया है, क्योंकि प्रशासन की ओर से दर्ज प्राथमिकी में भी छात्र एवं युवा राजद के कार्यकर्ताओं को बदनाम करने का प्रयास हुआ है।

वास्तव में एम्स के लिए छात्र राजद और युवा राजद के कार्यकर्ता सहित अन्य कुछ दलों के कार्यकर्ता व आम लोग शहर के लोहिया नगर चौक पर शांतिपूर्ण तरीके से विरोध जता रहे थे। हाथों में पोस्टर लिए लोग एम्स को कोसी के सहरसा से दरभंगा शिफ्ट किए जाने को लेकर सीएम का ध्यान आकृष्ट कराना चाहते थे। एसडीएम द्वारा भी कार्यकर्ताओं को सीएम से मुलाकात कराने के लिए जिला अतिथि गृह ले जाया गया, लेकिन भेंट नहीं हुई। इसके बाद काफिला गुजरने के करीब 10 मिनट पूर्व एसडीपीओ द्वारा शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे लोगों पर लाठीचार्ज किया गया, जो अनैतिक था।

लोहियानगर चौक के कई दुकानदारों व चश्मदीदों से ली घटना की जानकारी

जांच के बाद पत्रकारों को संबोधित करते प्रो. चंद्रशेखर व मौजूद अन्य।

राजद ने प्रो. चंद्रशेखर की अगुवाई में भेजी कमेटी

बवाल मामले की जांच के लिए राजद की प्रदेश कमेटी ने पूर्व मंत्री सह विधायक प्रो. चंद्रशेखर के नेतृत्व में जांच समिति का गठन किया है। जिसमें उनके अलावा पूर्व मंत्री सह विधायक डॉ. अब्दुल गफूर, पिपरा विधायक सह पार्टी जिलाध्यक्ष यदुवंश कुमार यादव, विधायक अनिल कुमार, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य सुरेश यादव, अतिपिछड़ा प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष रामनाथ मंडल व प्रदेश दलित प्रकोष्ठ के अशोक चौपाल शामिल हैं। चंद्रशेखर ने दावा किया कि साजिश के तहत प्रभारी छात्र राजद जिलाध्यक्ष विवेक यादव सहित अन्य कई लोगों को फंसाया गया है। जबकि पूरे हंगामे के लिए एसडीपीओ दोषी हैं। उन्होंने एसडीपीओ के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की। कहा कि जांच रिपोर्ट सहित आवश्यक साक्ष्य जांच दल ने जुटाया है, जो शीघ्र ही पार्टी के प्रदेश कार्यालय को सौंपा जाएगा। मौके पर कांग्रेस जिलाध्यक्ष प्रो. विमल कुमार यादव, युवा राजद के प्रदेश महासचिव अजय कुमार अजनबी सहित अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे।

कहा-शासन के दबाव में बनाई झूठा इंज्यूरी रिपोर्ट

विधायक ने कहा कि हंगामे के दौरान किसी भी पुलिस कर्मी से कोई झड़प नहीं हुई है। क्योंकि इस दौरान पुलिस कर्मी थे ही नहीं। अखबारों में प्रकाशित खबर और प्रत्यक्षदर्शियों से पूछताछ में ये बातें सामने आई हैं। लेकिन शासन के दबाव में एक महिला पुलिस कर्मी की झूठी इंज्यूरी रिपोर्ट तैयार की गई। महिला भगदड़ के दौरान खुद गिर कर घायल हुई थी। उन्होंने प्राथमिकी में भादवि की धारा 307 तथा 354 बी पर भी सवाल खड़े किए।

X
Saharsa News - sdpo responsible for the disorder in the city be action pro chandrasekhar
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..