• Hindi News
  • Bihar
  • Sasaram
  • Dehri News ganinath college39s recognition canceled girl students are not benefited from the scheme

गणिनाथ कॉलेज की मान्यता रद्द, छात्राओं को योजना का लाभ नहीं

Sasaram News - जमुहार स्थित बाबा गणिनाथ महाविद्यालय की स्नातक उत्तीर्ण छात्राएं परेशान हैं। वर्ष 2019 में इस कॉलेज से उतीर्ण...

Feb 15, 2020, 07:30 AM IST
Dehri News - ganinath college39s recognition canceled girl students are not benefited from the scheme

जमुहार स्थित बाबा गणिनाथ महाविद्यालय की स्नातक उत्तीर्ण छात्राएं परेशान हैं। वर्ष 2019 में इस कॉलेज से उतीर्ण करीब 300 से अधिक छात्राएं मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना का लाभ लेने से वंचित हैं। कारण मान्यता रद्द होने के बाद इस महाविद्यालय का नाम संबंधित पोर्टल पर नहीं है। नतीजा छात्राएं लाभ के लिए आवश्यक आवेदन नहीं भर पा रही हैं। कॉलेज की छात्रा डेहरी निवासी महिमा कुमारी इस मामले को लेकर लोक शिकायत निवारण में गत 06 जनवरी को परिवाद लेकर गयीं। मामले में विभागीय लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी का कार्यालय, विभाग-शिक्षा विभाग द्वारा 05 फरवरी को फैसला आया है।

महिमा स्नातक की परीक्षा 2019 में इस महाविद्यालय से उत्तीर्ण की। मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना के लिए जब ऑनलाइन आवेदन करना चाही तो पोर्टल पर महाविद्यालय का नाम न होने के कारण फॉर्म नहीं भर सकी। लोक प्राधिकार प्रभारी पदाधिकारी, कन्या उत्थान योजना, शिक्षा विभाग को नोटिस निर्गत किया गया, परंतु प्रतिवेदन अप्राप्त रहा। परिवाद का निवारण लोक प्राधिकारी प्रभारी पदाधिकारी, कन्या उत्थान योजना, शिक्षा विभाग के स्तर से संभव है। अत: प्राधिकार ने उन्हें निर्देश दिया है कि एक पखवाड़ा के अंदर नियमानुकूल कार्रवाई की जाए। विनिश्चय पारित करते हुए इस वाद का निष्पादन कर दिया गया और सभी संबंधित को सूचना दी गयी। किन्तु इससे महिमा या उसके साथ उत्तीर्ण करीब 300 छात्राओं को इस योजना का लाभ अभी मिलना शुरू नहीं हो सका है। कोई रास्ता नहीं निकला है कि वे लाभ के लिए आवेदन कब से कर सकेंगी?

यूनिवर्सिटी ने रद्द की है मान्यता

वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय द्वारा पिछले दिनों अपने कुछ कॉलेजों की मान्यता को रद्द करने की घोषणा की थी। जिसमें गणिनाथ महाविद्यालय भी शामिल था। मान्यता नहीं होने के कारण कॉलेज में नए सत्र के लिए एडमिशन पर भी रोक लगा दी गई थी। बताया गया कि कॉलेज के संचालन में कई प्रकार की गड़बड़ियां पाई गई थीं। जिसमें अभी जांच चलने की बात कही जा रही है। जांच पूरी होने के बाद ही कॉलेज की मान्यता मिलने की संभावना है। बहरहाल, कॉलेज और विश्वविद्यालय की आपसी खिंचतान में कॉलेज में पढ़नेवाली सैंकड़ों छात्राओं को योजना से वंचित होना पड़ा है।

योजना से है 25,000 का लाभ

मुख्य मंत्री कन्या उत्थान योजना के तहत स्नातक उत्तीर्ण छात्रा 25,000 रुपए की सहायता प्राप्त करने की पात्र हो जाती है। इस राशि को 25 अप्रैल 2018 को या उसके बाद राज्य के कॉलेजों से स्नातक उतीर्ण हर लड़की को एकमुश्त भुगतान दिया जाएगा। पास डिवीजन, वैवाहिक स्थिति, जाति, समुदाय या धर्म का बंधन नहीं है। लाभ के लिए लड़की को स्नातक की मार्क शीट जमा करनी होती है।

समस्या की वजह क्या रही

इस समस्या के मूल में कॉलेज की मान्यता वीर कुवंर सिंह विश्व विद्यालय द्वारा रद्द किया जाना है। प्राचार्य ने बताया कि जिस सत्र 2018-19 की छात्राओं को इस समस्या का सामना करना पड़ रहा है, उनके सत्र तक कॉलेज की मान्यता तो थी ही। उन्होंने नामांकन लिया, परीक्षा दिया, उत्तीर्ण हुए, उनको प्रमाण पत्र मिला, फिर उनको लाभ लेने से वंचित कैसे किया जा सकता है? प्राचार्य के अनुसार 2019 में नामांकन नहीं हुआ। तब वीर कुवंर सिंह विवि के कई कॉलेजों में नामांकन नहीं हुआ था। जब तक समस्या का निदान होता, तब तक नामांकन का वक्त ख़त्म हो गया था।

प्राचार्य बोले-विश्वविद्यालय के स्तर से प्रयासरत हैं

महाविद्यालय के प्राचार्य रामेश्वर प्रसाद ने इस संबंध में बताया कि वे विश्व विद्यालय के स्तर से प्रयासरत हैं कि शीघ्र ही इस समस्या का समाधान हो सके। बताया कि विवि के वीसी और रजिस्ट्रार से बात किया किन्तु उनका जवाब संतोषजनक नहीं है। बताया कि राज्य सरकार के भी सक्षम पदाधिकारियों से बातचीत की कोशिश में हैं किन्तु सफलता नहीं मिल रही। इनके अनुसार ही 300 से अधिक छात्रा इस समस्या से जूझ रही हैं।

गणिनाथ कॉलेज से 2019 में किया था स्नातक

गणिनाथ महाविद्यालय।

X
Dehri News - ganinath college39s recognition canceled girl students are not benefited from the scheme

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना