--Advertisement--

नाजिरपुर के 200 परिवारों में नहीं मनेगा छठ पर्व, चारों टोलों में गूंज रही चीत्कार

अवनि मिश्रा बबलू |उजियारपुर थाना के नाजिरपुर गांव के मइया पोखर में शुक्रवार को मिट्टी काट रहे 15 ग्रामीण में 4 की...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 05:06 AM IST
Ujiyarpur - chhath festivals of manega 200 odd families of najirpur echoing in four tolls
अवनि मिश्रा बबलू |उजियारपुर

थाना के नाजिरपुर गांव के मइया पोखर में शुक्रवार को मिट्टी काट रहे 15 ग्रामीण में 4 की मौत तथा 11 घायल होने से गांव में मातमी सन्नाटा छाया हुआ है। आस्था का महापर्व छठ के उत्साहित माहौल मौत के मातम में दब कर रह गया। घटना के दूसरे दिन भी गांव ठहरा सा दिखा। पीड़ित परिजनों के साथ अन्य ग्रामीण भी कारुणिक स्थिति में थे। गांव से लेकर चौक-चौराहे तक बस मिट्टी काटने के दौरान हुए हादसे की कहानी सुनने को मिल रही है। नाजिरपुर गांव के अलग-अलग मोहल्ले के 4 लोगों की छठ पर्व के लिए मिट्टी काटने के दौरान हुई मौत से गांव के करीब 200 परिवार में महापर्व छठ प्रभावित हो गया है। इस हादसे में पर्व की परेशानी से लोग परेशान हो रहे हैं। मान्यता के मुताबिक मृतक के खानदान से जुड़े खानदान के सभी परिवारों में भी श्राद्धकर्म तक कोई पूजा पाठ या पर्व त्योहार नहीं मनाया जाता है। हादसा में तीन जातियों के चार लोगों की मौत हुई है। लोग अभी से ही अपने सगा-संबंधी व गांव के अन्य लोगों से छठ कराएंगे।

तीन बेटा और एक बेटी के भरण पोषण की सता रही चिंता

गांव के अलग-अलग टोले के रहने वाले में चारों मृतक के परिजनों की चीत्कार से लोगों का मन व्याकुल हो रहा था। मृतक रुणा देवी के पति बाहर कमाते थे। वह अपने 5 लड़की तथा एक लड़का को घर पर मजदूरी कर पाल रही थी। मृतक मजदूर लालो पासवान की प|ी कालो देवी का रोते रोते आलम यह है कि अब वह रो भी नहीं पा रही है। कहती है अपने तीन बेटा और एक बेटी का भरन पोषण करेगी कैसे। मृतक छात्र अमित कुमार के पिता गांव में ही राजमिस्त्री का कार्य करते हैं। मृतका राजकुमारी देवी के परिवार में भी मातम छाया हुआ है। पीड़ित परिवार के सगा संबंधियों का आना-जाना जानकारी पाने के बाद से बना हुआ है।

अमित को दादा ने दी मुखाग्नि

शुक्रवार हो ही चारों मृतक का शव पोस्टमार्टम के बाद घर आ गया। मृतक अमित कुमार, लालो पासवान तथा रुणा देवी का दाहसंस्कार शव आने के बाद कर दिया गया। जबकि मृतिका राजकुमारी देवी का दाहसंस्कार कुछ परिजनों के इंतजार के कारण शनिवार को किया गया। अमित कुमार को उसके दादा गनौर दास, लालो पासवान को उसका लड़का कुन्दन कुमार, राजकुमारी देवी को उसके पुत्र अमित कुमार व रुणा देवी को भी उसके पुत्र ने मुखाग्नि दी।

मृतक रुणा देवी के शोकाकुल परिजन।

मृतक लालो पासवान का शोकाकुल परिवार।

नाजिरपुर में चलाया अभियान, मुखिया ने लगाया पोखरा से मिट्टी काटने पर प्रतिबंध

उजियारपुर | प्रखंड के नाजिरपुर गांव में हादसों से बचाव के लिए गांव के ही प्रबुद्ध लोगों की एक टीम शनिवार को गांव के विभिन्न मोहल्ले में जागरूकता अभियान चलाया। टीम के लोगों ने गांव के विभिन्न मोहल्लों में घूम-घूम कर मिट्टी काटने के दौरान हुई हादसे में मौत जैसी घटना से बचने के लिए लोगों को नसीहत दिया। लोगों व बच्चों को सही ढंग से मिट्टी काटने, पर्व के दौरान व अन्य समय में भी गहरे पानी में असुरक्षित ढंग से बचने आदि की सलाह दी गई। टीम में शामिल डॉ. मुकेश कुमार राय, पूर्व मुखिया हरिवल्लभ प्रसाद, मनोज कुमार, गोपाल साह, सुरेंद्र दास, अखिलेश राय, भोला राम आदि लोगों ने गांव के ही हाट समीप पोखरा के आसपास के लोगों को समझाया कि बेतरतीब तंग से मिट्टी नहीं काटे। इस पोखरा के मिट्टी काटने से स्वास्थ्य विभाग के पुराना भवन भी गिरने के कगार पर है। इधर, नाजिरपुर पंचायत के मुखिया विजय झा ने पोखरा का मिट्टी काटने पर पाबंदी लगा दी है।

मृतक अमित कुमार की दहाड़ मारकर रोती मां व परिजन।

गांव-गांव में मिट्टी काटकर लोगों ने बना दिया है होल

उजियारपुर | प्रखंड के विभिन्न गांवों में मिट्टी काटकर लोगों ने होल बना दिया है। बरसात के बाद घरों को चिकना करने के किए बढ़िया किस्म के काला या उजला मिट्टी के लिए लोग एक ही स्थान पर अंदर तक मिट्टी काटकर होल बना देता है। छठ पर्व के दौरान चूल्हा बनाने या अन्य कार्यों में उपयोग के लिए मिट्टी की अच्छी-खासा जरूरत पड़ती है। पिछले वर्ष भी नाजिरपुर गांव में मिट्टी काटने के दौरान मिट्टी का उपड़ी परत धंसा था। गनीमत रही कि इसकी चपेट में कोई नहीं आया। इसी तरह मिट्टी धंसने की घटना गावपुर, बेलारी सहित अन्य गांवों में पूर्व में हो चुका है।

अस्पताल पहुंचे पूर्व मंत्री, जाना हाल

समस्तीपुर | नाजिरपुर में मिट्‌टी काटने के दौरान घायल लोगों की हाल लेने देर रात पूर्व मंत्री सह राजद के प्रधान महासचिव सदर अस्पताल पहुंचे। घायलों के बेेहतर इलाज को लेकर डीएम व सीएस से बात की। इस दौरान उन्होंने कहा कि पीड़ितों को और सुविधा मुहैया कराई जाएगी। इससे पूर्व प्रधान महासचिव मृतकों के गांव भी पहुंचे। जहां मृतक के परिजनों से मिलकर सांत्वना दी।

Ujiyarpur - chhath festivals of manega 200 odd families of najirpur echoing in four tolls
Ujiyarpur - chhath festivals of manega 200 odd families of najirpur echoing in four tolls
X
Ujiyarpur - chhath festivals of manega 200 odd families of najirpur echoing in four tolls
Ujiyarpur - chhath festivals of manega 200 odd families of najirpur echoing in four tolls
Ujiyarpur - chhath festivals of manega 200 odd families of najirpur echoing in four tolls
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..