शहर में रात में दवा खरीदनेे की सुविधा नहीं

Saharsa News - कोसी प्रमंडलीय मुख्यालय सहरसा में रात के समय दवा की कोई दुकान नहीं खुली रहने से आपात स्थिति में मरीजों के परिजनों...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 09:16 AM IST
Saharsa News - there is no facility to buy medicines in the city at night
कोसी प्रमंडलीय मुख्यालय सहरसा में रात के समय दवा की कोई दुकान नहीं खुली रहने से आपात स्थिति में मरीजों के परिजनों को दवा लेने के लिए इधर-उधर भटकना पड़ता है। खासकर पेट दर्द और बुखार इत्यादि सामान्य बीमारी जिसके लिए आम आदमी डाॅक्टर के पास जाने के बजाए दवा खाकर अपनी बीमारी से निजात पाना चाहते हैं। रात के 9-10 बजे के बाद सुबह 9 बजे तक उसे शहर में दवा नहीं मिलती।

हालांकि गंभीर रोगों के मरीजों को जो किसी बड़े नर्सिंग होम में भर्ती होते हैं। उन्हें क्लीनिक परिसर में संचालित दवा दुकान से दवा मिल जाती है पर शहर के आम मरीजों के लिए रात के वक्त दवा की कोई सुविधा उपलब्ध नहीं होती है। हालांकि इस मामले में केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष राघव कुमार सिंह ने बताया कि 17 साल तक उन्होंने शहरवासियों को रात्रिकालीन दवा की सेवा दी थी, लेकिन अब समय बदल चुका है। शहर के करीब-करीब सभी नर्सिंग होम में दवा दुकान खुल चुकी है।

वहीं गिरती हुई कानून व्यवस्था को लेकर रात के वक्त अकेले दवा दुकान खोलना खतरे से खाली नहीं है। हालांकि ग्रामीण इलाकों में एक दूसरे जान पहचान रहने और घर के सामने ही दवा दुकान होने की वजह से उन्हें दवा मिल जाती है पर जिला मुख्यालय में मरीजों को यह सुविधा नहीं मिलती है।

दवा की दुकान।

1200 दवा दुकानें हैं संचालित

जिले में तकरीबन 1200 दवा की थोक और खुदरा दुकानें हैं। इसमें सैकड़ों थोक एवं खुदरा दवा दुकान मात्र शहर में संचालित हैं। जबकि गांव-देहातों में इससे भी ज्यादा गैर लाइसेंसी दवा दुकान चल रहे हैं।

केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसो. के साथ बैठक कर लेंगे निर्णय

जल्दी ही केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के साथ बैठक कर शहर में रात में दवा दुकान संचालित कराया जाएगा। डाॅ. ललन कुमार सिंह, सिविल सर्जन

X
Saharsa News - there is no facility to buy medicines in the city at night
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना