• Hindi News
  • National
  • Khanpur News Children39s Talent And Enthusiasm For Children At The Children39s Conference

बाल संसद गोष्ठी में बच्चों की प्रतिभा व जज्बा देख अधिकारियों ने की सराहना

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय खतुआहा के प्रांगण में गुरुवार को प्रखंड के 46 मध्य विद्यालयों के बाल संसद के प्रधानमंत्री व संयोजक शिक्षक का एक दिवसीय उन्मुखी कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन जिला पार्षद स्वर्णिमा सिंह, बीडीओ प्रिया कुमारी, सीओ मो.रेयाज शाहिद, बीईओ अनिल कुमार ठाकुर, आनंदशाला के जिला कार्यक्रम पदाधिकारी प्रभात कुमार ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता एचएम मनमोहन चौधरी ने की। संचालन शिक्षक लालबाबू ने किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिला पार्षद स्वर्णिमा सिंह ने कहा कि बाल संसद के गठन से बच्चों में निखार आती है। उन्होंने कहा कि आज के बच्चे कल के भविष्य हैं। उन्होंने शिक्षकों एवं अभिभावकों से बच्चों के निखरने का पूरा अवसर देने की अपील की। बीडीओ प्रिया कुमारी ने कहा कि विद्यालय के विकास में बाल संसद की भूमिका अहम है। इससे बच्चों के नेतृत्व क्षमता व उनके अभिव्यक्ति के विकास को बल मिलता है। उन्होंने विद्यालय की व्यवस्था व संचालन में बाल संसद के सहयोग से विद्यालय के सर्वांगीण विकास में बाल संसद के सभी सदस्यों को अपने दायित्व व कर्तव्यों के प्रति ईमानदारी से पालन करने की जरूरत बताई। बीईओ ने कहा कि बाल संसद का उद्देश्य खुद के नेतृत्व क्षमता को बढ़ाना व अपने मंजिल को पाना है।

प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय खतुआहा के प्रांगण में कार्यशाला का आयोजन
खानपुर के मवि खतुआहा में बाल संसद कार्यक्रम में मौजूद बच्चे। कार्यक्रम को संबोधित करते बीडीओ।

भास्कर न्यूज|खानपुर

प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय खतुआहा के प्रांगण में गुरुवार को प्रखंड के 46 मध्य विद्यालयों के बाल संसद के प्रधानमंत्री व संयोजक शिक्षक का एक दिवसीय उन्मुखी कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन जिला पार्षद स्वर्णिमा सिंह, बीडीओ प्रिया कुमारी, सीओ मो.रेयाज शाहिद, बीईओ अनिल कुमार ठाकुर, आनंदशाला के जिला कार्यक्रम पदाधिकारी प्रभात कुमार ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता एचएम मनमोहन चौधरी ने की। संचालन शिक्षक लालबाबू ने किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिला पार्षद स्वर्णिमा सिंह ने कहा कि बाल संसद के गठन से बच्चों में निखार आती है। उन्होंने कहा कि आज के बच्चे कल के भविष्य हैं। उन्होंने शिक्षकों एवं अभिभावकों से बच्चों के निखरने का पूरा अवसर देने की अपील की। बीडीओ प्रिया कुमारी ने कहा कि विद्यालय के विकास में बाल संसद की भूमिका अहम है। इससे बच्चों के नेतृत्व क्षमता व उनके अभिव्यक्ति के विकास को बल मिलता है। उन्होंने विद्यालय की व्यवस्था व संचालन में बाल संसद के सहयोग से विद्यालय के सर्वांगीण विकास में बाल संसद के सभी सदस्यों को अपने दायित्व व कर्तव्यों के प्रति ईमानदारी से पालन करने की जरूरत बताई। बीईओ ने कहा कि बाल संसद का उद्देश्य खुद के नेतृत्व क्षमता को बढ़ाना व अपने मंजिल को पाना है।

प्रथम सत्र में बच्चों ने विद्यालय की व्यवस्था पर की चर्चा
कार्यक्रम के प्रथम सत्र में आनंदशाला में 46 मध्य विद्यालय व 10 इनोवेशन स्कूल के बाल संसद से पहुंचे प्रधानमंत्री, सभी मंत्री व प्रधानाध्यापक ने अपने अपने विद्यालय की व्यवस्था व शिक्षा में बढ़ावा देने के लिए किए कार्यों की जानकारी दी।

बच्चों के प्रदर्शन से अभिभूत हुए अधिकारी
बाल संसद के बच्चों ने मंच पर विद्यालय की व्यवस्था को एक नाटक के साथ मंचन किया। साथ ही बच्चों के उज्ज्वल भविष्य की कामना की। मौके पर अंजू प्रिया, रंजय सिन्हा, अनन्या, नूपुर, अजीम,रजनीश, नितेश कुमार, प्रखंड साधन सेवी श्याम कुमार पांडेय, राजीव कुमार झा, रिटायर्ड शिक्षक मिथलेश झा, आमोद कुमार, शैलेन्द्र कुमार झा, डॉ गंगा प्रसाद आजाद सतमलपुरी, फूल हसन आदि थे।

खबरें और भी हैं...