शिक्षक नियोजन के लिए आवेदन प्रकिया शुरू

Sasaram News - जिले के प्रारंभिक विद्यालयों में शिक्षकों के नियोजन के लिए आवेदन की प्रकिया 18 सितम्बर से शुरू हो गया। सरकारी...

Bhaskar News Network

Sep 19, 2019, 11:35 AM IST
Sasaram News - application process for teacher planning started
जिले के प्रारंभिक विद्यालयों में शिक्षकों के नियोजन के लिए आवेदन की प्रकिया 18 सितम्बर से शुरू हो गया। सरकारी विद्यालयों में कक्षा एक से पांच (प्राथमिक) अथवा कक्षा छह से आठ (मध्य विद्यालय)में शिक्षक बनने की चाह रखने वाले अभ्यर्थी 17 अक्तूबर तक आवेदन जमा कर सकते हैं। नियोजन के लिए शिक्षा विभाग द्वारा जारी अधिसूचना के मुताबिक मेधा सूची की तैयारी 18 अक्तूबर से 4 नवम्बर तक, और इसका नियोजन समिति द्वारा अनुमोदन 10 नवम्बर तक होगा। 14 नवम्बर को मेधा सूची प्रकाशित की जाएगी और इसपर आपत्ति 15 से 29 नवम्बर तक की जा सकेगी। 7 दिसम्बर को अंतिम मेधा सूची का प्रकाशन होगा। जिला द्वारा पंचायत और प्रखंड की मेधा सूची के अनुमोदन के बाद नियोजन इकाइयों द्वारा इसका सार्वजनीकरण 4 जनवरी 2020 को होगा। 6 जनवरी से 13 जनवरी के बीच प्रमाण पत्रों का मिलान एवं चयन सूची बनेगी। 16 से 20 जनवरी तक नियोजन इकाइयां नियुक्ति पत्र बांटेंगी। प्राथमिक शिक्षा निदेशक डॉ. रणजीत कुमार सिंह ने सभी डीईओ को पत्र भेजकर साफ किया है कि आवेदन पत्र जमा करने की अंतिम तिथि तक अभ्यर्थी के लिए शैक्षणिक, प्रशैक्षणिक शिक्षा उत्तीर्ण होना आवश्यक है। नियोजन में संशोधन को लेकर निदेशक द्वारा जारी अधिसूचना के मुताबिक केन्द्रीय सीटीईटी (सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट) के लिए न्यूनतम 60 फीसदी अंक लाने वाले अभ्यर्थी ही उत्तीर्ण घोषित किये जाते हैं। पर यह प्रावधान है कि राज्य सरकार अपने आरक्षण नीति के अनुरूप न्यूनतम निर्धारित अंक को आरक्षित कोटे के अभ्यर्थियों के लिए आवश्यकतानुसार कम कर सकती है। डीईओ प्रेमचंद ने बताया कि इसके तहत वर्ष 2012 में बिहार टीईटी में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, महिला एवं दिव्यांग कोटि के उम्मीदवारों के लिए 55 फीसदी अंक लना अनिवार्य किया गया था। पूर्व के निर्णय के अनुरूप ही वर्ष 2019-20 में यह छूट सीटीईटी उत्तीर्ण उक्त कोटि के अभ्यर्थियों पर भी लागू होगी।

आंगनबाड़ी: अभ्यास पुस्तिका में नन्हे-मुन्ने भरेंगे कल्पना के रंग

सिटी रिपोर्टर|सासाराम

आंगनबाड़ी केंद्रों पर बच्चों को अभ्यास पुस्तिका दी जाएगी। समाज कल्याण विभाग ने आंगनबाड़ी केंद्रों पर आने वाले बच्चों के मानसिक एवं भावनात्मक विकास को लेकर अभ्यास पुस्तिका देने का निर्णय लिया है। बच्चों को पोषाहार के साथ ही अभ्यास पुस्तिका के माध्यम से मानसिक विकास में मदद मिलेगी। इस अभ्यास पुस्तिका में बच्चे रंग भरेंगे। इससे कविता पाठ भी करेंगे। आंगनबाड़ी केंद्रों पर बच्चों को प्ले स्कूल की सुविधाएं उपलब्ध करायी जाएंगी। विभागीय सूत्रों ने बताया कि पहली बार आंगनबाड़ी केंद्रों के बच्चों के लिए अभ्यास पुस्तिका तैयार करायी गयी है। इन्हें तीन से छह वर्ष के बच्चों के बीच वितरित किया जाएगा। इनके लिए अलग-अलग 12 विषय तैयार कराये गये हैं। आंगनबाड़ी केंद्रों पर आने वाले बच्चों के मानसिक एवं भावनात्मक विकास के लिए 2013 में केंद्र सरकार ने नीति बनायी थी। इस नीति के आधार पर ही अभ्यास पुस्तिका को तैयार किया गया है।

X
Sasaram News - application process for teacher planning started
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना